Discover and read the best of Twitter Threads about #बिचौलियों

Most recents (3)

एक थ्रेड, पूरा जरूर पढ़ें 🙏

डिप्टी कलक्टर आईसीएस #बंकिम_चंद्र का गीत #वंदेमातरम्

पाकिस्तानी मीडिया में मादरे वतन का उल्लेख ख़ूब मिलता है। मादरे वतन यानि मातृभूमि। भारत में जावेद अख़्तर सरीखे मुस्लिम व्यक्ति जब वंदे मातरम कहता है, तो ज़्यादातर लोगों को अच्छा लगता है।
आगे👇
तारिक फ़तह तो #वंदे_मातरम का विरोध करने वालों को अक्सर गरियाते ही रहते हैं। बहर हाल,अभी लगभग सवा सौ साल पहले तक,वंदे मातरम गीत कोई नहीं जानता था। जबकि आज ये गीत अधिसंख्य भारतीयों के लिए अस्मिता और गौरव का प्रतीक बन चुका है।

इस गीत के रचियता #बंकिम_चन्द्र पहले भारतीय आईसीएस थे👇
उन्होंने अनेक किताबें लिखीं, #आनंदमठ से मशहूर हुए। वंदे मातरम गीत इसी उपन्यास का अंश था। अंग्रेज़ों द्वारा इसकी व्याख्या कुछ इस तरह की गई, कि भारत भूमि की वंदना के बहाने यह पुस्तक अंध राष्ट्रवाद को उकसावा देती है। सन् "1882" में पुस्तक प्रकाशित हुई, और ...
आगे👇
Read 13 tweets
#काँग्रेस_के_कुकर्म
#अम्बानी,#अडानी,#बाबा_रामदेव आदि और भी भारतीय उधोगपति #शायद कुछ ज्यादा ही जबर्दस्त मुनाफा कमा रहे हैं...
☝लेकिन जब यही मुनाफा #विदेशी_कम्पनियाँ कमा रहीं थी😠😠😠
☝ तब किसी को #खबर तक नहीं थी,ना ही किसी को कोई #आपत्ति थी।😠😠😠
☝लेकिन...
पूरा पढ़िये👇👇👇
☝अब #विदेशी_कम्पनियाँ यानी (#चीन😠की अधिकतर) औ उनके #एजेंट(ब्रोकर,दलाल) साफ-साफ शब्दों में #देशद्रोही😠,#गद्दार😠,#काँग्रेसी😠,#वामपंथी😠और भी बहुत से भाड़े के टट्टूओं समेत बड़े-बड़े इनके आका #बौखला गए हैं...😠😠😠
☝आप सभी जानते हो क्यों???
☝क्योंकि ये तथाकथित #किसान_आंदोलन की
#परिणीति कुछ इस प्रकार है।

☝1.कई साल से हम लोग इंपोर्टेड"दाल"भी खा रहे थे,शायद दो साल* पहले फिर #मोदीजी❤ने इस पर #रोक लगानी #शुरू कर दी और अब पूरी तरह से #बंद कर दिया।

#कृषि_बिल तो सिर्फ बहाना था एक और असली #किस्सा तो कुछ यूं है कि
☝सन2005 में #मनमोहन😠यानी #RemoteControl
Read 18 tweets
यूपीए -2 के समय #फूड_कारपोरेशन_ऑफ_इंडिया (FCI) का एक प्रोग्राम आया था। हर जिले में PPP मॉडल पर वेयरहाउस खड़े करने का।

इसके तहत MSP पर खरीदे गए अन्न भंडार रखे गए। बदले में प्रति वर्ग फुट किराया मिला। वेयरहाउस खड़े करने में सरकार ने 50%सब्सिडी अलग से दी। करोड़ों का काले को (1/5)
सफेद करने का भी खेल हुआ। इसमें पंजाब और हरियाणा के राजनेता बाजी मार ले गए।यूपी के भी बड़े किसान और राजनेता भी जैसे-तैसे रुपए में दो-चार पैसे झटक ही ले गए।या फिर पार्टनर बन गए। सिंडिकेट के हिस्से।

खैर, अब यदि एमएसपी पर अन्न की खरीद कम होगी तो उधर वेयरहाउस का किराया भी तो (2/5)
कम होगा। हो सकता है, कल खाली वेयरहाउस में चूहे भी ना कूदे। इस बिंदु पर #मंडी_परिषद एफसीआई, नैफेड जैसी संस्थाओं की #असल_भूमिका समझिए।

उत्तर प्रदेश के 36 जिलों में #सुखबीर_एग्रो नाम से वेयरहाउसेस हैं। पचास-पचास एकड़ में। यह नाम ही काफी है, एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे (3/5)
Read 5 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!