#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है
#भाई_मतिदासजी🙏 और #भाई_सतिदासजी🙏 तथा #भाई_दयालाजी🙏 ने धर्म के लिए प्राण दे दिए पर #धर्मपरिवर्तन😠 नहीं किया।🙏

#औरंगज़ेब😠 के शासनकाल में उस #अत्याचारी😠की इतनी हठधर्मिता थी कि उसे इस्लाम के अतिरिक्त #किसी_दूसरे_धर्म_की_प्रशंसा तक सहन नहीं थी।
👇👇👇 Image
मुग़ल आक्रांता #औरंगजेब😠 ने #मंदिरों,#गुरुद्वारों को तोड़ने😠 व #मूर्ति_पूजा बंद करवाने के फरमान जारी कर दिए थे।😠😠😠
उसके आदेश के अनुसार कितने ही #मंदिर और #गुरूद्वारे तोड़ दिए गए थे।😠😠

मंदिरों की मूर्तियों को तोड़ कर टुकड़े कर दिए गए😠और मंदिरों में गायें काटीं गयीं।😠😠😠
मुग़ल आक्रांता #औरंगजेब😠 ने #मंदिरों,#गुरुद्वारों को तोड़ने😠 व #मूर्ति_पूजा बंद करवाने के फरमान जारी कर दिए थे।😠😠😠
उसके आदेश के अनुसार कितने ही #मंदिर और #गुरूद्वारे तोड़ दिए गए थे।😠😠

मंदिरों की मूर्तियों को तोड़ कर टुकड़े कर दिए गए😠और मंदिरों में गायें काटीं गयीं।😠😠😠
#औरंगज़ेब😠 ने सबको #इस्लाम😠 अपनाने का आदेश दिया।
संबंधित अधिकारी को यह कार्य सख्ती और तत्परता से करने हेतु सौंपा गया था।
#औरंगजेब😠 ने हुक्म दिया कि किसी हिन्दू को राज्य के कार्य में किसी भी #उच्च_स्थान पर नियुक्त न किया जाये😠 तथा #हिन्दुओं पर #जजिया_कर लगा दिया जाये।
उस समय अनेकों कर केवल #हिन्दुओं पर लगाये गये।😠
इस भय से #असंख्य_हिन्दू मुसलमान हो गये।*
हिन्दुओं के #पूजा_आरती आदि सभी #धार्मिक_कार्य बंद होने लगें।😠
मंदिर गिराये गये,😠मस्जिदें बनवायी गयीं😠😠😠 और अनेकों अनगिनत #धर्मात्मा_व्यक्ति मरवा दिये गये।😢
उसी समय की एक उक्ति है☝☝☝
"सवा मन यज्ञोपवीत रोजाना उतरवा कर #औरंगजेब😠 रोटी खाता था।"😠😠😠
#औरंगज़ेब😠 ने कहा था-"सबसे कह दो या तो #इस्लाम_धर्म कबूल करें या मौत को गले लगा लें।"😠😠😠

इस प्रकार की ज़बर्दस्ती शुरू हो जाने से अन्य धर्म के लोगों का जीवन कठिन हो गया।
हिंदू और सिखों को इस्लाम अपनाने के लिए
सभी उपायों,#लोभ,#लालच,#भय #दंड से मजबूर किया गया।
जब #गुरु_तेगबहादुरजी🙏 ने #इस्लाम_धर्म😠 को स्वीकार करने से मना कर दिया🙏🙏🙏
तो उनको #औरंगजेब😠 के हुक्म से गिरफ्तार कर लिया गया था।
#गुरुजी के साथ तीन सिख वीर #दयालाजी,#भाई_मतीदासजी और #भाई_सतीदासजी भी दिल्ली में कैद थे।
#क्रूर_औरंगजेब😠 चाहता था कि #गुरुजी🙏 #इस्लाम😠 कुबूल करके मुसलमान बन जायें।😠
उन्हें डराने के लिए इन #तीनों_वीरो को तड़पा तड़पा कर मारा गया था😢 लेकिन #गुरुजी विचलित नहीं हुए।🙏

