Discover and read the best of Twitter Threads about #धर्म

Most recents (12)

अपनी संतान को दोष न दें
बालक को 'इंग्लिश मीडियम' में पढ़ाया 'अंग्रेजी' बोलना सिखाया 'बर्थ डे' और 'मैरिज एनिवर्सरी
जैंसे जीवन के 'शुभ प्रसंगों' को

👇
Pic 1🚩👇🏻 . Pic 2🚩👇🏻
#जनेऊ 👇🏻 .#JNU 🤑👇🏻
'अंग्रेजी कल्चर' के अनुसार जीने को ही 'श्रेष्ठ' मानकर.
माता-पिता को 'मम्मा' और'डैड' कहना सिखाया.
जब 'अंग्रेजी कल्चर' से परिपूर्णबालक बड़ा होकर, आपको 'समय' नहीं देता, आपकी 'भावनाओं' को नहीं समझता, आप को 'तुच्छ' मानकर 'जुबान लड़ाता' है और आप को बच्चों में कोई 'संस्कार' नजर नहीं
👇
आते हैं, तब घर के वातावरण को दुखी किए बिना' या 'संतान को दोष दिए बिना' कहीं 'एकान्त' में जाकर 'रो लें'
क्योंकि पुत्र की पहली वर्षगांठ से ही,
'भारतीय संस्कारों' के बजाय
'केक' कैंसे काटा जाता है ? सिखाने वाले आप ही हैं,
'हवन कुण्ड में आहुति' कैंसे डाली जाए ये तो कभी सिखाया ही
👇
Read 12 tweets
#धर्म🚩
लाख वेळा मनात विचार येतो की; आपण आता सर्वधर्मसमभाव जोपासायला हवा. स्वतःच्या धर्माला मान देतो तसच इतर धर्मालाही मान द्यायला सुरूवात करायला हवी. कट्टरता टाकून देऊन सहिष्णु व्हायला हवं.

आपल्या धर्माची,आपल्या संस्कृतीची आणि आपल्या पंरंपरेची हिच तर शिकवण आहे. समता,बंधुता आणि
शांतात जपा मग त्यासाठी स्वतःच अस्तित्व ही पणाला लागो. हेच तर आपल्या ऋषीतपस्व्यांनी आणि पुर्वजांनी आपल्याला त्यांच्या कृती,प्रतिकृती तुन शिकवलय..ते जोपासायला हवयं.

कोणाचाही राग नको,तिरस्कार नको. धर्मभेद,विचारभेद नाकरून एकमेकांस समजून घेत,अॅडजेस करत जगुयात..
पण मग अचानक अशी पाषाणात कोरलेली आमची धर्माची पवित्र प्रतिकं समोर येतात. मग समता,बंधुता,शांतता आणि सहजीवनाचा सारा मोह गळून पडतो. भ्रम दूर होतो.

ज्यांनी प्रचंड धर्मांध पणात,धर्म द्वेषात जिवंत माणसां सोबतच निर्जिव पाषाणातील प्रतिकांवर ही हल्ले केलेत. त्यांच्यावर प्रेम करण
Read 6 tweets
*आज एक बहुत विचारणीय पोस्ट आप भी #जरुर पढिये।*

जब मैं किसी #मुस्लिम परिवार के पांच साल के बच्चे को भी बाक़ायदा #नमाज़ पढ़ते देखता हूँ तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। मुस्लिम परिवारों की ये अच्छी चीज़ है कि वो अपना धर्म और अपने संस्कार अपनी अगली 🚩👇
@Sabhapa30724463
@ShashibalaRai12
पीढ़ी में ज़रूर देते हैं। कुछ पुचकार कर तो कुछ डराकर, लेकिन उनकी नींव में अपने बेसिक संस्कार गहरे घुसे होते हैं।

यही ख़ूबसूरती #सिखों में भी है। एक बार छुटपन में मैंने एक सरदार का जूड़ा पकड़ लिया। उसने मुझे उसी वक़्त तेज़ आवाज़ में न सिर्फ समझाया 🚩👇
@KananHTrivedi
@imrachits
ही नहीं,धमकाया भी था।तब बुरा लगा था,लेकिन आज याद करता हूँ तो अच्छा लगता है।

