Discover and read the best of Twitter Threads about #जय_श्रीराम

Most recents (24)

इसको पढ़िए और सोचिए....सर मैं लतीफ का एनकाउंटर करना चाहता हूं...पर क्यो..मुख्यमंत्री ने पूछा।
क्योंकि इसने मेरे इंस्पेक्टर झाला का मर्डर किया था जब वह अपनी गर्भवती पत्नी को देखने छुट्टी पर जा रहा था...अब्दुल लतीफ को गिरफ्तार किया गया और नवरंगपुरा स्थित
@Bhargavi0506
16/1
16/2
पुराने हाईकोर्ट में उसकी पेशी होनी थी।पेशी के पहले डीएसपी जडेजा ने कहा दाबेली खाओगे लतीफ ने हां बोला तो उसकी हथकड़ी खोल दी गई और फिर उसे 8 गोली मार दी गई और मीडिया में कह दिया गया कि लतीफ ने नाश्ता करने के लिए हथकड़ी खुलवाई थी और भागने की कोशिश की,जिसके फलस्वरूप वह मारा गया।
16/3
दोस्तों देश में जहां भी बीजेपी सत्ता में आई उसमें गुजरात का बहुत बड़ा योगदान रहा है ...गुजरात को मीडिया के लोग आज भी हिंदुत्व की प्रयोगशाला कहते थे ...गुजरात पहला राज्य है जहां बीजेपी सत्ता में आई और जिस जमाने में बीजेपी के सिर्फ दो संसद सदस्य थे उसमें से एक मेहसाना से थे l
Read 16 tweets
याद करो कि.. मोदी जी ने क्या बोला था कि.. देश संविधान से चलेगा..

अब समझो ठीक से..

उन्होंने आपके हिन्दू फल विक्रेता के नाम पर आपत्ति की.. और केस कर दिया.. जबकि हर शहर.. हर जगह.. उनके #फलाने_मुस्लिम_होटल.. #फलाने_मुस्लिम_लॉज आदि के बोर्ड लगे होते हैं..

तुम पूरे हिंदुस्तान (1/8)
में मौजूद ऐसे दुकानों और लॉजों पर १००/२०० केस कर दो.. उन्हीं धाराओं में, जिन धारा में उन्होंने किया तुम पर..

वे देश भर में मौजूद मस्जिदों से रोज सुबह शाम कुत्ते की तरह हु हु भोकते है..

तुम, जाके हर मस्जिद पर २००/३०० केस ठोक दो कि.. इस जगह से ध्वनि प्रदूषण होता है और हमें (2/8)
इससे डिस्टर्बेंस होती है..

जब भी वे खुले में नमाज पढ़े..२००/३०० केस ठोक दो कि हमारी धार्मिक भावना आहत होती है इससे.. और हमें डिस्टर्बेंस होती है..

अगर वे सड़क घेर के नमाज पढ़ते हैं बीस मिनट.. तो, तुम रोज दो घंटे सड़क घेर कर आरती शुरू कर दो.. फिर जो.. नया नियम बनेगा वो (3/8)
Read 8 tweets
देश बड़ा है या धर्म?

इसपर बहुत लोग उलझन में पड़ गए, किसी ने #देश कहा और किसी ने #धर्म

अगर मुझसे ये सवाल आज से 5 साल पहले पूछा गया होता तो #देश बोलने में 1 सेकण्ड नहीं लगाता पर आज मैं #धर्म बोलने में देर नहीं करूँगा।

देश.. #क्या_है देश? जब तक आप इस देश में है, जब तक (1/7)
आप इस देश में सुरक्षित हैं, तभी तक तो है ये आपका देश।

देश तो ये #तब भी कहलायेगा जब कोई इस देश पर #कब्ज़ा कर ले और आपको भगा दे..

