भगवान बदरीनाथ अब 6 महीने घृत कंबल में लिपटे रहेंगे

भगवान बदरीनारायण को जो घृत कंबल ओढ़ाया जाता है, उसे माणा गांव की महिलाएं और कन्याएं मिलकर तैयार करती हैं...

रविवार को शाम 5 बजकर 13 मिनट पर बदरीनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। 🙏

@The_Pinakee Image
कार्तिक माह में शुभ दिन पर माणा गांव की महिलाएं इस कंबल को तैयार करती हैं।

महिलाएं ऊन को कातकर सिर्फ एक दिन के भीतर कंबल तैयार करती हैं। ये काम पूरी श्रद्धा और भक्ति के साथ किया जाता है।

जिस दिन कंबल बनाना होता है उस दिन महिलाएं और कन्याएं उपवास रखती हैं।

+
कंबल तैयार होने के बाद कार्तिक माह में शुभ दिन निकाला जाता है। इस शुभ दिन पर माणा गांव वाले ये कंबल बदरी-केदार मंदिर समिति को सौंप देते हैं।
जिस दिन मंदिर के कपाट बंद होते हैं मंदिर के मुख्य पुजारी रावल इस कंबल पर गाय के घी और केसर का लेप लगाकर इससे भगवान बदरीनाथ को ढक देते हैं
+
... ताकि उन्हें ठंड ना लगे। ग्रीष्मकाल में जब भगवान बदरीनाथ के कपाट खुलते हैं तो इस कंबल को महाप्रसाद के रूप में श्रद्धालुओं को वितरित किया जाता है। 🙏🚩

• • •

Missing some Tweet in this thread? You can try to force a refresh
 

Keep Current with Pushyamitra

Pushyamitra Profile picture

Stay in touch and get notified when new unrolls are available from this author!

Read all threads

This Thread may be Removed Anytime!

PDF

Twitter may remove this content at anytime! Save it as PDF for later use!

Try unrolling a thread yourself!

how to unroll video
  1. Follow @ThreadReaderApp to mention us!

  2. From a Twitter thread mention us with a keyword "unroll"
@threadreaderapp unroll

Practice here first or read more on our help page!

More from @PushyamitrSunga

26 Nov
#NeverForgetNeverForgive

The narrative of #MumbaiTerrorAttacks would have been completely different if Hutatma #TukaramOmble would not have succeeded in catching #AjmalKasab alive even as the Pakistan sponsored terrorist pumped scores of bullets by his AK-47 into him.

+
Stalwarts of congress party we're ready with Books and statements branding it as Saffron Terror , Hindu Atankwad and what not.

ISI had put fake id cards on his person on Hindu names and address of India. #ajmalkasab wore a Kalava in his right hand too. + Image
In such intricate narrative building plan by our enemy nation with help from #EnemiesWithin would have successfully branded these attacks as one by Hindu Terrorists.

The fall out would have been that a nation of 1 Billion Hindus would have been tagged as 1 Billion Terrorists. +
Read 5 tweets
25 Nov
#democracysummit 2021

US is organising DS 2021 where it has invited 110 nations who will discuss ways to strengthen democracy and fight communism.

Taiwan has been invited to it and this is one step closer to formally announce it as a nation by USA.

+
China's reaction to this will be closely watched. If it just reacts by issuing statements then next step by US might be to officially recognise #Taiwan as a country. China is not invited to this summit obviously.

+
#Bangladesh and #SriLanka have also not been invited to #DS2021

Recent KiIIings of H¡ndus in Bangladesh & no satisfactory reaction by Bangladesh has made US exclude it.

While the role of current President & PM of SriLanka in Tamil people gen0cide had led to their exclusion. +
Read 4 tweets
25 Nov
ज़िद्द जो खा गई कप्तान को......

1. मैं मर जाउं तब भी रविचंद्रन अश्विन को नहीं खेलने दूंगा....

2. हार्दिक पांड्या अस्पताल के बेड पर लेटा हो तब भी टीम में खेलेगा....

3. भले ही रविन्द्र जडेजा ने एक भी मैच नहीं जिताया हो पर वो भी टीम में हमेशा खेलेगा...

+ Image
4.भले ही कोई आउट आफ फार्म हो            लेकिन मेरी मर्जी से
5. मुझे कुम्बले जैसे खिलाड़ी को कोच नहीं रखना उनके स्थान पर बीयर पार्टी मैनेजर रवि शाश्त्री ही कोच रहेंगे
6. राहुल द्रविड़ जैसे विश्वसनीय और क्लास प्लेयर व सक्सेसफुल कोच को टीम का कोच बनाया तो मैं कप्तान नहीं रहूंगा +
7. मुझे टीम का बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ को बनाना है क्योंकि वो शाम की पार्टी में स्नैक्स और सलाद की व्यवस्था देखता है यह अलग बात है कि वो स्वयं एक बेहद फ्लॉप बल्लेबाज रहा है..

यह वो खतरनाक व बचकाना जिद्दी रवैया है जो किसी भी कप्तान को शानदार बल्लेबाज तो बनाए रख सकती है
+
Read 5 tweets
25 Nov
बात जनवरी  2017 की है। पूर्व क्रिकेट कैप्टन राहुल द्रविड़ को बंगलुरू विश्वविद्यालय ने  27 जनवरी को होनेवाले अपने 52 वें दीक्षांत समारोह में डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान करने के लिए आमंत्रित किया। राहुल ने यह प्रस्ताव विनम्रतापूर्वक अस्वीकार कर दिया और कहा -

+ Image
मेरी माँ आर्ट्स की प्रोफेसर हैं और उन्होंने डॉक्टरेट की डिग्री पाने के लिए पचास वर्ष की होने तक धैर्यपूर्वक इंतज़ार किया है। मेरी पत्नी एक डॉक्टर हैं और मैं जानता हूँ कि इसके लिए उन्होंने अनगिनत दिन और रातों की पढाई की है।
+
मैंने क्रिकेट खेलने के लिए बहुत मेहनत की है पर इतना अध्ययन नही किया है। इसलिए मैं यह डिग्री स्वीकार नही कर सकता।

क्या बात है इस जेंटलमैन की। इस कथन में राहुल के पास उदाहरण भी मां और पत्नी के हैं जो इस विषय को और भी खूबसूरत बनाते हैं।

+
Read 7 tweets

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3/month or $30/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal

Thank you for your support!

Follow Us on Twitter!

:(