Milind Profile picture
स्वतंत्रतासमर मे 1857 को पहिली गोली और 1948 को आखरी गोली ये दोनो गोलिया चलानेवाले महापुरुष मुझे आदरणीय है। भारतमाता की जय, जय हिंद, वंदे मातरम
Umed Mehta #a citizen 🇮🇳 Profile picture Santosh Gadekar Profile picture Vidhydhar Benare 🇮🇳 IN Profile picture 3 added to My Authors
21 Jul
सब कितना बढ़िया चल रहा था ! हिन्दू मजारों पर चादर चढ़ाता था, कभी कभी गोवा के चर्च भी चला जाता था और मंदिरों के रखरखाव की बुराई करता था ! अपने देवी देवताओं पर बने जोक्स सुनता सुनाता था ! "कृष्ण भगवान को चड्डी चोर सुनकर,दांत फाड़ फाड़ कर, खूब हंसता भी था"।
बॉलीवुड की फिल्मो में अपने रीति रिवाजो,संस्कारों की धज्जीया उड़ते देख बुरा भी नही मानता था!अपने ईश के स्वरुप का मजाक बनते देख भी शांत ही रहता था। फिल्मो मे दिखाए जाने वाली अर्धनग्न हीरोइनो की तरह अब अपनी पत्नी,बेटी,बहन को भी ऐसे कपड़े पहनकर,अर्धनग्न देखने का भी आदि हो
गया था।
हिन्दू की होली पर भले ही ईमान के चक्कर मे शांतिप्रिय कौम रंग न लगवाए,लेकिन हिन्दू ,मीठी ईद पर शेवया बकरा ईद पर बकरा उधेड़ने खूब जाता था।
राम मंदिर की जगह हॉस्पिटल बनाने को भी सही मानता था। सब कितनी ख़ुशी ख़ुशी मिलजुल कर रह रहे थे।
Read 7 tweets
20 Jul
मैं पहले भी कह चुका हूँ और बार बार कहता हूँ कि सरकार में बैठे लोग खुद से बहुत कुछ करना चाहते हैं पर नही कर सकते है।वो चाहते है कि जनता मांग करे और तब वह यह काम करे।जनता ही नहीं चाहेगी तो सरकार क्या करेगी, क्यों करेगी,इसीलिए मैं कहता हूँ कि सरकार पर दबाव बनाइये, सरकार
भी चाहती है कि जनता जागे क्यों कि जनता हमेशा रहती है जबकि सरकार केवल 5 साल

सोचिये हेमन्त विस्वा सरमा जी ने क्या कहा और क्यों कहा

सरकार तैयार है करने को, क्या आप तैयार है दबाव बनाने को ?
Read 4 tweets
19 Jul
" बख्तियार खिलज़ी तू ज्ञान के मंदिर नालंदा को जलाकर कामरूप (आसाम) की धरती पर आया है...अगर तू और तेरा 1 भी सिपाही ब्रह्मपुत्र को पार कर सका तो मां चंडी (कामातेश्वरी) की सौगंध
"मैं जीते-जी अग्नि समाधि ले लूंगा...राजा पृथुदेव"
27/3/1206 को आसाम की धरती पर एक ऐसी लड़ाई लड़ी गई जो मानव अस्मिता के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में अंकित है। 1 ऐसी लड़ाई जिसमें किसी फौज़ के फौज़ी लड़ने आए तो 12K और जिन्दा बचे सिर्फ 100,जिन लोगो ने युद्धों के इतिहास को पढे है वे जानते हैं कि जब कोई 2
फौज़ लड़ती है तो कोई 1 फौज़ या तो बीच में ही हार मान कर भाग जाती है या समर्पण करती है,लेकिन 12 K लड़े और बचे सिर्फ 100 वो भी घायल,ऐसी मिसाल दुनिया भर के इतिहास में संभवतः कोई नही।
आज भी गौहाटी के पास वो शिलालेख मौजूद है जिस पर इस लड़ाई के बारे में लिखा है।
Read 11 tweets
19 Jul
दिपकजी,
टकल्या की गेम बजनेवाली है,इस बात का इल्म सबको हो चुका था
नथुरामजींने गोलीया दागी और वो वही खडे रहे।
घटना के उपर गौर किजीए