लेकिन तब ये देश #उस आक्रमणकारी का होगा, आपका #नहीं

मतलब साफ है, जब तक देश में #आपका राज है #तभी_तक देश आपका है।

देश बचता है #धर्म_से

(2/7)
जिस मजहब के लोगों के पास एक भी देश नहीं था उन्होंने सिर्फ #मजहब पर अडिग रहकर 57 देश बना लिए।

(सवाल ये नहीं कि उनका मजहब ख़राब था या अच्छा)

जिसने #धर्म_से_ज्यादा राष्ट्रीयता को महत्त्व दिया उसके हाथ से #देश_निकल_गया

हमारे हाथों से पाकिस्तान के रूप में, अफगानिस्तान के (3/7)
Read 7 tweets
#Thread
सनातन हिन्दू धर्म की आचरण संहिता

हिन्दू धर्म में आचरण के सख्त नियम हैं जिनका उसके अनुयायी को प्रतिदिन जीवन में पालन करना चाहिए। इस आचरण संहिता में मुख्यत: दस प्रतिबंध हैं और दस नियम हैं। यह सनातन हिन्दू धर्म का नैतिक अनुशासन है।

Cont 👇
इसका पालन करने वाला जीवन में हमेशा सुखी और शक्तिशाली बना रहता है।

1.अहिंसा – स्वयं सहित किसी भी जीवित प्राणी को मन, वचन या कर्म से दुख या हानि नहीं पहुंचाना। जैसे हम स्वयं से प्रेम करते हैं, वैसे ही हमें दूसरों को भी प्रेम और आदर देना चाहिए।

👇👇
अहिंसा का लाभ : किसी के भी प्रति अहिंसा का भाव रखने से जहां सकारात्मक भाव के लिए आधार तैयार होता है वहीं प्रत्येक व्यक्ति ऐसे अहिंसकर व्यक्ति के प्रति भी अच्छा भाव रखने लगता है। सभी लोग आपके प्रति अच्छा भाव रखेंगे तो आपके जीवन में अच्छा ही होगा।

👇👇
Read 45 tweets
क्रिश्चियन लड़की ने कहा कि यीशु हमारे लिए सूली पर लटके और मर गए।

मैने कहा पगली भगवान शिव ने हमारे लिए जहर पिया और जिंदा है।

स्वयं पढ़ें और बच्चों को भी अनिवार्यतः पढ़ाएं।

एक ओर जहां ईसामसीह को सिर्फ चार कीलें ठोकी गई थीं, वहीं भीष्म पितामह को धनुर्धर अर्जुन ने सैकड़ों (1/5)
बाणों से छलनी कर दिया था। तीसरे दिन कीलें निकाले जाने पर ईसा होश में आ गए थे, वहीं पितामह भीष्म 58 दिनों तक लगातार बाणों की शैय्या पर पूरे होश में रहे और जीवन, अध्यात्म के अमूल्य प्रवचन, ज्ञान भी दिया तथा अपनी इच्छा से अपने शरीर का त्याग किया था।

सोचें कि पितामह भीष्म की (2/5)
तरह अनगिनत त्यागी महापुरुष हमारे भारत वर्ष में हुए हैं, तथापि सैकड़ों बाणों से छलनी हुए पितामह भीष्म को जब हमने भगवान् नहीं माना, तो चार कीलों से ठोंके गए ईसा को गॉड क्यों मानें?

ईसा का भारत से क्या संबंध है? 25 दिसंबर हम क्यों मनाएं? क्यों बनाएं हम अपने बच्चों को सेंटा (3/5)
Read 5 tweets
पागल अकबर, होशियार बिरबल !

अकबर बीरबल हमेशा की तरह टहलने जा रहे थे।

रास्ते में एक तुलसी का पौधा दिखा, मंत्री बीरबल ने झुक कर प्रणाम किया ।
अकबर ने पूछा कौन हे ये ?
बीरबल - मेरी माता है।

अकबर ने तुलसी के झाड़ को उखाड़ कर फेक दिया और बोला कितनी माता हैं तुम हिन्दू लोगों की ?
बीरबल को उसका जबाब देने की एक तरकीब सूझी ।

आगे एक बिच्छुपत्ती (खुजली वाला) झाड़ मिला!
बीरबल उसे दंडवत प्रणाम कर, कहा -
जय हो बाप मेरे ।

अकबर को गुस्सा आया .....
दोनों हाथों से झाड़ को उखाड़ने लगा ।

इतने में अकबर को भयंकर खुजली होने लगी तो बोला: बीरबल ये क्या हो गया ?