#हिन्दू धर्म चाहें कितना ही अपने पुराने होने का दावा कर ले, पर इसका प्रभाव अब सिर्फ #सरनेम तक सीमित होता जा रहा है।मैं अक्सर देखता हूँ कि मज़ाक में लोग किसी ब्राह्मण की 🚩👇
@Kashi_Ka_Pandit
@naubatrai
Read 14 tweets
1.
#अथ_श्री_महान_भारत_कथा ...
#मोदीजी द्वारा, पीछे हटने का #रहस्य , समझना है तो , #श्रीकृष्ण - बलराम के इस संवाद को समझो 👇👇
🔱 #रथों के पहियों और घोड़ो की टापों से उड़ती धूल के बीच, आंखों से ओझल होते नगर को उन्होंने आखरी बार देखा और हाथ जोड़ अपना अंतिम #प्रणाम किया...🙏
Cont2
2.
"शायद मन ही मन #जन्मभूमि से क्षमा भी मांगी"..!
🔱 तभी कंधे पर हाथ रख #दाऊ ने पूछ लिया...
क्या निर्णय सही है तुम्हारा.?
क्या जिस #क्षत्रियधर्म का तुम दूसरों को ज्ञान देते हो, उसकी #मर्यादा का ये उलंघन नहीं.?
🔱 दाऊ, क्षत्रिय धर्म से ऊपर होता है #राजधर्म ..
और राजधर्म...
Cont3
3.
का अर्थ है, #प्रजा का सुख, उसका #विकास, उसकी #समृद्धि ..
और इसके मार्ग में आने वाले प्रत्येक अवरोध को दूर करना राजा के तौर पर मेरा सर्वप्रथम #कर्तव्य है😑
🔱 हाँ, आज #क्षत्रित्व शायद हारा हो, पर #धर्म पालन हुआ है!
मेरे क्षत्रित्व का भार, प्रजा के कंधों पर नहीं हो सकता!
Cont4
Read 6 tweets
1.
मैं #भारत हूँ🇮🇳🚩❤️💪
🔶 मैं वह भारत हूँ, जिसने पिछले 5000वर्ष में कभी अपने किसी बेटे का नाम #दुशासन नहीं रखा,
"क्योंकि उसने एक स्त्री का अपमान किया था"
🔶 मैं वह भारत हूँ, जो कभी अपने बच्चों को #रावण या #कंस नाम नहीं देता,
"क्योंकि इन्होंने अपने जीवन में स्त्रियों के...
Cont2
2.
साथ दुर्व्यवहार किया था"
🔶 मैं वह भारत हूँ, जहाँ कोई #गांधारी , अपने सौ पुत्रों की मृत्यु के बाद भी #द्रौपदी पर क्रोध नहीं करती, बल्कि अपने बेटों की असभ्यता के लिए क्षमा मांगती है!
🔶 मैं वह भारत हूँ, जहाँ 99% बलात्कारियों को अपना गाँव छोड़ देना पड़ता है,
और उसे धक्का..
Cont3
3.
"कोई और नहीं, खुद उसके खानदान वाले देते हैं"
🔶 मैं वह भारत हूँ, जहाँ गुस्सा आने पर सामान्य बाप, #बेटे को भले लात से मार दे,
"पर #बेटी को थप्पड़ नहीं मारता"
🔶 मैं वह भारत हूँ, जहाँ एक सामान्य बाप अपने समूचे #जीवन की कमाई, अपनी बेटी के लिए "सुखी संसार रचने में खर्च कर...
Cont4
Read 7 tweets
1.
आजकल टीवी पर प्रसारित हो रहा #राधा_कृष्ण सीरियल बहुत घटिया सोच वालों ने, सिर्फ अपनी जेबें भरने के लिए बनाया है!
इसका विरोध करके इसे बंद करवाना चाहिए.. ● इस सीरियल में गलत कहानी दिखाई जा रही है, लेकिन हैरानी की बात है उसका विरोध कोई भी #हिंदू नहीं कर रहा है😴
क्यों?
Cont..2 Image
2.
● इस सीरियल में भगवान #श्रीकृष्ण का चरित्र एक मनचला, फ्लर्ट करने वाले युवक का दिखाया जा रहा है,
जो कि पूरी तरह से आपत्तिजनक है,
बड़े बड़े भाषण देने वाले, वेद पुराणों के परम ज्ञाता साधु संत क्यों चुप्पी साधे हुए हैं?
● इस सीरियल में मनगढ़ंत कहानी बनाकर लोगों को....
Cont...3
3.
दिखाई जा रही है जिसका उद्देश्य सिर्फ मनोरंजन करके पैसे कमाना है!
● सीरियल के अब तक 700 से ज्यादा एपिसोड हो चुके हैं, हर एपिसोड मिर्च मसाला लगाकर बनाया जा रहा है!
सीरियल शुरू होने से पहले एक Disclaimer भी आता है जिसमें लिखा होता है यह सिर्फ मनोरंजन के लिए है
@BablieV
Cont..4
Read 12 tweets
कुछ बाते ना बॉलिवुड
कभी आपको बताएगा ना हमारी स्कूल, कॉलेज की किताबे....
लेकिन हिन्दू #धर्म तो हमारा है, तो बताएंगे भी हम ..