ऊस वक्त SM नही था,फिर भी महज 2 घंटे के भीतर महाराष्ट्र मे ब्राह्मण हत्या शूरू हो गयी
टकले,गंजे का PM भी किया नही गया जो कानुनन
जरुरी है।
इस तथाकथित दंगे पर कुछ प्रश्न उठते है
उन्हें देखते है
1)mkg की हत्या होती है,और अचानक पूरे महाराष्ट्र को पता लग जाता है कि उसके हत्यारे नथूरामजी गोडसे साब है, जो कि 1 चितपावन ब्राह्मण है ।
और ये 1948 की बात है।जब न घर घर TV होती थी,नाही रेडिओ, और नाही अखबार
फिर ये कौनसी सूचना प्रणाली थी जिसने हर जिले ,गांव और घर में ये सूचना इतनी जल्दी प्रसारित की थी ।
2)चितपावन ब्राह्मण सिर्फ महाराष्ट्र में ही नही बल्कि UP,MPऔर कर्नाटक में भी रहते थे।लेकिन दंगे सिर्फ महाराष्ट्र में ही हुए ।
Read 25 tweets
17 Jul
तालिबान ने रॉयटर्स के फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी को घुटनों के बल बिठाया तथा उसकी पीठ मे गोली मारकर हत्या कर दी।
दानिश सिद्दीकी जीवनभर हिंदुओं को फॅसिस्ट बताता रहा लेकिन हिंदुओं ने कभी उसे परेशान नहीं किया. जिस मोदी सरकार को वह फॅसिस्ट बताता रहा,उस मोदी सरकार ने उसे कभी
1 शब्द तक नहीं बोला बल्कि उसे समय समय पर अवॉर्ड जरूर मिलते रहे.लेकिन जब दानिश का सामना असली फॅसिस्टों से हुआ तो 2 दिन में ही मार दिए गए.
अब लिब्रान्डू कह रहे हैं कि दानिश की मरने वाली तस्वीर को वायरल मत करो.ये ठीक नही होता. रियली? क्या सच में ये ठीक नही होता?
तब फिर दानिश सिद्दीकी ने क्या किया था? कोरोना काल मे शमशान मे जलती चिताओं की फोटो वायरल कर रहा था,क्या वो ठीक था?जलती चिताओं की तस्वीरे डालकर दानिश अट्टहास कर रहा था.ड्रोन से शमशान मे जलती चिताओं की ऐसी तस्वीरें पब्लिश की जिन्हें विदेशी मीडिया ने खूब भुनाया तथा भारत की
Read 15 tweets
16 Jul
मार्च,1995 में एक फिल्म रिलीज हुई थी 'Bombay'
राम जन्मभूमि आंदोलन की पृष्ठभूमि पर बनी ये फिल्म एक प्रेमकथा थी
कुछ भी 'Abnormal' नहीं था इस फिल्म में, अगर हम फिल्म की पटकथा, स्क़ीन-प्ले की बात करें तो
लेकिन फिल्म रिलीज होते ही बवाल मच गया पूरे देश मे,कारण क्या था?
फिल्म की हीरोइन 'मुस्लिम' थी मेंरा मतलब हिरोइन का किरदार निभाने वाली अदाकारा नहीं (वो तो मनीषा कोईराला थी)पर फिल्म में प्रेम करने वाली लडकी 'मुस्लिम'थी,और लडका 'हिन्दू'और यही सबसे बडा 'जुर्म' था, मुसलमानों की निगाहों में
दंगे भडक उठे, पूरे देश में फिल्म की स्क़ीनिंग रुकवा दी
नारे लगाती हुई शांतिदुत भीड नें कई छोटे शहरों में तो भीड सिनेमाघर के अंदर घुस गई और तोड़फोड़ की ,मामला अदालत पहुँचा, और 7 दिनों के लिए फिल्म पर रोक लगा दी गई
3 लोगों की 1 मुस्लिम कमेटी को फिल्म दिखाई गयी (उनमें से 1 'रजा एकेडमी', मुबंई का था ) तीनों नें मुंबई पोलिस की सुरक्षा
Read 10 tweets
14 Jul
मुद्दा यह नहीं है कि कश्मीर में 12 सरकारी कर्मचारियो को नौकरी से निकाला गया।मुद्दा यह है कि इनमे से 2 कुख्यात जेहादी सलाहुद्दीन के बेटे थे मुद्दा यह है कि इनको नौकरी दी कैसे गयी?कश्मीर में जेहाद के लिए क्या-क्या समझौते किए गए?