बीरबल ने
कहा : आप ने मेरी माँ को मारा इस लिए ये गुस्सा हो गए । अकबर जहाँ भी हाथ लगता वहाँ पर उसे खुजली होने लगती ।

अकबर बोला : बीरबल जल्दी कोई उपाय बताओ ।

बीरबल बोला :
उपाय तो है लेकिन वो भी हमारी माँ है । उनसे विनती करनी पड़ेगी ।

अकबर बोला :
जल्दी करो ।

आगे गाय खड़ी थी बीरबल ने
Read 6 tweets
लव जिहादमध्ये हिंदू मुलीना फसवण्याकरिता पैसे मदरश्यामधून दिले जातात, आणि ही गोष्ट स्वता एका मुस्लिम मुलाने मान्य केली आहे. एवढच चित्र स्पष्ट उभ असताना पण स्वताला शिवकन्या म्हणवुन घेणाऱ्या तथाकथित शिवकन्या आणि झोपलेले हिंदू कधी जागे होणार आणि सरकार या विरुद्ध कायदा कधी आणार आहे.
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिन्दू परिषद, आणि बजरंग दल सारंखे स्वताला हिंदुत्ववादी संघटना म्हणवुन घेणाऱ्या आणि हिंदुत्ववादी संघटन माणणाऱ्या संघटना हिंदू मुलीमध्ये लव जिहादच्या धोक्या बद्दल जनजागृति कधी करणार आहेत.
दूसऱ्याकडुन अपेक्षा ठेवण्यापेक्षा हिंदू आई-बापानी स्वता लव जिहाद बद्दल मुलीना सांगितल पाहिजे आहे. आपली मुलगी व्हॉटसअप, फेसबुक, इंन्टाग्राम सारंख्या सोशल मीडियावर कोणाबरं बोलते यावर लक्ष्य ठेवल पाहिजे कारण सोशल मीडिया हे लव जिहादच माहेर-घर बनतचं चालेल आहे.

#जय_श्रीराम
Read 7 tweets
#Thread (long)
हिंदू धर्मग्रंथों का सार, जानिए किस ग्रंथ में क्या है?

अधिकतर हिंदुओं के पास अपने ही धर्मग्रंथ को पढ़ने की फुरसत नहीं है। वेद, उपनिषद पढ़ना तो दूर वे गीता तक को नहीं पढ़ते जबकि गीता को एक घंटे में पढ़ा जा सकता है। हालांकि कई जगह वे भागवत पुराण सुनने या...

Cont 👇
रामायण का अखंड पाठ करने के लिए समय निकाल लेते हैं या घर में सत्यनारायण की कथा करवा लेते हैं। लेकिन आपको यह जानकारी होना चाहिए कि पुराण, रामायण और महाभारत हिन्दुओं के धर्मग्रंथ नहीं है। धर्मग्रंथ तो वेद ही है।

👇👇
शास्त्रों को दो भागों में बांटा गया है:-

श्रुति और स्मृति। श्रुति के अंतर्गत धर्मग्रंथ वेद आते हैं और स्मृति के अंतर्गत इतिहास और वेदों की व्याख्‍या की पुस्तकें पुराण, महाभारत, रामायण, स्मृतियां आदि आते हैं। हिन्दुओं के धर्मग्रंथ तो वेद ही है।

👇👇
Read 80 tweets
#Thread
भगवद्पाद जगद्गुरु आदिशंकराचार्य की समाधि का लोकार्पण प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किया, उनका संक्षिप्त परिचय

जब सनातन धर्म लगभग विलुप्त व वेद-उपनिषदों का पराभाव हो गया, गीता-पुराण विस्मृत हो गए। ऐसे समय मे शंकर का जन्म हुआ...