#मतान्ध_औरंगजेब😠 ने सबसे पहले #9नवम्बरसन1675ई. को #भाई_मतिदास को आरे से
दो भागों में चीरने को कहा
लकड़ी के दो बड़े तख्तों में जकड़कर उनके सिर पर आरा चलाया जाने लगा।😢
जब आरा दो तीन इंच तक सिर में धंस गया, तो

#काजी😠 ने उनसे कहा-*
#मतिदास अब भी इस्लाम स्वीकार कर ले,शाही जर्राह तेरे घाव ठीक कर देगा,तुझे दरबार में ऊँचा पद दिया जाएगा और तेरी पाँच शादियाँ कर दी जायेंगी।😠😠😠
#भाई_मतिदासजी🙏 ने व्यंग्यपूर्वक पूछा-
"काजी, यदि मैं इस्लाम मान लूँ, तो क्या मेरी कभी मृत्यु नहीं होगी."
#काजी😠 ने कहा कि- "यह कैसे सम्भव है,जो धरती पर आया है उसे मरना तो है ही।"

#भाई_मतिदासजी ने हँसकर कहा-"यदि तुम्हारा #इस्लाम_मजहब😠 मुझे मौत से नहीं बचा सकता, तो फिर मैं अपने
#पवित्र_हिन्दू_सनातन_धर्म में रहकर ही #मृत्यु_का_वरण क्यों न करूँ।"🙏🙏🙏
उन्होंने जल्लाद से कहा कि- "अपना आरा तेज चलाओ, जिससे मैं शीघ्र अपने प्रभु के धाम पहुँच सकूँ।"🙏🙏🙏
यह कहकर वे ठहाका मार कर हँसने लगे।❤

#काजी😠 ने कहा कि-"यह मृत्यु के भय से पागल हो गया है।"😠😠😠
#भाई_मतिदासजी🙏 ने कहा-"मैं डरा नहीं हूँ,मुझे प्रसन्नता है कि मैं अपने #धर्म पर स्थिर हूँ और जो धर्म पर #अडिग रहता है।
उसके मुख पर लाली रहती है,पर जो धर्म से विमुख हो जाता है,उसका मुँह काला हो जाता है।"🙏🙏🙏
कुछ ही देर में उनके शरीर के दो टुकड़े हो गये।😢😢😢
अगले दिन #10_नवम्बर को उनके छोटे #भाई_सतिदासजी🙏 को रुई में लपेटकर जला दिया गया।😢😢
#भाई_दयालाजी को पानी में उबालकर मारा गया।😢😢

ग्राम करयाला,जिला झेलम वर्तमान पाकिस्तान तत्कालीन अविभाजित भारत निवासी #भाई_मतिदास एवं #भाई_सतिदास के पूर्वजों का #सिख_इतिहास में विशेष स्थान है।
उनके परदादा #भाई_परागाजी🙏, #छठे_गुरु_हरगोबिंदसिंहजी के सेनापति थे।🙏

उन्होंने #मुगलों😠 के विरुद्ध युद्ध में ही अपने प्राण त्यागे थे।🙏🙏🙏
उनके समर्पण को देखकर #गुरुओं ने उनके परिवार को ‘#भाई’ की उपाधि दी थी।🙏🙏🙏
#भाई_मतिदासजी के एकमात्र पुत्र #मुकुन्द_रायजी का भी
#चमकौर_के_युद्ध में बलिदान हुआ था।🙏

#भाई_मतिदासजी के भतीजे #साहबचन्द और #धर्मचन्द #गुरु_गोबिंदसिंहजी🙏के दीवान थे।🙏
#साहबचन्दजी🙏 ने #व्यासनदी पर हुए युद्ध में तथा
उनके पुत्र #गुरुबख्श_सिंहजी🙏 ने #अहमदशाह_अब्दाली😠 के #अमृतसर में #हरमन्दिर_साहिब पर हुए हमले😠😠😠 के समय
उसकी रक्षार्थ हेतु प्राण दिये थे।🙏🙏🙏
इसी वंश के #क्रान्तिकारी_भाई_बालमुकुन्द ने #8मईसन1915ई. को केवल #26_वर्ष की आयु में #फाँसी😢 पायी थी।🙏🙏🙏