देश मे सरकारी नौकरी से पहले एक पुलिस-वेरिफिकेशन नाम
की भी चीज होती है।उसका क्या खौफ होता है,यह किसी सरकारी नौकर से पूछिए।फिर भी वे नौकरी तक पहुँचे कैसे?
मुद्दा यह नही है कि लखनौ के काकोरी क्षेत्र मे ATS की कार्यवाही मे अलकायदा के 2 आतंकवादी गिरफ्तार हुये है,और उनके पास से पर्याप्त मात्रा में विस्फोटक आदि मिले है,
मुद्दा यह है कि उन दोनो आतंकवादियो के परिवार या रिश्तेदारो या पड़ोसियो या किसी भी परिचित ने इस विषय मे पुलिस को कभी कुछ नही बताया. यही 1 सबसे बड़ा कारण है कि धीरे धीरे सभी हिन्दुओ का विश्वास समाप्त होता जा रहा है शांतिदुत समाज पर से.
Read 5 tweets
4 Jul
ये जनाब है यासीन मलिक @INCIndia के जमाने मे इनकी तूती बोलती थी। कॅबिनेट मिनिस्टर याने सोन्या, आऊल के गुलाम इसका पिछवाड़ा सांफ करते थे। इसकी उपलब्धि यह थी कि यह कश्मीरी अलगाववादी नेता था,हाफिज सईद और अजहर के साथ उठना बैठना था,पाकिस्तान का हितचिंतक था और भारत के टुकड़े टुकड़े करने
के रात दिन स्वप्न देखता था।काँग्रेस इसकी मेहमान नवाजी ऐसे करती थी कि इसे आने ले जाने हेतु चार्टर्ड हवाई जहाज होते थे,दिल्ली मे 5 स्टार हॉटेल मे इस मदरसाछाप की रहने ठहरने की व्यवस्था होती थी और यह सारा खर्च सरकारी तिजोरी से होता था। इतना ही नही ये मादरजात दुनिया मे कही भी जाता
तो इसका पूरा खर्च भारत सरकार करती थी और ये वहां जाकर भारत विरोधी गतिविधियां करता था।काँग्रेस को लगता था कि कश्मीर भारत का अंग इन हरामियों के मेहमाननवाजी के कारण है,और बदले मे ये काँग्रेसीयो के इशारे पर पाकिस्तान द्वारा भारत मे आतंकी हमले करवाने में उनकी सहायता करता था।
Read 5 tweets
4 Jul
*🚩चर्च मे 993मासूम बच्चों का किया यौनशोषण*
*सेक्युलर और मीडिया मौन!*
29/6/2021
azaadbharat.org
*🚩जब भी किसी पवित्र हिंदू साधु-संत पर कोई झूठा आरोप लगता है तो इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया इस तरह खबर चलाती है कि जैसे SC मे अपराध सिद्ध हो गया हो,सेक्युलर भी जोरो
से चिल्लाने लगते है,और हिंदू धर्म पर टिप्पणिया करने लगते है।सबसे बड़ी बात तो यह है कि इल्जाम लगते ही न्यूज चालू हो जाती है,अनेक झूठी कहानियां बन जाती है।इससे तो यह सिद्ध होता है कि मीडिया को इस बात का पहले ही पता होता है कि कौनसे हिन्दू साधु-संत पर कौनसा इल्जाम लगने वाला
है,और उनके खिलाफ किस तरीके से झूठी कहानियां बनाकर खबरे चलानी है?ऐसा लगता है यह सब पहले से ही तय कर लिया जाता होगा!