Cont 👇
जिसने 8 वर्ष की आयु में वेद व उपनिषदों का अध्ययन कर सन्यास ग्रहण किया। पूरे देश मे 3 बार भ्रमण कर बौद्धों को शास्त्रार्थ में पराजित कर पुनः सनातन धर्म को स्थापित कर देश को एकसूत्र में बांधा।

👇👇
★ब्रह्मसूत्र, उपनिषद व भगवदगीता पर भाष्य लिख वेदों को पुनर्स्थापित किया।

★ चारों दिशाओं में चार पीठ स्थापित की

★दशनामी अखाड़ों की व्यवस्था की

★कुम्भ मेला व्यवस्था को पुनर्भाषित किया

★ पंचायतन पूजा पद्धति आरम्भ की

👇👇
Read 10 tweets
#Thread
चलिए हजारो साल पुराना इतिहास पढ़ते हैं

सम्राट शांतनु ने विवाह किया एक मछवारे की पुत्री सत्यवती से।उनका बेटा ही राजा बने इसलिए भीष्म ने विवाह न करके,आजीवन संतानहीन रहने की भीष्म प्रतिज्ञा की..

Cont 👇
सत्यवती के बेटे बाद में क्षत्रिय बन गए, जिनके लिए भीष्म आजीवन अविवाहित रहे, क्या उनका शोषण होता होगा?

महाभारत लिखने वाले वेद व्यास भी मछवारे थे, पर महर्षि बन गए, गुरुकुल चलाते थे वो।

👇👇
विदुर, जिन्हें महा पंडित कहा जाता है वो एक दासी के पुत्र थे, हस्तिनापुर के महामंत्री बने, उनकी लिखी हुई विदुर नीति, राजनीति का एक महाग्रन्थ है।

भीम ने वनवासी हिडिम्बा से विवाह किया।

श्रीकृष्ण दूध का व्यवसाय करने वालों के परिवार से थे,

👇👇
Read 17 tweets
#Thread
आर्यन खान और हमारा समाज

आर्यन खान को जमानत मिल गई। बॉलीवुड की दीपावली एक हफ़्ता पहले ही आ गई। चाटुकार मीडिया अब आर्यन खान को एक पीड़ित के रूप में पेश करे तो समझना कि शाहरुख़ खान की मार्केटिंग एजेंसी ने अपना होमवर्क करना शुरू कर दिया है।

Cont 👇
करे भी क्यों नहीं? आखिर आर्यन को भी फिल्मी सितारा बनाना है। बॉलीवुड स्वघोषित किंग का स्वघोषित युवराज बनाना है। एक-एक फ़िल्म कई सौ करोड़ का धंधा है। ऐसे में रामगोपाल वर्मा की फिल्म के गाने की एक पंक्ति 'सब धंधा है! सब धंधा है ये' स्मरण हो उठती है।

👇👇
हम इस छद्म दुनिया की चमकीली रोशनी की चकाचौंध में यह भूल ही गए है कि हमारे देश में जिसके पास विश्व में सबसे अधिक युवा है कि अपरिपक्व मस्तिष्क में कितनी भीतर तक बॉलीवुड, क्रिकेट के सितारे प्रभाव डालते हैं।

