Discover and read the best of Twitter Threads about #देश

Most recents (11)

👉🏾ये भारत का दुर्भाग्य ही है कि :-
#भगत_सिंह को आतंकी कहने वाले को महात्मा बताया गया
#मंदिर में कुरान पढने वाले को बापू का दर्जा दिया गया।
#एक शेरनी ने वहीं पर जब मस्जिद में हनुमान चालीसा करने कहा तो सांप्रदायिकता में गिरफ्तार करवा दिया।
#भारत के दो टुकड़े करने वाला जालिम गाँधी👇🏾
को पूज्यनीय कहा जाने लगा।
#अपनी पोती की उम्र की लड़कियों संग निर्वस्त्र सोकर
सोकर ब्रह्मचर्य की परीक्षा लेने वाला नोट पर जा बैठा।
#कर्मठ पटेल की जगह
स्वार्थी नेहरु को PM बनाने
वाला नीच गाँधी किताबो में पढ़ाया जाने लगा।
#अंग्रेजो के तलवे चाटने वाला देश का चाचा नेहरु बन बैठा।
👇🏾👇🏾
#अंग्रेज महिलाओं संग अवैध सम्बन्ध रखने वाला देश का पहला प्रधानमंत्री बन बैठा।
#चीन व कश्मीर समस्या हेतु
उत्तरदायी नेहरु में पंडित जैसा सम्मानसूचक शब्द जोड़ा गया।
#अत्यधिक सेक्स की बीमारी से मरने वाले हवसी के जन्मदिन को बाल दिवस घोषित किया गया।
#देश को आपातकाल में धकेलने वाली 👇🏾👇🏾
Read 5 tweets
छोटे दुकानदार जब तक बाइक के साथ दो छोटू को नौकरी देना नहीं सीखेंगे, पैकेज़्ड फ़ूड को GST आदि के दायरे में लाने से भी यह मुक़ाबला करने में सक्षम नहीं हो पाएँगे।
Social Media पर चीखपुकार मचाती आबादी के पास इतनी पेयिंग कैपेसिटी है की उन्हें 100 का आटा 105 में मिलेगा तब भी वह
👇
ब्लिंकइट से ही मंगाएँगे। भले गली का बनिया उसे 95 में दे।
अब लोगों को पैसे की चिंता कम है और सुविधा की चिंता ज़्यादा है
छोटे दुकानदार लोगों तक खुद पहुँचें, पर्सनल टच दें अपने सेवा में, व्यवहार और रिश्ता बनाए, निभाएँ, तभी लॉंग रन में यह टिक पाएँगे।ओपन मार्केट इकोनामी के दौर में
👇
योग्यतम ही अंततः जीतता है चाहे अयोग्य को कितना भी घुट्टी पिला दिया जाए।
#देश की अधिकांश आबादी जिसकी पेइंग कैपेसिटी कम है, वह पहले से ही पैकेज़्ड़ फ़ूड से दूर है। अतः इस फ़ैसले से उनके जीवन पर कोई असर नहीं पड़ने वाला।
कुछ लोगों ने कहा की छोटे दुकानदारों ने भी आज़ से ही दाम
👇
Read 8 tweets
जनाब एकबाल जी ने अपनी शायरी में लिखा "मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना।"लेकिन क्या #छमजहब इतना अच्छा है जैसा कि ऊपर कहा गया। #गूगल से कुरान के बारे में जानकारी हासिल की। क़ुरान की शूरा और आयतें मनुष्य की क्रिया कलापों को सही दिशा देने में #सक्षम तो है। लेकिन मजहब से बाहरी1/9
लोगों के प्रति उदार नहीं है। बल्कि यूं कहा जाय कि #मजहब से इतर सोच रखने वालों के लिए #मौत_का_फरमान है। जैसे इस्लाम पर जो ईमान नहीं रखता वो #काफिर है तथा काफिर की सजा घेरो,मारो काटो और जिंदा जला दो।।ये बाते दूसरे धर्मावलंबियों के लिए #सायनाईड से कम नहीं है।यदि किसी मुसलमान2/9
से गहरी दोस्ती है और वक्त की नजाकत के साथ हिन्दू-मुस्लिम #Right छिड़ जाय उस समय आपका मुस्लिम दोस्त आपकों नहीं बचायेगा वही आपका सबसे बड़ा दुश्मन होगा। इसीलिए हम कहते हैं कि #कुत्ते से भी अधिक #खतरनाक मुस्लिम होते हैं। क्योंकि हिंसा ही इनका परम #उद्देश्य उस समय इनका बन जाता है3/9
Read 9 tweets
कल की जनसंघ जो आज की भाजपा है , उसमे जो जितना बड़ा लुटेरा,अपराधी,गुंडा, मवाली,बलात्कारी सब नेता हैं और टैक्स चोर बनियाँ जो हैं वे मिडिया घराने के मालिक हैं, लंपट मवाली सब सम्मानित नेता, रामराज्य के नागरिक हैं..

