Jani Het Profile picture
Sanatani | Brahmin | Medical Student | Techie | Mountaineer | traveller | state champion | Photographer |
14 Apr
अम्बेडकर के बारे में फैलाये गये मिथक और उनकी सच्चाई ?
#मुर्ख_दिवस
#BlackDay
▪️1-मिथक-अंबेडकर बहुत मेधावी थे।
सच्चाई - अंबेडकर ने अपनी सारी शैक्षणिक डिग्रीयां तीसरी श्रेणी में पास की। मैट्रिक परीक्षा में बाबासाहेब अंबेडकर ने कुल 750 अंकों में से 282 अंक हासिल किए।
▪️2-मिथक- अंबेडकर ने शूद्रों को पढ़ने का अधिकार दिया !
सच्चाई -अंबेडकर के पिता जी खुद उस ज़माने में आर्मी में सूबेदार मेजर थे!उन्होंने पुणे में आर्मी स्कूल से अपना "डिप्लोमा इन एजुकेशन" प्राप्त किया।
Read 21 tweets
8 Apr
क्या आप जानते हैं कि आतंकवाद और आरक्षण प्रणाली में क्या अंतर है?
अंतर यह है कि आतंकवाद हत्या का समर्थन करता है, यह हिंसा पैदा करता है। जबकि आरक्षण प्रणाली एक "silent killer " है।
#Reservation_is_terrorism
अब देखते हैं कि आरक्षण देश को कैसे प्रभावित करता है। अधिकांश मामलों में आरक्षण खेल में आता है जैसे ही बच्चा अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करता है और आगे की पढ़ाई के लिए संस्थानों की तलाश करता है। तब उसे पता चला कि यह केवल ग्रेड नहीं है,
लेकिन कुछ अन्य कारक भी हैं जो महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाते हैं, ये quotas हैं। फिर क्या हुआ कि अधिकांश योग्य लोगों को कॉलेजों में प्रवेश नहीं मिलेगा। दो विकल्प होते हैं पहला, अध्ययन के लिए विदेश जाना और दूसरा, उन उपलब्ध विकल्पों में अध्ययन करना।
Read 11 tweets
6 Apr
वेदों में मांसभक्षण का स्पष्ट निषेध किया गया है। अनेक वेद मंत्रों में स्पष्ट रूप से किसी भी प्राणी को मारकर खाने का स्पष्ट निषेध किया गया हैं, जैसे
हे मनुष्यों! जो गौ आदि पशु हैं वे कभी भी हिंसा करने योग्य नहीं हैं। -यजुर्वेद 1।1

जो लोग परमात्मा के सहचरी प्राणीमात्र को अपनी आत्मा का तुल्य जानते हैं अर्थात जैसे अपना हित चाहते हैं, वैसे ही अन्यों में भी व्रतते हैं। -यजुर्वेद 40।7
हे दांतों तुम चावल खाओ, जौ खाओ, उड़द खाओ और तिल खाओ। तुम्हारे लिए यही रमणीय भोज्य पदार्थों का भाग है। तुम किसी भी नर और मादा की कभी हिंसा मत करो। -अथर्ववेद 6।140।2
Read 5 tweets