वही दूसरी ओर किसी मौलवी या पादरी पर आरोप सिद्ध हो जाये,तब भी न मीडिया खबर दिखाती है और ना ही सेक्युलर कुछ बोलते है।इससे साफ होता है कि ये gang केवल हिंदुत्व
Read 12 tweets
3 Jul
*पोस्टमॉर्टेम शांतिदुतो के पारिवारिक संबधो पर*
🤔🤔😊😊🤣🤣🤣
*सलीम ने अपने बेटे की शादी की।*
*सलीम की पत्नी मर चुकी थी।सलीम थोडे पैसे वाला था।*
*सलीम के बेटे की साली सुंदर थी‌।सलीम का दिल उस पर आ गया.वो सब गरीब थे तो सलीम ने बेटे के साली से शादी कर ली जो कि जायज है।*
*कालांतर में सलीम को दूसरी बीवी से
(बेटे की साली) 1 बेटा हुआ और उसके बेटे को बेटी हुई।*
*फिर सलीम के दूसरे बेटे की उसके पहले बेटे के बेटी से शादी हो गई जो कि जायज है।*
*अब इन दोनो को एक बेटी हुई इस बीच सलीम के पहले बेटे ने एक और बेटा पैदा कर दिया।*
बाद में इन दोनो की शादी हो गई जो कि जायज है इनको भी फिर एक बेटा पैदा हुआ
तो आपको यह बताना है कि सलीम का इस लड़के से क्‍या रिश्‍ता है.
जो बता दे उसे 2दिन और 3रातों के लिए जहा मन करे वहा ट्रिप पर भेजने का इंतजाम किया है
@caatfeesh @PPhanje @kolhapuri_MH09 @Sonal_Rv @Rohini_indo_aus
Read 4 tweets
3 Jul
बापू, आप इन प्रश्नो के उत्तर दीजिए
पता है मुझे के जवाब नही है आपके पास

1)आप लंडन मे रहकर बिना किसी परेशानी के गोरो के साथ पढ़ते,होस्टल के 1कमरे मे रहते है,1 मेस में खाते है।
फिर अचानक ट्रेन मे 1 साथ सफर करते वक्त बाहर "फेक" दिए जाते है?क्यूँ? ये बात कतई हजम नही हुई।
2)उन्हीं गोरों की सेना मे सार्जेंट मेजर बनते है और द.आफ्रीका मे "बोर वॉर"में आपकी तैनाती एम्बुलेंस यूनिट में होती है जहां आप लड़ाई मे गोरों का कालों के विरूद्ध साथ देते है।मिलिट्री यूनिफॉर्म मे आपकी की फोटो पूरे इंटरनेट उपलब्ध है। सार्जेंट मेजर गांधी लिखकर सर्च कर लीजिए।
3)फिर आप मे अचानक 46 वर्ष की उम्र मे 1915 मे देशप्रेम जागा और मिलिट्री युनिफॉर्म उतारकर आपको बैरिस्टर घोषित कर दिया गया।
(राणी लक्ष्मी बाई, खुदीराम बोस, बिस्मिल, भगतसिंह और आजाद जैसे अनेकों देशभक्तों की 25 की उम्र आते आते तक शहादत हो गई थी।)
Read 15 tweets
2 Jul
अब आयेगा असली मजा
खेल का क्लायमॅक्स शूरू हो गया।
UP के गोरखपूर के बाबाजी कहीन।
कानपुर से पैसा सीधा पाकिस्तान जा रहा है?
कानपुर मे 7 जून को पूरे दिन कानपुर पुलिस ने बाबूपुरवा इलाके में पूछताछ की।दरअसल यहां पर एक विशेष समुदाय के लोगों ने कुछ पारदर्शी डोनेशन बॉक्स लगा रखे है।
इन बॉक्सेस मे लोग डोनेशन देते है,लेकिन सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति के प्रवक्ता सूफी मोहम्मद कौसर हसन मजीदी ने कानपुर पुलिस में शिकायत दर्ज की है कि जो पैसा डोनेशन बॉक्स में डाला जा रहा है,वो सारा पैसा पाक की कट्टरपंथी संस्था दावते इस्लामी के पास जा रहा है।
इन डोनेशन बॉक्स पर दावते इस्लामी का नाम भी लिखा हुआ है।दावते इस्लामी का हिंदी में अर्थ है, इस्लाम की दावत।इस्लाम की दावत का मतलब गैर मुसलमानों को धर्मांतरण करके इस्लाम अपनाने का निमंत्रण ही होता है।
शिकायत के बाद कानपुर की पुलिस एक्टिव हो गई है।कानपुर पुलिस ने फैसला किया है कि
Read 5 tweets
2 Jul
विंग कमांडर अभिनंदन का नाम तो आप निश्चय ही नहीं भूले होंगे. शायद उनकी ’हैंडल बार’मूछें भी याद ही होंगी.