देश के चौथे खंभे के बारे में ..
1

#देश के आजाद होते ही पनपा मीडिया
माफिया यानी बनिया मालिक -ब्राह्मण संपादक #गठजोड़

दूसरे विश्वयुद्ध को खत्म हुए कुछ ही साल हुए थे..यह विश्वयुद्ध भले ही दुनिया के लिये तबाही लेकर आया हो,लेकिन वरदान साबित हुआ बनियों के लिये,या उन्हीं की तरह पैसे से पैसा बनाने वालों के लिये,जिनकी आटे की चक्की या फुटपाथिया कपड़ेकी
2
दुकान देखते ही देखते औद्योगिक साम्राज्य में बदल गयी..( और वैसे तो बुद्ध के समय से ही भारतवर्ष की केंद्रीय सत्ता किसी भी देशी - विदेशी के हाथ में रही हो, बनिया - ब्राह्मण प्रजाति पर कभी कोई आंच नहीं आयी..)

बीसवीं सदी के इस धनपति वैश्य समाज ने परम्पराओं का निर्वाह करते हुए किसी
3
Read 15 tweets
1.
अथ श्री #ज्ञानवापी कथा...
कथा है ये विध्वंश की! #खूनी_संघर्ष की! #हिन्दुओ के #कत्लेआम की....
🏵️ ई० सन 1669..
#क्वार(अश्विन) का महीना,
तनिक आलस के साथ, धान की फूटती बालियों से उलझ रहा था, कि अचानक उसने देखा-
#गंगा का पानी लाल होने लगा था, वह चौंक उठा !
कुछ ही वर्ष...
Cont...2.
2.
पहले उसने #गंगा को तब लाल होते देखा था, जब #मुगल सैनिकों ने, #विंध्याचल के #विंध्यवासिनी_मंदिर को तोड़ कर वहां के हिन्दुओं का सामूहिक #नरसंहार किया था!
उसे फिर किसी अनहोनी की आशंका हुई,
वह कांपते हुए गंगा की उल्टी दिशा में दौड़ा।
🏵️ गंगा के पाट पर दौड़ता क्वार अभी...
Cont...3.
3.
#काशी से तीन कोस दूर था,
कि चीखों से उसके कान फटने लगे😢
उसके रोंगटे खड़े हो गए,
और मुँह से निकला- तो क्या #बाबा_विश्वनाथ भी😱
काँपता क्वार दूने वेग से दौड़ा!
काशी पहुँचते ही उसने देखा- विश्वनाथ #ज्योतिर्लिंग पर चढ़ाये जाने वाले जल को पुनः गंगा में मिलाने वाली....
Cont....4.
Read 16 tweets
इस 👇#Tweet के सभी भाग को बहुत बारीकी से और ध्यानपूर्वक #पढ़ें