👇👇
Read 16 tweets
#Ramayana_And_Science Day -2
#जय_श्रीराम
पुन: प्राप्ते वसन्ते तु पूर्ण: संवत्सरोऽभवत्
प्रसवार्थं गतो यष्‍टुं हयमेधेन वीर्यवान्॥ वा.रा.1/13/1॥
अर्थात् एक वसंत ऋतु के बीतने पर दूसरे वसंत ऋतु का पुनः आगमन हुआ और यज्ञसंबंधी अश्व
को मुक्त छोड़ेहुए एक वर्ष पूर्ण हो चुका था।
प्लैनेटेरियम सॉफ्टवेयर द्वारा दिखाए गए आकाशीय दृश्य के अनुसार 31 दिसंबर, 5116 वर्ष ई.पू.
को पूर्ण चंद्रमा चित्रा नक्षत्र में था तथा इसके 15 दिन पश्चात् अर्थात्् 15 जनवरी 5115 वर्ष ई.पू. को चैत्र
मास के शुक्ल पक्ष की प्रथमा थी।
@QueenAT18AT
@pallavict
@V_Shuddhi
@pahuch
यह श्रीराम के जन्म से लगभग 1 वर्ष पहले वसंत ऋतु के प्रारंभ का
समय भी था
। स्टेलेरियम सॉफ्टवेयर के अनुसार चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रथमा 24 फरवरी 5115
वर्ष ई.पू. को थी।
Read 25 tweets
#Thread
संस्कृत अध्ययन के लाभ

संस्कृत संस्कार की भाषा

संस्कृत भाषा के पढ़ने से विद्यार्थियों में संस्कारों का अनायास ही प्रवेश हो जाता है क्योंकि इसमें न केवल भौतिक वस्तुओं संबंधी ज्ञान विज्ञान मौजूद रहता है बल्कि विद्यार्थी को आध्यात्मिक व्यवहारिक ज्ञान भी सीखने को मिलता है
संस्कृत में आध्यात्मिक ज्ञान विज्ञान

संस्कृत भाषा में लिखे गए वेदों, उपनिषदों,दर्शनों,आरण्यक ग्रंथों में आध्यात्मिक ज्ञान विज्ञान प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होता है, यदि हम वेदों की बात करें तो ऋग्वेद का मंत्र कहता है -

👇👇
द्वा सुपर्णा सयुजा सखाया समानं वृक्षं परिषस्वजाते।
तयोरन्यः पिप्पलं स्वाद्व्त्त्यनश्नन्नन्यो अभिचाकशीति।। १/१६४/२०

अर्थात् - एक वृक्ष पर दो पक्षी सखा भाव से बैठे हैं, जिसमें से एक वृक्ष के मधुर फलों का भोग कर रहा है व दूसरा शान्तभाव से उसे चुपचाप देख रहा है।

👇👇
Read 36 tweets
#Thread
शरद पूर्णिमा कि रात को कुछ विशेष करने योग्य बातें

आँखों के लिए टॉनिक :

त्रिफला, शहद और देसी गाय के घी का 02:02:01 के अनुपात में मिश्रण तैयार करके उसे शरद पूनम की पूरी रात को चांदनी में रखो, फिर उस मिश्रण को काँच की बाटल में रख लें...

Cont 👇
फिर अगले 40 दिनों तक इस मिश्रण को 11 ग्राम सुबह - शाम लें, आंखें टनाटन, न मोतिया न मोतियाबिंद न लेंस।

बल, सौंदर्य व आयुवर्धक प्रयोग:

शरद पूर्णिमा की चाँदनी में रखे हुए आँवलों के रस 4 चम्मच, शुद्ध शहद 2 चम्मच् व गाय का घी 1 चम्मच मिलाकर नियमित सेवन करें।

👇👇
इससे बल, वर्ण, ओज, कांति व दीर्घायुष्य की प्राप्ति होती है।

नेत्र सुरक्षा के लिए शरद पूर्णिमा का प्रयोग:

वर्षभर आंखें स्वस्थ रहे, इसके लिए शरद पूनम की रात को चन्द्रमा की चांदनी में एक सुई में धागा पिरोने का प्रयास करें, कोई अन्य प्रकाश नहीं होना चाहिए।

👇👇
Read 7 tweets
#Thread
16 सिद्धियाँ विवरण
〰️〰️🌼🌼〰️〰️
1. वाक् सिद्धि : -

जो भी वचन बोले जाए वे व्यवहार में पूर्ण हो, वह वचन कभी व्यर्थ न जाये, प्रत्येक शब्द का महत्वपूर्ण अर्थ हो, वाक् सिद्धि युक्त व्यक्ति में श्राप अरु वरदान देने की क्षमता होती हैं।