अच्छे से पढ़िए और जानिए और हर थ्रेड को लाइक,RT करे...👇

अकबर प्रतिवर्ष दिल्ली में नौरोज़ का मेला आयोजित करवाता था....!

इसमें पुरुषों का प्रवेश ....2
प्रवेश निषेध था....!

अकबर इस मेले में महिला की वेष-भूषा में जाता था और जो महिला उसे मंत्र मुग्ध कर देती....उसे दासियाँ छल कपट से अकबर के सम्मुख ले जाती थी....!

एक दिन नौरोज़ के मेले में महाराणा प्रताप सिंह की भतीजी, छोटे भाई महाराज शक्तिसिंह की पुत्री मेले की सजावट .....3
देखने के लिए आई....!

जिनका नाम बाईसा किरणदेवी था....!
जिनका विवाह बीकानेर के पृथ्वीराज जी से हुआ था!

बाईसा किरणदेवी की सुंदरता को देखकर अकबर अपने आप पर क़ाबू नहीं रख पाया....और उसने बिना सोचे समझे दासियों के माध्यम से धोखे से ज़नाना महल में बुला लिया....!......4
Read 10 tweets
इस 👇#Tweet के सभी भाग को बहुत बारीकी से और ध्यानपूर्वक #पढ़ें

🚩वर्ष 1947 में विभाजन के #उपरांत देश स्वतंत्र हुआ। तदुपरांत #वर्ष 1950 में संविधान लागू हुआ। उस समय कहा गया कि सभी को #समान न्याय मिलेगा। इस कारण सब #अत्याचार भूलकर हिन्दू उसे स्वीकारने के लिए तैयार हो गए..!!
परंतु प्रत्यक्ष में #धर्मनिरपेक्षता के नाम पर अल्पसंख्यकों को सुविधा देकर हिंदुओं का दमन किया जा रहा है। आज मुसलमान अपने ##धर्म के लिए ‘फिदायीन’ बनकर समय पड़ने पर अपने प्राण देने को तैयार हो जाते हैं। ऐसे समय हम हिन्दू #अधिवक्ताओं को भी कानून का अध्ययन कर,
न्यायालय में ‘#फिदायीन’ बनकर हिन्दू को न्याय दिलाने के लिए निःस्वार्थ वृत्ति के साथ #प्राणपण से प्रयास करने चाहिए । देश में बडी संख्या में हिन्दुओं का #धर्मांतरण हो रहा है, इसे रोकना आवश्यक है। इस पृष्ठभूमि पर धर्मांतरण-विरोधी कानून #बनाने के लिए अधिवक्ता प्रयास करें।
Read 14 tweets
राजा इन ३६ गुणोंसे सम्पन्न होनेकी चेष्टा करे -

१ - #धर्म का आचरण करे , किंतु कटुता न आने दे
२ - #आस्तिक रहते हुए दूसरों के साथ प्रेमका बर्ताव न छोड़े
३ - क्रूरताका आश्रय लिये बिना ही #अर्थ - संग्रह करे
४ - #मर्यादा का अतिक्रमण न करते हुए ही विषयोंको भोगे
सुखकी प्राप्ति करानेवाले छत्तीस गुणोंका वर्णन-

