Discover and read the best of Twitter Threads about #सरकारी

Most recents (4)

श्री @narendramodi जी @nsitharaman जी
अगर आप चाहते है की जनता बैंक में पैसा जमा रखे #fixedDeposit करे #काला_धन बाहर निकाले टैक्स चोरी रुक जाए तो आपको #FD का ब्याज कम से कम पिछले 15-20 साल पहले जो था वो लाना पड़ेगा लगभग 10-11% क्योंकि अब FD का ब्याज तो #महंगाई दर से नीचे है
और इसके चलते हम बैंक मे पैसा कभी रखना नहीं चाहते और ख़ास कर #सरकारी बैंक जाह तो देख कर भी यही लगता है की पैसा डूबने गया है ब्याज इतना तो दो की जनता को लालच हो पैसा बैंक में रखने का.।
अन्य देशों में स्टॉक मार्केट से ज़्यादा पब्लिक बैंक bonds पर पैसे लगती है जिससे सरकार के पास...👇🏻
कभी funds की कमी नहीं होती पर हमारे देश में सरकार पैसे के लिए लोन लेती है जबकि देश के अंदर इतना पैसा है की हम ना जाने कितने देशों को पाल लेंगे पर सरकार की ये बेवक़ूफ़ी के कारण हम क़र्ज़े में है अगर आप #FD और goverment बांड्ज़ का ROI 10-12% करके रखेंगे तो जनता कभी भी स्टॉक्स ..👇🏻
Read 4 tweets
1.
कमाल #एक_गिलास_पानी...का ...
👉 उस #सरकारी कार्यालय में, लंबी लाइन लगी हुई थी!
खिड़की पर जो #क्लर्क बैठा हुआ था, वह तल्ख़ मिजाज़ का था और सभी से तेज़ स्वर में बात कर रहा था!
उस समय भी एक महिला को डांटते हुए वह कह रहा था, "आपको ज़रा भी पता नहीं है क्या" ?
यह #फॉर्म..
Cont...2.
2.
...भर कर लायीं हैं?
कुछ भी सही नहीं😏
सरकार ने फॉर्म #फ्री कर रखा है तो कुछ भी भर दो, जेब का पैसा लगता तो दस लोगों से पूछ कर भरतीं आप।"
👉 एक #व्यक्ति पंक्ति में पीछे खड़ा काफी देर से यह देख रहा था,
वह पंक्ति से बाहर निकल कर, पीछे के रास्ते से उस क्लर्क के पास....
Cont....3.
3.
.. खड़ा हो गया और वहीँ रखे #मटके से पानी का एक गिलास भरकर उस क्लर्क की तरफ बढ़ा दिया!
#क्लर्क ने उस व्यक्ति की तरफ आँखें तरेर कर देखा और गर्दन उचका कर, जोर से पूछा –‘क्या है?
👉 उस व्यक्ति ने कहा, "सर, काफी देर से आप बोल रहे हैं, गला सूख गया होगा, पानी पी लीजिये...
Cont...4.
Read 7 tweets
साभार एक फेसबुक मित्र की कलम से

#सरकारी बनाम #निजीकरण। (विचारों का तारतम्य न खोजे, जो महसूस किया वैसा लिख रहा हूँ।)

भारत में व्यक्ति पूजा एवं उनका #महिमामंडन भी खूब होता है तथा साथ ही कुछ काले धब्बों को दिखाकर एक अच्छी-खासी #संस्था का #मानमर्दन भी खूब होता है
जैसाकि वर्तमान में सरकारी संस्थाओं के बारे में किया जा रहा है।

बहुसंख्यक अपने दुख से दुखी नहीं होता है अपितु दूसरों को सुखी देखकर ज्यादे दुखी होता है और जनता की इसी दुर्बलता भरी भावना का लाभ उठाते हुए सरकारें अपनी गलत नीतियों को enforce कराती हैं
क्योंकि बहुसंख्यक गलत होता हुआ देखते हुए भी सरकार के गलत नीतियों के समर्थन या मौन समर्थन में होता है।
नोटबंदी से अधिकतर इस बात से खुश थें कि हमारा क्या जायेगा?, जिसके पास है वही तो बर्बाद होगा।
#पेंशन बंद होने से बहुसंख्यक इस बात से खुश हैं कि कौन सी हमको मिल रही थी?
Read 15 tweets
थ्रेड:-#सरकारी और सार्वजनिक संस्थानों की निजीकरण यानि निजी हाथों में बिक्री सही है।

देश की आर्थिक स्थिति जर्जर हो गयी,जीडीपी (-23.9%) हो गई,विगत 45वर्षों में सर्वाधिक बेरोजगारी,नई नौकरियाँ मिलनी तो दूर,लोगों की लगी हुई नौकरियां जा रही,अभी हाल हीं में मंडल जी से बात हुई थी।
1/2
देश के प्रमुख निजी बैंक में बड़े रौबदार पद पर थे,जब से कोरोना हुआ,ड्यूटी वर्क फ्रॉम होम आवंटित कर दिया,3माह नहीं हुये घर से काम किये,रात में 9बजे मेल आयी,मोबाइल का नोटिफिकेशन देखा,अवाक रह गये, बड़े-बड़े और मोटे-मोटे अक्षरों में लिखा था,

"You are Fired from this Job"

2/n
बेचारे पूरी रात सो नहीं पाये,15साल इस कम्पनी को दिया था,अच्छी खासी तनख्वाह थी,दो-दो लोन लिये थे,अब कैसे चुकायेंगे,बच्चों का पालन पोषण कैसे होगा,जैसे अनगिनत सवाल,मन में उत्तपन्न हो रहे थे,यही सवाल बदरुआ और सरोज जैसे लाखों-करोड़ों युवाओं के मन में उठ रहा था।
3/n
Read 26 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!