Discover and read the best of Twitter Threads about #भारतीय

Most recents (9)

🚩स्वामी विवेकानन्द जी का जन्म 12 जनवरी सन 1863 (विद्वानों के अनुसार #मकर संक्रान्ति संवत 1920) को #कलकत्ता में एक कायस्थ परिवार में हुआ था। उनके बचपन का नाम #नरेन्द्रनाथ दत्त था। पिता विश्वनाथ दत्त कलकत्ता हाईकोर्ट के एक प्रसिद्ध वकील थे।
🚩दुर्गाचरण दत्ता, (नरेंद्र के दादा)
संस्कृत और फारसी के विद्वान थे उन्होंने अपने #परिवार को 25 वर्ष की उम्र में छोड़ दिया और साधु बन गए।
🚩उनकी माता भुवनेश्वरी देवी धार्मिक विचारों की महिला थी। उनका अधिकांश समय भगवान शिव की पूजा-अर्चना में व्यतीत होता था।नरेंद्र के पिता और उनकी माँ के धार्मिक, #प्रगतिशील व तर्कसंगत
रवैये ने उनकी सोच और व्यक्तित्व को आकार देने में मदद की ।
🚩बचपन से ही #नरेन्द्र अत्यन्त कुशाग्र बुद्धि के तो थे ही नटखट भी थे।अपने साथी बच्चों के साथ वे खूब शरारत करते और मौका मिलने पर अपने अध्यापकों के साथ भी शरारत करने से नहीं चूकते थे। उनके घर में नियमपूर्वक रोज पूजा-पाठ होता
Read 48 tweets
क्या आप जानते हैं कि #भारतीय *#पंचांग* प्रणाली के अनुसार, प्रत्येक #वर्ष का एक विशिष्ट नाम होता है?
और यह भी कि प्रत्येक नाम का एक विशिष्ठ अर्थ भी होता है?
प्रति 60 वर्षों को कहते हैं *#संवत्सर*
प्रत्येक नाम 60 साल बाद फिर से आता है। साल आम तौर पर
@Sabhapa30724463
5/1
5/2
मध्य अप्रैल में शुरू होता है।
वर्ष 2019-20 का नाम *#विकारी'* रखा गया था, अर्थात बीमारी जो एक बीमारी वर्ष बनकर अपने नाम पर खरा उतरा! कोविड की शुरुआत 2019 से हुई।
वर्ष 2020-21 का नाम *#शर्वरी'* रखा गया, जिसका अर्थ है *अंधेरा*, और इसने दुनिया को एक अंधेरे चरण में धकेल दिया!
5/3
अब '#प्लावा वर्ष 2021-22 प्रारंभ हो रहा है। '#प्लावा' का अर्थ है, *"पार करा देने वाला*।
*#वराह_संहिता* कहती है: यह दुनिया को असहनीय कठिनाइयों के पार ले जाएगा और हमें एक बेहतर स्थिति तक पहुंचाएगा। यानी अंधेरे से प्रकाश की ओर चलने का समय।
वर्ष 2022-23 का नाम *'शुभकृत'* रखा
Read 5 tweets
यह नीना गुप्ता है इन्हें 2021 के #रामानुजन अवार्ड से सम्मानित किया गया है। ये एकमात्र भारतीय महिला हैं इसे जीतने वाली।

मुझे हैरानी है कि कहीं मीडिया में इस खबर की चर्चा तक नही है, इस बेटी ने दुनियां को गणित में भारत का लोहा मनवाया है। मीडिया वालों जब अधनंगी ब्रह्मांड (1/3) Image
सुंदरी से थोड़ा समय मिल जाए तो #रामानुजन_अवार्ड से सम्मानित #भारतीय #गणितज्ञ नीना गुप्ता की उपलब्धि की भी सुध ले लेना।

पर दुर्भाग्य इसदेश में अधनंगों नशेड़ियों ओर देशद्रोहियों को तो मीडिया कवरेज मिलती है।
पर नीना गुप्ता जैसी बेटियां जो देश का नाम रोशन करती है उन्हें (2/3)
मीडिया कवरेज नही मिलता। खैर आज सोशल मीडिया है हमारे पास इसलिए इस गणितज्ञ बेटी को सम्मान से हम अछुता नही रहने देंगें।