लेकिन इसी भारतीय वायु सेना के कुछ अन्य जांबाज़ पायलट के नाम मैंने नीचे लिखे हैं. इनकी तस्वीरें देखना तो दूर, हममें से कोई एकाध ही होगा जिसने ये नाम सुन रखे होंगे.
लेकिन इनका रिश्ता अभिनंदन से बड़ा ही गहरा है. पढ़िए ये नाम.
विंग कमांडर हरशरण सिंह डंडोस
स्क्वाड्रन लीडर मोहिंदर कुमार जैन
स्क्वाड्रन लीडर J.M. मिस्त्री
स्क्वाड्रन लीडर J. D. कुमार
स्क्वाड्रन लीडर देव प्रसाद चटर्जी
फ्लाइट लेफ्टनंट सुधीर गोस्वामी
फ्लाइट लेफ्टनंट वी वी तांबे
फ्लाइट लेफ्टनंट नागास्वामी शंकर
फ्लाइट लेफ्टनंट R. M.आडवाणी
फ्लाइट लेफ्टनंट मनोहर पुरोहित
फ्लाइट लेफ्टनंट तन्मय सिंह डंडोस
फ्लाइट लेफ्टनंट बाबुल गुहा
फ्लाइट लेफ्टनंट सुरेश चंद्र संदल
Read 10 tweets
2 Jul
🔴 *अमित शहांच्या मुलाची प्रॉपर्टी 10 पटींनी वाढली,पण ED त्यांची चौकशी करणार नाही
इति @NANA_PATOLE

नाना तुम्हाला "द वायर" माहितीय ना?
अस्संच काहीसं छापलं
कोर्टात 200 कोटींचा दावा जय शहा ने टाकला होता
दाती तृण धरून माफी मागितली
तुम्ही लोकं कोर्टात का जात नाहीत?
म्हणजेच काहीतरी
बेकायदेशीर करता ना?
जय शहा काहीही बेकायदेशीर करत नव्हता.त्याच्यावर आळ घेतल्यावर तो तुम्हा लोकांसारखे प्रत्यारोप करत नाही बसला,कोर्टात जाऊन दावा ठोकला.
कर नाही त्याला डर कशाला?
आता जी काही भागम् भाग चालू आहे त्यातील 1 ही कोर्टात जायला तयार का नाही?
भारतीय न्यायव्यवस्था तुम्हाला
आता खात्रीची वाटत नाही?तुमची सत्ता असताना वाटत होती.तुमचेच सरकार असताना मोदिशांच्या मागे ससेमिरा लावला होता,तुमचेच सरकार असताना कोर्टात त्यांना क्लिन चिट मिळाली,कारण सत्याचाच अखेर विजय असतो.
मग ठरवा आता सगळे एकत्र बसून आणि सरकार जे काय ED मागे लावतेय (तुमचे मत)त्याविरुद्ध कोर्टात
Read 5 tweets
1 Jul
मीरपुर शहर में बनिया,महाजन,गुप्ता,ब्राह्मण,खत्री जातियों के हिन्दू व सिक्ख रहते थे
मुस्लिम आबादी कम थी वो भी विभाजन से पहले ही मीरपुर छोड़के पाकिस्तान चले गए थे
जब पाकिस्तान ने कबाइली भेस में अपनी सेना से 20/22 ऑक्टोबर 1947 को मुजफ्फराबाद के साथ रावलाकोट ,मंग, पलंदरी इत्यादि पुंछ
ज़िले के गाँव तहसीलों पर हमला किया तब मीरपुर में पाकिस्तान हमला करने की हिम्मत नहीं कर पा रहा था, कुछ पर्सनल राजनीति कारण से शेख अब्दुल्ला इस पुरी बैलट को पाकिस्तानी कब्जा में जाने देना चाहते थे, जिसके लिए नेहरू से खुला एलान करवा दिया गया कि हमारी सेना झंगड़ से आगे नहीं जाएगी
जिसके बाद 25 नोव्हेंबर 1947 को पाकिस्तान ने मीरपुर पर हमला किया, जिसके बाद मीरपुर के मुसलमान पाकिस्तान से वापस मीरपुर लौट आए
मीरपुर में मुसलमानों ने एक भी सिक्ख जिंदा नहीं छोड़ा था
मीरपुर के सबसे अंतिम सिक्ख सरदार बेअंत सिहं को अलिबेग नामक स्थान पर गोली मारकर हत्या की गई थी
Read 6 tweets
30 Jun
अटलजी PM असताना ते लाहोर ला सद्बभावना यात्रे ची बस घेऊन गेले.मुशर्रफ ने खंजीर खुपसला आणि कारगिल घडले,परिणामी नवाज ला देश सोडावा लागला.
