Shubham Shukla Profile picture
।। Learner।। Knowledge Seeker।।Assistant Professor ।। Alumnus of MANIT Bhopal।। 📝आ नो भद्रा: क्रतवो यन्तु विश्वत:🌏
25 Jul
#Thread
#1
9 नवंबर 2000 में उत्तराखंड राज्य उत्तर प्रदेश से अलग हुआ। इसी के साथ ही उत्तराखंड की भूमि का सस्ते दामों पर खरीद का खेल सुरु हो गया था। नवीन राज्य बनने के बाद सरकारों ने सस्ते दामों पर जमीनें उद्योगपतियों और अन्य संस्थाओं को बेच दी।
#उत्तराखंड_मांगे_भू_कानून
#2
(1.)नित्यानंद स्वामी सरकार पर आरोप लगे कीमती जमीन की बंदरबांट के। जिसका काफी विरोध भी हुआ। उत्तराखंड में भूमि खरीद-फरोख्त कारोबार बन गया।
#उत्तराखंड_मांगे_भू_कानून
#3
(2.)पहली बार 2002 में एन डी तिवारी सरकार ने बाहरी व्यक्तियों के लिए जमीन खरीद की सीमा तय की। और उत्तर प्रदेश जमींदारी विनाश एवं भूमि सुधार अधिनियम में यह प्रावधान किया कि बाहरी व्यक्ति राज्य में 500 वर्ग मीटर से अधिक भूमि नहीं खरीद सकेगा।
#उत्तराखंड_मांगे_भू_कानून
Read 12 tweets