अभिनन्दन #नीनागुप्ता तुम पर गर्व है भारत 🇮🇳को🙏
(3/3)
Read 3 tweets
मुझे कई बार लगता है कि भारतीयता के प्रति कई लोगों के मन में आज भी एक हीन भावना बड़ी गहराई से जमी हुई है। जैसे दीवार पर काई जम जाती है और कई प्रयासों के बाद भी पूरी तरह निकलती नहीं है, वैसे ही शायद यह हीन भावना निकलती नहीं है।

अन्यथा क्या कारण है कि हमारे देश के अधिकांश (1/9)
सेलिब्रिटी, फिल्मकार, अभिनेता, क्रिकेटर, उद्योगपति आदि सभी लोग अधिकांश बातें अक्सर अंग्रेज़ी में ही करते हैं? थोड़ी-बहुत हिन्दी तो बीच-बीच में बोल लेते हैं, लेकिन अधिकांश ट्वीट, पोस्ट, प्रेस कान्फ्रेंस और इंटरव्यू अंग्रेज़ी में ही होते हैं। यहाँ तक कि जब उन्हें आशंका (2/9)
होती है कि दीपावली के पटाखों से प्रदूषण फैलेगा या उनके कुत्ते डर जाएँगे, तो इसकी चिंता जताने के लिए भी वे ट्वीट या पोस्ट अंग्रेज़ी में ही लिखते हैं।

किसी भी समाज की दिशा अधिकांशतः उसका #एलिट_वर्ग ही तय करता है। अधिकतर लोगों का प्रेरणा-स्रोत या आदर्श कोई न कोई सफल, (3/9)
Read 9 tweets
#खतरा की स्त्रीलिङ्ग को #खतरीना कहते हैं?

प्रेस्टीट्यूटों के भोंपू चीख रहे हैं - "भारतीय रीति रिवाज से शादी होने जा रही है। विदेशी सब्जियाँ मँगायी गयी हैं। दूल्हा और दुल्हन स्टेज पर डान्स करेंगे।

खूब बैण्ड बजेगी
भारतीय रीति रिवाज की।

मियाँ बीबी राजी तो क्या करेगा (1/4)
रिवाजी?
रिवाज कोई हो, भारत को सब स्वीकार है। किन्तु प्रेस्टीट्यूटों द्वारा वेस्टर्न को #भारतीय रीति रिवाज क्यों कहा जाता है?

ध्यान रहे, यह wAstern है,wEstern नहीं। WEST में अच्छी चीजें भी हैं जो WASTE में नहीं दिख सकतीं। दूल्हा और दुल्हन स्टेज पर डान्स करें। यह तो (2/4)
पाश्चात्य संस्कृति में भी नहीं है। यह अपसंस्कृति है। हिन्दू उनकी संस्कृति नहीं ले सकते तो अपसंस्कृति लेनी पड़ेगी।

वैटिकन का एजेण्डा प्रेस्टीट्यूटों पर हावी है। सब कुछ प्रायोजित है। हिन्दुओं की ब्रेन वाशिंग चालू है। पुराना सनातनी माल वाश-आउट होने के उपरान्त सेमेटिक माल (3/4)
Read 4 tweets
आजकल लोग बाग पोस्ट कर रहे हैं कि मोदी जी अब बूढ़े एवं नकारे हो चुके हैं इसीलिए अब उनकी जगह अपना नया नेता चुनो।

इसीलिए, ऐसे पोस्ट पर सभी लोग नेता चुन रहे जो उनको सब करके दे।

कुल मिलकर बात ये है कि अटल जी को 2004 में गिराए यही लोग, मोदी जी को लाए 10 वर्ष जम के लात जूता (1/8)
खाने के बाद।

अब 370/35A हटाने, राम मन्दिर का रास्ता बनाने वाले, काशी विश्वनाथ कॉरिडर बनाने वाले, संसार भर में देश की डूबी लुटिया को उठाकर #भारतीय शब्द सम्माजनक बनाने वाले, आतंकवादियों को भारत की सीमा में न घुसने देने वाले, 7 वर्ष में एक भी कहीं आतंकी हमला न होने देने का (2/8)
कार्य करने जैसे सैकड़ों काम करने वाले मोदी से लोगों को अब चिढ़ होने लगी है।

