Discover and read the best of Twitter Threads about #पाकिस्तान

Most recents (8)

#पाकिस्तान

पाकिस्तान नाम का मुल्क कई मायनों में अजूबा है। अजूबा इसलिए है क्योंकि इसके कायम होने की कोई बुनियाद नहीं थी। अब चूँकि कोई बुनियाद नहीं थी तो इस मुल्क ने एक फ़र्ज़ी बुनियाद कायम की और उसके आधार पर खुद को हिंदुस्तान से अलग एक मुल्क के रूप में कायम कर लिया। (1/14)
जिस बुनियाद को उसने अपने अलग वजूद का आधार बनाया वो बुनियाद थी "मजहब" और "मुस्लिम उम्मा" की अवधारणा जो "अल-कुफ़्र-मिल्लतो वाहिदा" के नारे के साथ स्वयं को सारे गैर-इस्लामी जमातों से अलग कर लेती है।

इस बदनसीब मुल्क का दुर्भाग्य ये है कि वो इस "मजहबी बुनियाद" को तीस वर्ष भी (2/14)
कायम नहीं रख सका और उसके टुकड़े हो गए और दुनिया में सबसे नाकाम, बदहाल और आतंकी राष्ट्र के रूप में ये चिन्हित हो गया।

इस मुल्क के दानिश्वरों से पूछिए कि आपके मुल्क की इस बदहाली का कारण क्या है तो वो कहेंगें; साहेब विभाजन के बाद हमसे एक गलती हो गई। हमने अपने दो रूहानी (3/14)
Read 16 tweets
1.
#पंजाब....
यूं तो पंजाब, #किसानआंदोलन की वजह से पिछले एक साल से सुर्खियों में है!
पर आज पंजाब से कई खबरें आईं , कुछ अच्छी तो कुछ निराश करने वाली 😌
पहली खबर #धर्मांतरण से जुड़ी हुई है!
🏵️ पंजाब के सारे धार्मिक संगठन, #ईसाई_मिशनरियों द्वारा चलाये जा रहे धर्मपरिवर्तन...
Cont..2
2.
के खिलाफ एक साथ मैदान में आ गये👍
अकाली दल, SGPG सहित कई और नेताओं ने भी इसके खिलाफ अभियान छेड़ने का भरोसा दिलाया!
👉 पता नहीं, #हिंदू धर्मगुरु और संगठन कब आपसी भेदभाव को छोड़कर ईसाई और मुस्लिम एजेंसियों द्वारा चलाये जा रहे इस घिनौने काम के खिलाफ खड़े होंगे😓
...
Cont...3.
3.
🏵️ दूसरा मामला केंद्र सरकार से जुड़ा हुआ अ!
आज केंद्रीय गृह मंत्रालय ने , #बंगलादेश, #चीन, #पाकिस्तान सहित कई और देशों की सीमा से जुड़े "सीमावर्ती राज्यों" में , #BSF को , तस्करी, घुसपैठ, अवैध हथियारों और नशीली वस्तुओं की आवाजाही को देखते हुए ज्यादा अधिकार दे दिये..
Cont...4.
Read 6 tweets
1.
आज भी पूरे #भारत में, जब #उपनयन_संस्कार होता है,
तो उपनयन (जनेऊ) पहनने के बाद, बच्चा चार कदम #उत्तर की ओर चलता है।
आपने कभी सोचा, कि ये बच्चा चार कदम उत्तर की ओर क्यों जाता है?
👉 क्योंकि उत्तर में #विद्या की देवी मां #सरस्वती का केन्द्र #शारदा_पीठ है।
जब अंग्रेज...
Cont...2.
2.
यहां से गये, तो शारदा पीठ भारत के हिस्से में ही था,
लेकिन बाद में #पाकिस्तान ने उस पर कब्जा कर लिया😢
और अब शारदा पीठ पाकिस्तान का एक #उपेक्षित और #अनपेक्षित सा #खंडहर भर है।
उनके लिए अब उस पीठ का कोई मतलब नहीं, और जिनके लिए मतलब है, उनके पास वो पीठ नहीं...
@BablieV
Cont...3.
3.
भारत में जनेऊ संस्कार होते समय कितने #पंडित ये बात बताते हैं,
कि #विद्याध्ययन के लिए बच्चा चार कदम जो उत्तर की ओर चलता है, तो कहां जाता है?
शायद पंडितों को भी ये बात नहीं मालूम🤔
वो एक #कर्मकांड समझकर इसे निभाते आ रहे हैं....
@gargee99887
@Sabhapa30724463
Cont...4.
Read 6 tweets
श्रीमान @rautsanjay61 विचारतायत की, नेहरूंशी वैर का? राऊतांनी विचारलेल्या प्रश्नाचे उत्तर मी या थ्रेडमध्ये देतोय,
नेहरूंनी त्यांच्या कारकीर्दीत अभिव्यक्ती स्वातंत्र्याची आणि लोकशाही मूल्यांची अनेकदा गळचेपी केली. त्याची ही काही उदाहरणे (१/n)
#Nehru
#Modi
नेहरूंनी केंद्रीय कायदामंत्री #बाबासाहेब #आंबेडकर यांना डावलून गोपालस्वामी अय्यंगार यांच्या हातून कलम ३७०चा मसुदा तयार करून घेतला आणि लोकसभेत बळजबरीने मंजूरही करून घेतला. देशाच्या कायदामंत्र्याला डावलून घटनादुरुस्ती झाल्याची ही भारतातली एकमेव घटना आहे. (२/n)
कलम ३७० हे भारत आणि भारतीयांवर अन्याय करणारे आहे असे #बाबासाहेब #आंबेडकर यांचे ठाम मत होते. कारण, नेहरूंनी जम्मू-काश्मीर विधानसभेला अमर्याद अधिकार देऊ केले होते. (३/n)
Read 31 tweets
#कारगिल युद्ध...५२ दिवस...भारतमातेचे ५२७ सुपुत्र हुतात्मा..आज त्यांच्या आणि त्यांच्यासारख्या इतरांच्या बलिदानामुळेच आपले स्वातंत्र्य अबाधित आहे. या वीरपुत्रांना शतश: नमन. #जयहिंद #जयहिंदकीसेना @adgpi @indiannavy @IAF_MCC
२१ वर्षांपूर्वी बरोबर आजच्याच दिवशी म्हणजेच २६ जुलै १९९९ रोजी भारताने पाकिस्तानी सैन्याच्या ताब्यात असलेले अखेरचे भारतीय ठाणे पुन्हा काबीज केले आणि #कारगिल युद्धात विजय मिळवला. त्यामुळेच २६ जुलै हा कारगिल #विजय दिवस म्हणून साजरा केला जातो.
सुमारे १६ ते १८ हजार फुटांवर साधारण ६० दिवस हे युद्ध चालले. भारताने या युद्धाला #ऑपरेशनविजय असे सांकेतिक नाव दिले होते. तर पाकिस्तानने यालाच #ऑपरेशनबद्र असे संबोधले.
Read 27 tweets
किसने #जहर देकर मारा था लाल बहादुर #शास्त्री जी को ! सच्चाई आई #सामने