उनकी पत्नी #रामरखीजी🙏 ने पति की #फाँसी😢 के वक़्त ही घर पर देह त्याग दी।😢😢😢
लाहौर में #भगतसिंहजी❤ आदि सैकड़ों क्रान्तिकारियों
को प्रेरणा देने वाले #भाई_परमानन्दजी भी इसी #वंश_के_तेजस्वी_नक्षत्र थे।🙏🙏🙏

किसी ने ठीक ही कहा है–
सूरा सो पहचानिये,जो लड़े दीन के हेत।
पुरजा-पुरजा कट मरे,तऊँ न छाड़त खेत।।

अफ़सोस की बात ये है कि इसके बाद भी #इतिहास में #भाई_मतिदास,#भाई_सतिदास तथा #भाई_दयाला को जगह नहीं दी गई
तथा उनके #बलिदान_की_गौरवगाथा को हिंदुस्तान के लोगों से छिपाकर रखा गया।😢😢😢
बहुत कम लोग होंगे जो इनके #बलिदान तथा #त्याग के बारे में जानते होंगे।*

#हिंदुस्तान में आज जो हिन्दू बचे हैं वे भी ऐसे #महापुरुषों_के_बलिदानों के कारण ही है क्योंकि उन्होंने अपने धर्म के लिए प्राण दे दिए
पर☝#डर #दण्ड #कष्टों और #लालच में आकर भी #धर्मपरिवर्तन😠 नहीं किया।🙏🙏🙏

नही तो वे भी बड़ा ऊंचा पद लेकर अपनी आराम से जिंदगी जी सकते थे। लेकिन उन्होंने ऐशो आराम को ठुकरा कर #धर्म के लिए शरीर को #तड़पाकर😢 #प्राण😢 त्याग दिए।🙏🙏🙏
इन #महापुरुषों के कारण आज #हिन्दूधर्म जीवित है।
आज जो लालच में आकर #धर्म_परिवर्तन😠 कर लेते है😠
उनको #भाई_मतिदासजी,#भाई_सतिदासजी और #भाई_दयालाजी से शिक्षा लेनी चाहिए।🙏
इन जैसे अनगिनत महान वीर #महापुरुषों ने तो #बलिदान देकर अपना कर्तव्य निभाया🙏
लेकिन #इस्लाम😠 स्वीकार नहीं किया।🙏
#सिक्खों_का_बलिदान कभी नहीं भुलाया जा सकता❤

• • •

Missing some Tweet in this thread? You can try to force a refresh
 

Keep Current with Badal Saraswat

Badal  Saraswat Profile picture

Stay in touch and get notified when new unrolls are available from this author!

Read all threads

This Thread may be Removed Anytime!

PDF

Twitter may remove this content at anytime! Save it as PDF for later use!

Try unrolling a thread yourself!

how to unroll video
  1. Follow @ThreadReaderApp to mention us!

  2. From a Twitter thread mention us with a keyword "unroll"
@threadreaderapp unroll

Practice here first or read more on our help page!

More from @badal_saraswat

26 Nov
26/11 हमले के आज 12 साल हो गए।
मात्र 10 #पाकिस्तानियों😠ने कैसे पूरे #मुम्बई को बंधक बना लिया था😠,सैकड़ों लोगों की जान चली गयी थी।😢
तब की #काँग्रेस😠 सरकार सिर्फ #क्रिकेट_सीरीज कैंसिल कर पाई थी*
नेता #पाकिस्तान को क्लीन चिट देते हुए इस पूरे #हमले😠 का सारा-
पूरा पढ़िए।
👇👇👇 Image
का सारा ठीकरा "#हिंदुत्व" पर फोड़ने की भूमिका तैयार कर रहे थे। #RSS को(भगवा आतंक)बदनाम करने की कहानी तो पहले से ही लिखी जा चुकी थी।😠😠😠
भला हो #तुकाराम_ओंबलेजी🙏 का
जो #कसाब😠 की AK47 के सामने अपनी लाठी से भिड़ गए थे और #कसाब😠 को कलावा बांधे समीर चौधरी बनके मरने से पहले जिंदा Image
पकड़वा दिया।🙏🙏🙏
☝मत भूलना,सिर्फ #12साल पहले ही ये सब इस देश में हो रहा था।
पहले ही आतंकी आकाओं😠 ने कहा था कि जिंदा पकड़ा नहीं जाना है, मरना है यानि(मार देना है)।
लेकिन #तुकाराम_ओंबलेजी🙏 ने अपने #प्राणों_का_त्याग😢 करके #कसाब😠 को जिंदा पकड़ लिया।🙏🙏🙏