Cont 👇
2. दिव्य दृष्टि सिद्धि:-

दिव्यदृष्टि का तात्पर्य हैं कि जिस व्यक्ति के सम्बन्ध में भी चिन्तन किया जाये, उसका भूत, भविष्य और वर्तमान एकदम सामने आ जाये, आगे क्या कार्य करना हैं, कौन सी घटनाएं घटित होने वाली हैं,इसका ज्ञान होने पर व्यक्ति दिव्यदृष्टियुक्त महापुरुष बन जाता हैं।

👇
3. प्रज्ञा सिद्धि : -

प्रज्ञा का तात्पर्य यह हें की मेधा अर्थात स्मरणशक्ति, बुद्धि, ज्ञान इत्यादि! ज्ञान के सम्बंधित सारे विषयों को जो अपनी बुद्धि में समेट लेता हें वह प्रज्ञावान कहलाता हें! जीवन के प्रत्येक क्षेत्र से सम्बंधित ज्ञान के साथ-साथ भीतर एक चेतनापुंज जाग्रत रहता हें।
Read 17 tweets
प्रभु राम मेरी इक विनती सुनो,
भवसागर पार करा दो मुझे,
नहीं चाहिये मुझको भोग विलास,
बस चरण प्रहार से तारो मुझे,
जैसे गौतम की नारी तरी...
@RekhaSharma1511
@Diptiiee
@dixit5_11
@A_shwetanshi_ Image
श्री राम मेरी फिर विनती सुनो,
स्नेह जाल से बांधो मुझे,
हैं किये पाप मैंने अनेक,
गोदी में रख सर सुला दो मुझे,
जैसे जटायु को नींद मिली...
प्रभु राम मेरी फिर विनती सुनो
सेवकचर अपना बना लो मुझे
मैं केवट निषाद सम सेवा करूं
नौका मंझधार से पार लगा दो मेरी..
Read 4 tweets
ईश्वर कृपा क्या है..?

पैसा, आलीशान घर, महंगी गाड़ियां और धन-दौलत ईश्वर कृपा नहीं है।

इस जीवन में अनेक संकट और विपदाएं जो हमारी जानकारी के बिना ही गायब हो जाती हैं, वह ईश्वर कृपा है।

👇👇
कभी-कभी सफ़र के दौरान भीड़ वाली जगह में धक्का-मुक्की के बावजूद हम किसी तरह से गिरते-गिरते बच जाते हैं और संतुलन बना लेते हैं। वह संतुलन जिसने हमें गिरने से बचाया, वह ईश्वर कृपा है।

जब कभी एक समय का भोजन भी मिलना मुश्किल हो, फिर भी हमें पेट भर खाने को मिले, वह ईश्वर कृपा है।
👇
जब आप अनेक मुश्किलों के बोझ तले दबे हों, फिर भी आप इनका सामना करने का सामर्थ्य महसूस करें, वह सामर्थ्य ईश्वर कृपा है।

👇👇
Read 7 tweets
सभी को इतवार को आना है ओर सॉफ़्ट कॉपी के साथ,ताकि रेक्वायअर्मेंट्स एक साथ कम्पाइल हो सके ओर हम सब कमेटी/ @MygovU की मदद कर पाए जिससे हमारे प्रदेश के लिए
शख़्त क़ानून बने
#उत्तराखंड_मांगे_भू_कानून
#Thread
twitter.com/i/spaces/1DXxy…
जब तक नया क़ानून नहि बनता तुरंत प्रभाव से पहाड़ी ज़िलों की कृषि योग्य ज़मीन की बिक्री,ख़रीद, रेजिस्ट्री पूर्ण तरीक़े से बंद हो.
++
#उत्तराखंड_मागें_भू_कानून
कमेटी टाइम बाउंड (30-40 दिन ) हो
जिसने सभी पहलू
पहाड़ियों की संस्कृति
पर्यावरण
कितना पैसा खर्चा होगा
अड्मिनिस्ट्रेशन कैसे करेगा
कितना टाइम लगेगा
++
#उत्तराखंड_मांगे_भू_कानून
Read 11 tweets
Some Unsung Legends of Goswami Tulsidas Ji