नवाज शरीफ हे पाकिस्तान चे बहुमताने निवडून आलेले PM होते.
मोदीजी अफगाणिस्तान च्या भेटीला गेले होते.
डिसेंबर 15 चा सुमार होता
काबुल हुन निघताना कोणतेही आमंत्रण नसताना
नवाज ला फोन केला गेला
"सुना है के आपके भतीजी की शादी है,हमे शरीक होने का मौका नही देंगे?"
मोदीजी लाहोर ला उतरले,तिथे भेटींचे आदानप्रदान झाले.आपल्याकडे त्या भेटीची बिर्याणी पॉलिटिक्स म्हणून संभावना केली गेली.
पण आज पाकिस्तान ज्या अवस्थेत
आता पोचलाय त्या अवस्थेला ती 1 बिना निमंत्रणाची अचानक दिलेली सदिच्छा भेट होती.
त्याच भेटीनंतर पाकिस्तान मध्ये ज्या ज्या काही घटना घडल्या त्यावरून हे सहजपणे अधोरेखित होते की
इम्रानखान हा त्याच भेटीचा दृश्य परिणाम आहे
अदृश्य परिणाम नंतर सांगेन
पण ह्या विषयाला योग्य न्याय देणारा
Read 5 tweets
30 Jun
टोटी चोर
1 चतुर नार बडी होशियार
अपने ही जाल मे फसत जात
कही का नही रहेगा
Read 7 tweets
28 Jun
सुनील
हे LW अपुऱ्या महितीवरच आपले मत बनवतात आणि ब्राम्हण द्वेषापोटी हुज्जत घालत बसतात
मी त्याला शेवटी बोलायला लावले व शेवटी सांगितले की तू स्वतः शोध कोण झालाय ब्राम्हणेतर सरसंघचालक
द्वेष इतका आहे की देशाच्या प्रेसिडेंट ला ही हुजऱ्या म्हणून बसवला असे बोललाय
त्याला हे ही माहिती
नसेल की रामनाथ कोविंद हे संघ प्रचारक असताना संपूर्ण उत्तरप्रदेशात सायकल ने फिरून संघ वाढवलाय,एक बाजूला मी असेही म्हणेन की UP मधील संघाच्या ताकदीत रामनाथ कोविंद ह्यांचा सिंहाचा वाटा आहे.
तेच कोविंद राष्ट्रपती झालेत आणि काही दिवसांपूर्वी जेंव्हा ते आपल्या जन्मभूमी ला आले.