#पाकिस्तान के मंसूबे
Read 22 tweets
26 Nov
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है
जब हम सभी #सच्चा_इतिहास जानेंगे
तभी तो अपने आप को पहचानेंगें और ये अब वही #वक़्त है
जो हम सभी को #इतिहास से ही सीखना है।
इस बात में पूर्णतया #सत्यता है कि #इतिहास अपने आप को दोहराता है और उस #भूतकाल से हमें #वर्तमान इतिहास को पहचानना है।
पूरा पढ़िए👇👇👇 Image
👆
अगर हम इतिहास से नहीं सीख सकते तो कोई फायदा नहीं
क्योंकि सब वर्तमान में ही ध्यान केंद्रित किये हुए हैं।😠😠
यहाँ ये हो गया!😠 वहां ये हो गया!😠

सभी अपने-अपने #JusticeForThis😠 #JusticeForThis😠के #Trend करेंगे
#DP बदलेंगे लेकिन क्या आज तक कुछ मुद्दों को छोड़कर न्याय मिला?
👇 ImageImage
अब शुरुआत #सिक्खों_के_बलिदान😢🙏 से करता हूँ।

#भाई_मतिदासजी से🙏🙏🙏
#औरंगजेब😠ने पूछाः“#मतिदास कौन है?”
तो #भाई_मतिदासजी ने आगे बढ़कर कहाः“मैं हूँ मतिदास। यदि #गुरुजी आज्ञा दें तो मैं यहाँ बैठे-बैठे दिल्ली और लाहौर का सभी हाल बता सकता हूँ।
तेरे किले की ईंट-से-ईंट बजा सकता हूँ।”
Read 25 tweets
24 Nov
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है

#गुरु_गोबिंदसिंहजी🙏 जी मात्र #9वर्ष की की उम्र में अपने पिता #गुरू_तेगबहादुरजी🙏 का शीश पकड़े हुए।😢🙏🙏

जिन्होंने #कश्मीरी_ब्राह्मणों और हिन्दुओं की #धार्मिक_स्वतंत्रता_की_रक्षा के लिए अपना #जीवन_बलिदान कर दिया।😢🙏🙏🙏
#कोटि_कोटि_नमन 🙏🙏🙏
👇👇👇 Image
👆
#गुरुतेग_बहादुरजी🙏 और #गुरु_गोबिंदसिंहजी🙏 जैसे राजर्षियों एवं सभी #सिक्ख_वीर_योद्धाओं को🙏
#औरंगजेब😠 ने दिल्ली में उनका सिर कलम कर दिया था।😢
#गुरु_तेगबहादुरजी🙏 ”#हिन्द_की_चादर#बलिदान_दिवस (24 नवंबर)🙏
संसार को ऐसे #बलिदानियों से प्रेरणा मिलती है
जिन्होंने जान तो दे दी👇 Image
परंतु #सत्य_का_त्याग नहीं किया।🙏
नवम पातशाह #श्री_गुरु_तेगबहादुरजी भी ऐसे ही बलिदानी थे।
#गुरुजी ने स्वयं के लिए नहीं,बल्कि दूसरों के अधिकारों एवं विश्वासों की रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। अपनी आस्था के लिए #बलिदान देने वालों के उदाहरणों से तो #इतिहास भरा हुआ है।
Read 14 tweets
24 Nov
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है

क्या आप जानते हैं! कि #NDA(#NationalDefenceAcademy)में #BestCadetMedal होता है,जो बेस्ट कैडेट होता है उसको एक #गोल्ड_मैडल दिया जाता है औऱ
उस #मैडल का नाम"#लचित_बोरफुकन"है।🙏
कौन थे ये"#लचित_बोरफुकन"?
पोस्ट को पूरा पढ़ने पर आपकों भी ज्ञात हो जाएगा
👇👇👇 ImageImage
कि क्यों???😠😠😠
#वामपंथी_विचारधारा_के_चाटुकार_इतिहासकारों 😠😠😠 ने और #मुगल_परस्त_इतिहासकारों😠😠😠
ने इन जैसे सभी #महान_शूरवीर_यौद्धाओं🙏 के नाम को हम तक पहुचने ही नहीं दिया।😠😠😠