खानखाना #अब्दुर्रहीम से गोस्वामी जी की मित्रता थी| कभी गोस्वामी जी ने कहा कि खानखाना भगवान के एकनिष्ठ भक्त हैं| कुछ लोगों को विश्वास नहीं हुआ और परीक्षा लेने को कहा, अतः #गोस्वामी जी ने एक आधा दोहा लिखकर उसे पूर्ण करने के लिए
रहीम के पास भेजा:

धूर उड़ावत सिर धरत कहु रहीम केहि काज?

रहीम ने पूरा किया : जेहि रज #मुनि_पत्नी तरी, सोई खोजत गजराज

अर्थात - हाथी नित्य क्यों अपने सिर पर धूल को उछाल-उछालकर रखता है ? जरा पूछो तो उससे उत्तर है:- जिस धूल से #गौतम ऋषि की पत्नी #अहल्या तर गयी थी, उसे ही गजराज
ढूंढता है कि वह कभी तो मिलेगी

कभी #टोडरमल गोस्वामी जी के पास जागीर का प्रस्ताव ले गये; गोस्वामी जी बोले :

हम तो चाकर #राम के, पटौ लिख्यो दरबार
अब तुलसी का होहिंगे, नर को मनसबदार

राजा #बीरबल मृत्यु को प्राप्त हुए; लोग चर्चा कर रहे थे कि बीरबल बड़े बुद्धिमान थे| गोस्वामी जी
Read 4 tweets
सङ्कटमोचन हनुमानाष्टकम् :-

ततः स तुलसीदासः सस्मार रघुनन्दनम् ।
हनूमन्तं तत्पुरस्तात् तुष्टाव भक्तरक्षणम् ॥ १॥

धनुर्बाण धरोवीरः सीता लक्ष्मण सयुतः ।
रामचन्द्रस्सहायो मां किं करिष्यत्युयं मम ॥ २॥

ॐ हनुमानञ्जनी सूनो वायुपुत्रो महाबलः ।
महालाङ्गूल निक्षेपैर्निहताखिल राक्षसाः ॥ ३॥
श्रीराम हृदयानन्द विपत्तौशरणं तव।
लक्ष्मणे निहिते भूमौ नीत्वा द्रोणाचलं युतम्॥४॥

यया जीवित वा नाद्य ता शक्तिं प्रकटीं कुरु।
येन लङ्केश्वरो वीरो निःशङ्कः विजितस्त्वया॥५॥

दुर्निरीक्ष्योऽपिदेवानी तद्बलं दर्शयाधुना॥६॥

यया लङ्कां प्रविश्य त्वं ज्ञातवान् जानकी स्वयं।
रावणांतः पुरेऽत्युग्रेतां बुद्धिं प्रकटी कुरु॥७॥

रुद्रावतार भक्तार्ति विमोचन महाभुज ।
कपिराज प्रसन्नस्त्वं शरणं तव रक्ष माम् ॥ ८॥

इत्यष्टकं हनुमतः यः पठेत् श्रद्धयान्वितः ।
सर्वकष्ट विनिर्मुक्तो लभते वाञ्च्छितफलम् ॥
Read 4 tweets
नोटबंदीमुळे झालेलं नुकसान भरून काढण्यासाठी, लुटण्यासाठी सत्ता मिळवली.. मग त्यांच्या पासून कायदा आणि सुव्यवस्थेची अपेक्षा करणे मूर्खपणा नाही का ?.. खालील काही मोजकी उदाहरण बघा..
१) एका कॅबिनेट मंत्र्याने त्याला ट्रोल करणाऱ्या युवकाला आपल्या बंगल्यावर नेऊन बेदम मारहाण केली.. त्या मंत्र्याला सरकारने अटक केली होती का ?
२) एका मंत्र्याच्या शोषणाने गर्भवती राहिलेल्या.. युवतीची आत्महत्या/ हत्या झाली.. तो मंत्री जेलमध्ये गेला काय ?
Read 15 tweets
#Thread
श्रावणी उपाकर्म क्यों ज़रूरी है ?