🚩वर्ष 1947 में विभाजन के #उपरांत देश स्वतंत्र हुआ। तदुपरांत #वर्ष 1950 में संविधान लागू हुआ। उस समय कहा गया कि सभी को #समान न्याय मिलेगा। इस कारण सब #अत्याचार भूलकर हिन्दू उसे स्वीकारने के लिए तैयार हो गए..!!
परंतु प्रत्यक्ष में #धर्मनिरपेक्षता के नाम पर अल्पसंख्यकों को सुविधा देकर हिंदुओं का दमन किया जा रहा है। आज मुसलमान अपने ##धर्म के लिए ‘फिदायीन’ बनकर समय पड़ने पर अपने प्राण देने को तैयार हो जाते हैं। ऐसे समय हम हिन्दू #अधिवक्ताओं को भी कानून का अध्ययन कर,
न्यायालय में ‘#फिदायीन’ बनकर हिन्दू को न्याय दिलाने के लिए निःस्वार्थ वृत्ति के साथ #प्राणपण से प्रयास करने चाहिए । देश में बडी संख्या में हिन्दुओं का #धर्मांतरण हो रहा है, इसे रोकना आवश्यक है। इस पृष्ठभूमि पर धर्मांतरण-विरोधी कानून #बनाने के लिए अधिवक्ता प्रयास करें।
Read 14 tweets
(३) विकृत #देश के लक्षण - जिस देश के स्वाभाविक वर्ण, गन्ध, रस, स्पर्श विकृत हो गए हों, अधिक क्लेदयुक्त, साँप, हिंसक जन्तु, मच्छड़, टिड्डी, मक्खियाँ, चूहा, उल्लू, गोध, सियार आदि जन्तुओं से व्याप्त, तृण और फूस से युक्त उपवन वाले, विस्तृत लता आदि से युक्त,

#चरकसंहिता
#महामारी
जैसा पहले कभी नहीं हुआ हो ऐसे गिरे हुये, सूखे हुये, और नष्ट हुए शस्यवाले, धूम युक्त वायुवाले, लगातार शब्द करते हुए पक्षियों के समूह और जहाँ जोर से कुत्ते चिल्लाते हों, अनेक प्रकार के मृग, पक्षी, घबड़ा कर और दुःखित होकर इधर-उधर दौड़ते हों,
छोड़ दिए हैं और नष्ट हो गए हैं #धर्म, #सत्य, #लज्जा, #आचार, #स्वभाव और गुण जिनमें ऐसे #जनपद वाले, जहाँके #जलाशय क्षुब्ध हों और उसमें बड़ी लहरें उठती हों, जहाँ लगातार आकाश से उल्कापात होता हो, बिजली गिरनी हो, भूकम्प होता हो और भयंकर शब्द सुनाई पड़ते हों,
Read 5 tweets
#जनपदोद्ध्वंस [ #Epidemic ] के कारण के विषय में भगवान् आत्रेय से अग्निवेश का प्रश्न -

#अग्निवेश ने कहा ‘एक ही समय में भिन्न-भिन्न प्रकृति, आहार, देह, बल, सात्म्य, मन और आयु के मनुष्यों का जनपदोद्ध्वंस ( #महामारी ) एक ही व्याधि से कैसे होता है ?’

#चरकसंहिता
भगवान् #आत्रेय का उत्तर - प्रकृति आदि भावों के भिन्न होते हुए भी मनुष्यों के जो अन्य #भाव_सामान्य हैं, उनके विकृत होने से एक ही समय में, एक ही समान लक्षण वाले #रोग उत्पन्न होकर #जनपद को नष्ट कर देते हैं। वे ये भाव जनपद में सामान्य होते हैं। जैसे-#वायु, #जल, #देश और #काल
(१) विकृत (रोग पैदा करने वाली) #वायु के लक्षण -

ऋतु के विपरीत, अतिनिश्चल, अति वेग वाली, अत्यन्त कर्कश, अतिशीत, अति उष्ण, अत्यन्त रुक्ष, अत्यन्त अभिष्यन्दी, भयंकर शब्द करने वाली, आपस में टक्कर खाती हुई, अति कुण्डली युक्त , बुरे गन्ध, वाष्प, बालू , धूलि और #धूम से दूषित हुई।
Read 6 tweets
थ्रेड.... Must read...