विमानातून
उतरल्यावर त्यांनी अचानकपणे तिथल्या मातीला नमस्कार करून तिथली माती स्वतःच्या भाळी लावली आणि तोच क्षण कॅमेराने टिपला
कोविंद असे काही अचानकपणे करतील ह्याची कल्पना तिथल्या कोणालाच नव्हती
त्या फोटोवरचे ही त्याचे भाष्य बघा
शेवटी त्याला बोललो की तूच त्या सरसंघचालकाचे नाव शोधून कधी की जो
Read 5 tweets
27 Jun
*🇮🇳वन्देमातरम् गीत के रचेता बंकिमचंद्र चटर्जी की जयंती है आज*

*महान कवि, अद्भुत उपन्यासकार और राष्ट्रीय गीत 'वंदे मातरम' की रचना करके करोड़ों भारतीयों के मन में राष्ट्र उपासना व मातृभूमि के लिए सेवा भाव जागृत करने वाले महान रचनाकार बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय जी को उनकी जयंती पर
शत्-शत् नमन।*
*स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान "वंदेमातरम"गीत ने जनमानस में राष्ट्रीयता की अलख जगाई थी. आज भी राष्ट्रीय गीत सुनकर,प्रत्येक भारतीय गर्वित अनुभव करता है. इसी राष्ट्रीय गीत के रचेता
बंकिमचंद्र चटर्जी की आज जयंती है.अपने गीत से उन्होने शस्यश्यामला भारत भु की पूजा अर्चना की
बंकिमचंद्र चटर्जी को प्रख्यात उपन्यासकार,कवि, गद्यकार और पत्रकार के रूप में जाना जाता है. वे बांग्ला के अतिरिक्त, दूसरी भाषाओं पर भी समान अधिकार रखते थे. उन्हें लोग बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय के नाम से भी जानते हैं.*

*राष्ट्रीय गीत वन्देमातरम् की रचना बंकिमचंद्र चटर्जी ने अपने
Read 6 tweets
27 Jun
सरकारी नोकरीत यायच्या अगोदर 93 साली मी खाजगी कंपनीत जॉब ला होतो.
तिथे आमचा समवयस्क ग्रुप होता.त्यातील 1 मित्राचे त्याच्या गावी नगर ला लग्न ठरले
तोपर्यंत त्याच्या आडनावा वरून तो आम्हाला हिंदू च वाटे,आणि मित्रांच्यात कसले धर्म नी काय
त्याच्या लग्नाची पत्रिका ती कंपनीत घेऊन आला
आणि रजेवर गेला.आम्हीही कसला ही दुजाभाव न ठेवता लग्नाला गेलो.सगळं उरकल्यावर हे बेणं आलं.
नाही म्हटलं तरी कट्टरता माझ्या रक्तात भिनलेली
मी थोडे अंतर राखले होते
त्याने नंतर नाक खुपसायला सुरुवात केली,कारण आता तो कोण आहे हे समजलं होतं आणि हिंदू काय ऐकून घेतो आणि स्वतःच चेष्टा ही करतो
श्रीकृष्णाच्या पत्नींचा विषय निघाल्यावर म्हणतो 16K बायका? काय वाट्टेल ते?
मी तरीही त्याला नेमका विषय समजावून सांगितला
तू म्हणतोयस किंवा जे म्हटले जाते,तसा विषय हा नाहीये, त्याचा अँगल वेगळा आहे
त्याला पटेल नाही पटेल मला पर्वा नव्हती
मला फक्त विषय काढायला संधी हवी होती
Read 7 tweets
27 Jun
@AnandSharmaINC
*"जब मोदी पैदा भी नही हुए थे तब से काँग्रेस सत्ता में है।"*
आनन्द शर्मा
प्रवक्ता @INCIndia

*कंस भी सत्ता मे था,जब श्रीकृष्ण पैदा नहीं हुए थे, फिर पता है ना क्या हुआ?*
*अब गटर खोले हो तो आगे और सुन लीजिये*
*जब मोदीजी पैदा भी नहीं हुए थे।*
*तब काँग्रेस ने इस देश के 2 टुकड़े कर दिये थे।*
*जब मोदीजी के बड़े भाई भी पैदा नहीं हुए थे।*
*तब काँग्रेस ने 1/3 ने कश्मीर पाक को बेच दिया था।*
*जब मोदी जी बोलना भी नही सीखे थे।*
*तब कांग्रेसीराज मे प्रयागराज के कुंभ मे भगदड़ में 10Kलोग मर गए थे।*
*जब मोदी जी तुतलाते थे।*
*तब काँग्रेस ने चीन को तिब्बत दबोचने दिया था।*
*जब मोदी जी महज 16 साल के थे यानी स्कुल पुरा किया था।*
तब काँग्रेस ने लालबहादुर शास्त्री जी को रास्ते से हटा दिया था।*
*जब मोदीजी उम्र 17 शूरू हुयी थी।*
*तब काँग्रेस सरकार ने गोरक्षा आंदोलन करते 5k से ज्यादा
Read 7 tweets