गुरूर्ब्रम्हा गुरूर्विष्णु गुरूर्देवो महेश्वरा:
गुरू साक्षात परब्रम्ह तस्मै श्री गुरूवे नम:

सनातन धर्म मे एक वर्ण व्यवस्था है।जिसमें ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, क्षुद्र ये चार वर्ण है।
सभी वर्णों के कर्म व त्योहार अलग अलग है।

👇👇
जैसे क्षत्रिय का मुख्य त्योहार दशहरा है, वैश्य का दिवाली है,
उसी तरह ब्राम्हण का "श्रावणी उपाकर्म" मुख्य त्योहार है।
वैसे ब्राह्मण को ब्राह्मणत्व मे रहने के लिये निचे दिये गये दैनिक कर्म अत्यावश्यक है....

👇👇
"सन्ध्या स्नानं जपश्चैव देवतानां च पूजनम्।
वैश्वदेवं तथा आतिथ्य षट् कर्माणि दिने दिने।।

जो इस प्रकार है...
संध्या,
स्नान,
जप,
देवता पूजन,
वैश्वदेव बलि,
अतिथि सत्कार,
ये कर्म दैनिक नियम है। इस से हम हमारे पुण्य को बढ़ा कर पाप का क्षय करते है।
@Anshulspiritual

👇👇
Read 12 tweets
क्या आप जानते हैं कि राम जी अपने 14 वर्षों के वनवास के दौरान कहां कहां रहे व उन स्थानों पर क्या क्या घटनायें हुयीं?
कुल पड़ाव इस प्रकार हैं
प्रयाग,चित्रकूट,सतना,रामटेक,पंचवटी,भंडारदारा,तुलजापुर,सुरेबान,कर्दीगुड,कोप्पल,हम्पी,तिरूचरापल्ली,कोडिक्करल,रामनाथपुरम,रामेश्वरम् (भारत)
तीन स्थान वास्गामुवा,दुनुविला एवम् वन्थेरूमुलई ये श्रीलंका में हैं।
नुवारा एलिया एक वो स्थान है जहां से होकर प्रभु श्री राम जी लंका के लिये गुजरे थे।
@JyotiKarma7
@DramaQueenAT
@AgniShikha100
पहला पड़ाव था सिंगरौर जो कि प्रयाग राज से 35 किमी का दूरी पर है यहीं पर केवट प्रसंग हुआ था यह नगर गंगा घाटी के तट पर स्थित है यहीं पर श्री राम जी ने मां सीता के साथ गंगा मां की वन्दना की थी।
Read 18 tweets
लद्दाख झड़प के समय सबसे पहले ordinance factory board के ही 80000 कर्मचारियों ने ही अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा की थी।Ofb फैक्टरियों का समूह है जो भारतीय सेना के लिए गोला-बारूद बनाती हैं।
इसका मुख्यालय कोलकाता में है।
अंग्रेजों के जमाने से ही इसके मजदूर कर्मचारी यूनियन्स पर कम्युनिस्टों का कब्ज़ा है।
सभी कम्युनिस्ट चायनीज कम्युनिस्ट पार्टी #CCP के वफादार होते हैं।शायद यह बड़ी न्युज आप लोगों से छुट गई है, केन्द्र सरकार ने आज लोकसभा में आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक, 2021 को पेश किया है !! ओर कल इसका अध्यादेश भी जारी कर दिया था !!
Read 12 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!