इसीलिए, नया विकल्प खोज रहे हैं और नए विकल्प में योगी जी नंबर एक पर रह रहे हैं। उसी योगी जी को जिसको हिन्दू जनता ने अयोध्या, काशी और मथुरा में अभी कुछ दिन पहले ही नगर पंचायत चुनाव में हरवा कर सपा (3/8)
Read 8 tweets
मुझे कई बार लगता है कि भारतीयता के प्रति कई लोगों के मन में आज भी एक हीन भावना बड़ी गहराई से जमी हुई है। जैसे दीवार पर काई जम जाती है और कई प्रयासों के बाद भी पूरी तरह निकलती नहीं है, वैसे ही शायद यह हीन भावना निकलती नहीं है।

अन्यथा क्या कारण है कि हमारे देश के अधिकांश (1/9)
सेलिब्रिटी, फिल्मकार, अभिनेता, क्रिकेटर, उद्योगपति आदि सभी लोग अधिकांश बातें अक्सर अंग्रेज़ी में ही करते हैं? थोड़ी-बहुत हिन्दी तो बीच-बीच में बोल लेते हैं, लेकिन अधिकांश ट्वीट, पोस्ट, प्रेस कान्फ्रेंस और इंटरव्यू अंग्रेज़ी में ही होते हैं। यहाँ तक कि जब उन्हें आशंका होती (2/9)
है कि दीपावली के पटाखों से प्रदूषण फैलेगा या उनके कुत्ते डर जाएँगे, तो इसकी चिंता जताने के लिए भी वे ट्वीट या पोस्ट अंग्रेज़ी में ही लिखते हैं।

किसी भी समाज की दिशा अधिकांशतः उसका #एलिट_वर्ग ही तय करता है। अधिकतर लोगों का प्रेरणा-स्रोत या आदर्श कोई न कोई सफल, प्रसिद्ध, (3/9)
Read 9 tweets
1.
🏵️ पहली बार #मोदीजी को, #फ्रंटफुट पर बैटिंग करते देख रहा हूँ👌👌
यह बहुत #रिस्की है , और अगर #शॉट "मिस" हुआ तो...
#चीन के साथ साथ, #भारत की बर्बादी भी तय है😴
👉 तो बात यूं है कि, चीन के साथ 13वें दौर की #वार्ता , बिना किसी ठोस नतीजे के समाप्त हो गयी है।
हालांकि ऐसा...
👇👇2. ImageImage
2.
पहले भी कई बार हुआ है,
और दोनों देशों द्वारा, "वार्ता की समाप्ति पर" प्रेस को साझा बयान ही जारी किया जाता रहा है।
🏵️ लेकिन, इस बार #चीन ने कहा है कि #भारत बहुत ज्यादा और अनुचित मांग रहा है!
और भारत ने कहा है कि "चीन को पीछे हटना ही होगा"!
नहीं तो भारत #बफर_जोन ....
👇👇3.
3.
को नहीं मानेगा!
और चीन से #जबरदस्ती जगह खाली कराएगा।
🏵️ अब इस बयान के बाद मेरे अपने "मतानुसार', चीन और भारत दोनों के पास #युद्ध के अलावा और कोई #विकल्प नहीं रह जाता🤔
चीनी नेतृत्व पहले से ही, अपनी घरेलू समस्याओं के चलते बहुत बड़ी मुश्किलों में फंसा हुआ है!
ऐसे में कहीं.
👇👇4.
Read 6 tweets
भारतीय संस्कृति में स्वच्छता
स्नानाचारविहीनस्य सर्वा:स्यु: निष्फला: क्रिया: (वाधूलस्मृति 69)
स्नान और शुद्ध आचार के बिना सभी कार्य निष्फल हो जाते हैं, अतः: सभी कार्य स्नान करके शुद्ध होकर करने चाहिए।
#स्वच्छ
#करोना_वायरस #bathing #गद्य_कृति
तथा न अन्यधृतं धार्यम्
(महाभारत अनु.104/86)

दूसरों के पहने कपड़े नहीं पहनने चाहिए।
धृत वस्त्र
घ्राणास्ये वाससाच्छाद्य मलमूत्रं त्यजेत् बुध:। (वाधूलस्मृति 9)
नियम्य प्रयतो वाचं संवीताङ्गोऽवगुण्ठित:।
(मनुस्मृति 4/49)

नाक, मुंह तथा सिर को ढ़ककर, मौन रहकर मल मूत्र का त्याग करना चाहिए।
Read 19 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!