कोई भी व्यक्ति जो इस #अंग्रेजो के बनाए हुए सिस्टम में आएगा या तो वह #सिस्टम में लूट करेगा नही तो यह सिस्टम उसे #निकाल के बहार फेंक देगा क्युकी यह सिस्टम लूट को ही पसंद करता है और कुछ पसंद नही है इस सिस्टम को
आप #जानते है ? इस अंग्रेजो के बनाये व्यवस्था तन्त्र में भारत के कई इमानदार लोग गये और #सिस्टम ने उसे बहार फेंक दिया #क्योंकि वो लूट पसंद नही थे. सिस्टम ने फेंक दिया उनको बाहर ! नही #चलने दिया !
दो नाम तो आपके #सामने है एक थे श्री लाल बहादुर शास्त्री और दुसरे थे श्री मुरार जी #देसाई ! दोनों ऐसे प्रधानमंत्री थे जिनकी #ईमानदारी की कसम खायी जा सकती है
शास्त्री जी जब #प्रधानमंत्री बने थे ना धोती फटी हुई थी उनकी !
Read 25 tweets
इस्लामी बर्बरता के पीछे #कपिल_मिश्रा का हाथ!

कपिल मिश्रा ने ही #मोहम्मद_बिन_क़ासिम को 711 ई. में #सिंध हमले के लिए उकसाया था,बाद में #गज़नी, #गौरी, #तैमूर, #औरंगजेब, #अब्दाली, #नादिर_शाह और #पाकिस्तान बनानेवाले जिन्ना को भी उसी ने भड़काया था।

थोड़ा ईमानदार शोध हो तो पता चलेगा. Image
..कि #नालंदा_विश्वविद्यालय को जलानेवाले #बख्तियार_खिलजी और यजीदी महिलाओं के बलात्कार और नरसंहार करनेवाले संत #अबू_अल_बगदादी को भी इस मिश्रा जी ने ही मजबूर किया था। #अलक़ायदा, #तालिबान, #बोकोहरम जैसी न जाने कितनी ही जिहादी तंज़ीमों के पीछे इस मनुवादी का हाथ है,कहना मुश्किल है
👇
देखो तो #मुल्ला_उमर, #ओसामा_बिन_लादेन, #मसू_अज़हर और #वारिस_पठान के चेहरों से कैसा नूर टपकता है लेकिन कपिल मिश्रा तो दूर से ही दैत्याकार भगवा आतंकवादी लगता है।

देर से ही सही,मुसलमानों को यह तो पता चल गया कि पिछले 1300 सालों की इस्लामी बर्बरता के पीछे किस काफिर का हाथ रहा है।
Read 4 tweets
.@ImranKhanPTI जिस "नए #पाकिस्तान" की बात करते है- क्या वह कभी मूर्त रूप लेगा? शायद नहीं, क्योंकि इस इस्लामी राष्ट्र की वैचारिक पृष्ठभूमि- काफिर, कुफ्र और इस्लामी कट्टरवाद के इर्दगिर्द घूमती है।
यदि इन तीनों मूल्यों को पाकिस्तान बरकरार रखता है, तो न ही उसका चरित्र बदलेगा और ना ही भारत व गैर-मुस्लिम (हिंदू सहित) के प्रति व्यवहार में कोई सुधार आएगा। यदि #पाकिस्तान इन मूल्यों का त्याग कर देता है, तब उसके लिए एक अलग राष्ट्र के रूप में जीवित रहने का कोई औचित्य ही नहीं रहेगा।
सच तो यह है कि भारत और उसकी सनातन, बहुलतावादी संस्कृति से स्वयं की अलग पहचान स्थापित करने के लिए ही पाकिस्तान का निर्माण हुआ था, जिसे आज भी "काफिर-कुफ्र" की अवधारणा से प्राणवायु (ऑक्सीजन) मिल रही है- जिसमें गैर-मुस्लिम ही नहीं, अपितु मुस्लिम भी मजहबी उत्पीड़न के शिकार हो रहे है।
Read 6 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!