५ - दीनता न लाते हुए ही प्रिय #भाषण करे
६- #शूरवीर बने , किंतु बढ़ - बढ़कर बातें न बनावे
७- #दान दे , परंतु अपात्रको नहीं
८ - #साहसी हो , किंतु निष्ठुर न हो
९- #दुष्टों के साथ मेल न करे
१० - बन्धुओं के साथ लड़ाई - #झगड़ा न ठाने ।
११ - जो राजभक्त न हो , ऐसे #गुप्तचर से काम न ले
१२ - किसीको #कष्ट पहुँचाये बिना ही अपना कार्य करे
१३ - दुष्टोंसे अपना #अभीष्ट कार्य न कहे
१४ - अपने गुणोंका स्वयं ही वर्णन न करे
१५ - श्रेष्ठ पुरुषोंसे उनका #धन न छीने
१६ - नीच पुरुषोंका #आश्रय न ले
Read 7 tweets
नवदुर्गा के 9 रूप बताते हैं स्त्री का संपूर्ण जीवन -:
एक स्त्री के पूरे जीवन चक्र को मां अंबे के 9 रूपों से समझा जा सकता है,नवदुर्गा के नौ स्वरूपों के माध्यम से एक स्त्री का संपूर्ण जीवन प्रतिबिंबित होता है.....जानिये कैसे -------
1. जन्म ग्रहण करती हुई कन्या 'शैलपुत्री' स्वरूप है,

2. कौमार्य अवस्था तक 'ब्रह्मचारिणी' का रूप है,

3. विवाह से पूर्व तक चंद्रमा के समान निर्मल होने से
वह 'चंद्रघंटा' समान है,
Read 7 tweets
संपूर्ण धर्माला एका चष्म्यातून बघु नका..परवा तबलिगी जमातीने जे केल ते नक्कीच चुकीचं होत किंवा त्यानंतर झालेली दगडफेक अथवा डॉक्टरांप्रती केल्या गेलेले बिभित्स व लाजीरवाणं वर्तन निश्र्चितच अक्षम्य..ती घटना समाजजीवनाला काळिमा फासणारी अशीच आहे🙏🏻.मित्रांनो तुम्हीदेखील लहानपणापासून
कोणत्या ना कोणत्यातरी मुस्लीम धर्मीय शिक्षकांच्या हाताखाली शिक्षण घेतलं असेल, ज्यामुळे तुम्ही आजच्या हुद्द्यावर आहात व तुम्ही आयुष्यात जे काही आहात त्यात त्यांचा खारीचा वाटा असेलच.. लहानपणी किंवा आत्ताजरी आजारी पडलात तरी डॉ.मुस्लीम आहे का हिंदू हे न पाहता बिनधास्तपणे उपचारदेखील
घेत असचाल..हीच लवचिकता बाळगायचा प्रयत्न करा..मान्य आहे कट्टरता,अशिक्षितपणा ह्यामुळे समाज भरकटलेला आहे नवीनपणा स्विकारत नाहीय व त्यात तबलिगींचे गुरु त्यांच्या अज्ञानाचा फायदा घेत आहेत.पण गव्हासोबत किडे रगडणे योग्य नाही.सर्वात भयंकर काय असेल तर धार्मिक विष..
Read 5 tweets
Small steps to protect #Dharma
1. Take time to teach your children or those in neighbourhood what you know about #tradition & make them do something related to it practically.
2. Follow daily #Achara , at least few of them (स्नान &सन्ध्या ) with devotion & concentration.
3. Contemplate on the ill effects of following what most people take as norm of modernity. #Depression and #anxiety are almost synonymous to the "modern lifestyle"
4. Put some effort to practice non-greediness if you feel greed of prestige, power or penny is ruling you
5. Take time to look into the inner core of yourself. Is it full of gratefulness for what you are doing/ the life you have got to live ? If answer is no, then something more important is missing in your life. May be you are doing what is not suitable to your #स्वभाव/ #स्वधर्म
Read 10 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!