क्या आपने कभी सोचा है कि *पूरे #उत्तर_भारत पर #अत्याचार करने वाले #मुस्लिम_शासक और #मुग़ल कभी
#बंगाल के आगे #पूर्वोत्तर_भारत पर कब्ज़ा क्यों नहीं कर सके???
कारण यही था वो सभी #परमवीर_महान_पराक्रमी_सभी_हिन्दूयोद्धा🙏
जिन्हें #वामपंथी😠 और #मुग़ल_परस्त_इतिहासकारों😠 ने #इतिहास_के_पन्नो से गायब कर दिया।
उनमें से ही एक नाम है - #असम_के_परमवीर_योद्धा🙏 "#लचित_बोरफूकन।"🙏🙏🙏
Read 14 tweets
22 Nov
विक्रम हिन्दू बड़े भईयाजी का लेख✍✍✍
#बन्दरों_की_ज़िद
एक बार कुछ वैज्ञानिकों ने एक बड़ा ही मजेदार प्रयोग किया। उन्होंने 5बन्दरों को एक बड़े से पिंजरे में बन्द कर दिया और बीचो-बीच एक सीढ़ी लगा दी।
जिसके ऊपर पके केले लटक रहे थे,जैसा कि अनुमान था
एक बन्दर की नज़र केलों पर पड़ी👇👇
वह उन्हें खाने के लिए दौड़ा,पर जैसे ही उसने कुछ सीढ़ियां चढ़ी उस पर ठण्डे पानी की तेज धार डाल दी गयी और उसे उतर कर भागना पड़ा।

पर वैज्ञानिक यहीं नहीं रुके,उन्होंने एक #बन्दर के किये गए प्रयास की सजा बाकी #बन्दरों को भी दे डाली और सभी को ठण्डे पानी से भिगो दिया।
बेचारे #बन्दर हक्के-बक्के एक कोने में दुबक कर बैठ गए, पर वे कब तक बैठे रहते।
कुछ समय बाद एक दूसरे #बन्दर को केले खाने का मन किया और वो उछलता कूदता सीढ़ी की तरफ दौड़ा।
अभी उसने चढ़ना शुरू ही किया था कि पानी की तेज धार से उसे भी नीचे गिरा दिया गया और
इस बार भी इस #बन्दर की गलती की
Read 10 tweets
22 Nov
#ताजमहल_या_पनौती
एक पनौती की चर्चा लास्ट में अलग से*

@imayushirana दीदी की Timeline से
विचार कीजिये कि आखिर #टीना_डाबी का #अतहर के साथ तलाक की नौबत क्यों आई?☝
फिर मुझे कहीं एक तस्वीर नजर आ गई जिसमें #टीना और #अतहर ताजमहल के सामने उस #अभिशप्त_बेंच😠 पर बैठकर फोटो खींचे हैं।👇👇
अब आप इतिहास जानिए कि इस #अभिशप्त_बेंच😠 पर जितने प्रसिद्ध कपल बैठ कर फोटो खींच आए और इस #अभिशप्त_बेंच ने सिर्फ 1 महीने में अपना असर दिखा दिया।

1. #व्लादिमीर_पुतिन- सन 2000 में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पत्नी ल्यूडमिला के साथ ताजमहल देखने पहुंचे थे।
कुछ समय बाद दोनों का
तलाक हो गया।

2. #प्रिंसेस_डायना- 1992 में ब्रिटिश राजकुमारी डायना भी ताजमहल देखने पहुंची थीं। दस महीने बाद ही #डायना और #चार्ल्स का तलाक हो गया।

3. #टॉम_क्रूज- 2011 में टॉम क्रूज फिल्म‘मिशन इम्पॉसिबल: घोस्ट प्रोटोकॉल’ के वर्ल्ड प्रीमियर से पहले भारत पहुंचे थे और ताजमहल के सामने
Read 8 tweets

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3/month or $30/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!

Follow Us on Twitter!