#कम्युनिस्ट क्या है, कौन है, थोड़ा समझिए..

यदि आपके घर में काम करने वाले नौकर से कोई आकर कहे, कि तुम्हारा मालिक तुमसे ज्यादा क्यों कमा रहा है?

तुम उसके यहां काम मत करो, उसके खिलाफ #आंदोलन करो, उसे मारो और अगर जरूरत पड़े तो #हथियार उठाओ, Image
हथियार मैं ला कर दूंगा👈👈👈 यह सलाह देने वाला व्यक्ति कम्युनिस्ट है..

यदि आपके घर में आपको पलंग से चोट लग जाए तो यह व्यक्ति आकर आपको बोलेगा कि यह घर तुम्हारे लायक नहीं, तुम्हारा #दुश्मन है, इसे तोड़ दो, मैं तुम्हें इससे अच्छा घर दिलाऊंगा👈👈👈यह आदमी कम्युनिस्ट है..
कोई शैतान बच्चा जिसने साल भर पढ़ाई नहीं करी और परीक्षा में उसके फेल होने के पूरे आसार हैं, उसके पास जाकर बोलना कि तुम नकल करो और जो कोई रोके उसे मारो👈👈👈यह सलाह देने वाला कम्युनिस्ट है..

अगर कोई गरीब #मजदूर, जो किसी ठेकेदार या किसी #पुलिस वाले का सताया हो,
Read 6 tweets
#खेळाडूपणा
#थ्रेड
एका शर्यतीत, केनियाचे प्रतिनिधित्व करणारा #धावपटू हाबेल मुताई शर्यतीच्या अंतिम रेषेपासून काही फूट अंतरावर होता, परंतु तो गोंधळून गेला आणि त्याने शर्यत पूर्ण केली असा वाटून धावणे सोडून दिले. स्पॅनिश धावपटू इव्हान फर्नांडिज त्याच्या पाठीमागे होता आणि काय घडत आहे Image
हे लक्षात येताच त्याने हाबेलकडे #धावणे चालू ठेवण्यासाठी ओरडण्यास सुरवात केली, परंतु हाबेलला #स्पॅनिश येत नाही आणि त्याला समजले नाही. म्हणून इव्हान ने अंतिम रेषेजवळ येताच त्याला पुढे ढकलले आणि त्याला #जिंकू दिले.
नंतर एका पत्रकाराने इव्हानला विचारले, "की तू असे का केले?" इव्हानने उत्तर दिले "माझे #स्वप्न आहे की एखाद्या दिवशी आपण अश्या जगात राहू जिकडे लोक आपल्या फायद्यापेक्षा जे बरोबर असेल ते करतील. मी त्याला जिंकू दिले नाही, तो #जिंकणार होता.
Read 5 tweets
जाति न पूछो साधु की, पूछ लीजिये ज्ञान
@DrKumarVishwas @TheSamirAbbas
वो क्या सीखेगा ज्ञान
जो ना करें अपने गुरु का सम्मान
@DrKumarVishwas @TheSamirAbbas आज के दिन हमारे #देश की दो प्रतिष्ठित #विश्वविद्यालय से शर्मसार करने वाले समाचार आए
एक तरफ दिल्ली में स्थित जेएनयू में महान विद्वान व सम्पूर्ण विश्व में हमारे देश एवम् संस्कृति के उस समय के ब्रांड अंबेड्सार स्वामी विवेकानंद को एक राजनीतिक विचारधारा में सीमित करने
का प्रयास हुआ
तो वहीं दूसरी और पवित्र नगरी बनारस के BHU में एक अध्यापक को उसकी जाति/धर्म बता कर उसके अध्यापन रूपी पवित्र कार्य को अपने सीमित राजनीतिक मानसिकता में दूषित किया जा रहा है।
आज इन दोनों घटनाओं इस बात पर प्रकाश डालने की कोशिश की है कि कैसे हमारे विश्वविद्यालय केवल
Read 9 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!