#UltimateGuruJi🇮🇳 Profile picture
शांति/अहिंसा के द्वारा अपना विनाश आरंभ हुआ, जब से अशोक ने शस्त्र तजे, भारत विघटन प्रारंभ हुआ।
5 Feb
*वेलेंटाइन डे एक अभिषाप👹*

📌#वैलेंटाइन_का_दुष्परिणाम 👉🏻भारत में वैलेंटाइन के 7 दिन के पागलपन के चक्कर में हर साल लगभग 😳60-70 लाख लड़कियों के Nude picks और MMS व्हाट्स एप्प पर वायरल होते हैं...उन picks/MMS को देशी पोर्न साइट्स बेचकर करोड़ो रूपये💸💵💴💶 कमाती हैं...
वीडियो वायरल होने पर ज्यादातर लडकिया आत्महत्या कर लेती हैं,,कभी कभी तो पूरा परिवार ही आत्महत्या कर लेता है...😔

👇🏻👇🏻👇🏻
------ लेकिन कभी किसी nude pick/MMS में को ध्यान से देखना, सब लड़की के सामने और लड़की की मर्जी से क्लिक/रिकॉर्ड किया गया रहता है...
जिसमे से 60% ऐसा मिलेगा जिसमे लड़की ने खुद से ही अपने फोन से फोटो/वीडियो बनाया होता है...🤐

*लड़कियों में इच्छा शक्ति 10 गुना, और तार्किक क्षमता 1/10 गुना होती है...*
Read 9 tweets
5 Feb
🌷 *निष्काम सेवा* 🌷💐

🌅भारत संतों का देश है, यहाँ एक से बढ़कर एक संत हुए हैं एक ऐसे ही संत हुए जो बड़े ही सदाचारी और लोकसेवी थे। उनके जीवन का मुख्य लक्ष्य परोपकार था।
एक बार उनके आश्रम के निकट से देवताओं की टोली जा रही थी। संत आसन जमाये साधना में लीन थे। आखें खोली तो देखा सामने देवता गण खड़े हैं। संत ने उनका अभिवादन कर उन सबको आसन दिया और उनकी खूब सेवा की।
देवता गण उनके इस व्यवहार और उनके परोपकार के कार्य से प्रसन्न होकर उनसे वरदान मांगने को कहा। संत ने आदरपूर्वक कहा – “हे देवगण! मेरी कोई इच्छा नहीं है। आप लोगों की दया से मेरे पास सब कुछ है।”
Read 10 tweets
21 Dec 20
*कॉरपोरेट मिशनरी*
*बहुत ही ज्वलंत और चिंताजनक मुद्दा है यह।*
*क्या आप जानते है भारत में सबसे बड़ा कॉर्पोरेट कौन है?
*टाटा ? नहीं।*
*अम्बानी ? नहीं।*
*अदानी ? नहीं।*
*चौंकिए मत और आगे पढ़िए।*
*3,00,000 लाख करोड़ सम्पति वाला कोई और नहीं यह है , #The_Syro_Malabar_Church_केरल।* Image
*इसका 10000से ज्यादा संस्थानों पर कण्ट्रोल है और इसकी अन्य बहुत सी सहायक ऑर्गेनाइजेशन्स भी हैं।*
*मेरी समझ में यह एक ऐसा छद्म बिज़नेस ऑर्गेनाइजेशन है, जो सम्पत्ति के मामले में भारत में टाटा, अम्बानी आदि का मुकाबला करने में सक्षम है। ये सारे औद्योगिक घराने इसके आसपास भी नहीं हैं।*
*यकीन नहीं हो रहा है ना ,,,,?*
*तो ठीक है,ये आंकडे देखिए।*
*इनके अधीन*
*9000 प्रीस्ट*
*37000 नन*
*50 लाख चर्च मेम्बर*
*34 Dioceses*
*3763 चर्च*
*71 पादरी शिक्षा संस्थान*
*4860 शिक्षा संस्थान*
*2614 हॉस्पिटल्स और क्लिनिक*
*77 ईसाई शिक्षा संस्थान*
Read 12 tweets
20 Dec 20
प्रश्न---" प्रसिद्ध आरती, 'ओम जय जगदीश हरे' के रचयिता कौन हैं ? "

किसी ने कहा, ये आरती तो पौराणिक काल से गाई जाती है।

किसी ने इस आरती को वेदों का एक भाग बताया।

और एक ने तो ये भी कहा कि, सम्भवत: इसके रचयिता अभिनेता-निर्माता-निर्देशक मनोज कुमार हैं!
" ओम जय जगदीश हरे " आरती आज हर हिन्दू घर में गाई जाती है। इस आरती की तर्ज पर अन्य देवी देवताओं की आरतियाँ बन चुकी हैं और गाई जाती हैं।

परंतु इस मूल आरती के रचयिता के बारे में काफी कम लोगों को पता है।

इस आरती के रचयिता थे "पं. श्रद्धाराम शर्मा या श्रद्धाराम फिल्लौरी"।
पं. श्रद्धाराम शर्मा का जन्म पंजाब के जिले जालंधर में स्थित फिल्लौर नगर में हुआ था।

वे सनातन धर्म प्रचारक, ज्योतिषी, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, संगीतज्ञ तथा हिन्दी और पंजाबी के प्रसिद्ध साहित्यकार थे।

उनका विवाह सिख महिला महताब कौर के साथ हुआ था।
Read 17 tweets
16 Dec 20
आओ समझें किसान बिल का APMC Act सरल भाषा में: वर्तमान APMC system
आजादी के बाद भारत में गांवों की संपूर्ण वितरण प्रणाली (whole distribution system) को साहूकार या व्यापारी नियंत्रित करते थे. जिससे किसानों को बहुत कम लाभ होता था.
इससे छुटकारा पाने के लिए और कृषकों को लाभ पहुँचाने के लिए राज्य सरकारों ने कृषि बाजार स्थापित किये, जिसके लिए APMC अधिनियमों को लागू किया. Agricultural Produce Market Committee (APMC) एक marketing board है, जो आमतौर पर भारत में एक राज्य सरकार द्वारा स्थापित किया जाता है
ताकि किसानों को बड़े खुदरा विक्रेताओं(retailers) के शोषण से बचाया जा सके. जिससे किसान कर्ज के जाल में न फंसे. साथ ही यह भी सुनिश्चित करता है कि खेत से लेकर retail price तक मूल्य उच्च स्तर तक न पहुँचे. 1970 में यह एपीएमसी एक्ट बनाया गया था.
Read 13 tweets
16 Dec 20
ॐ नमः शिवाय ❤️

देवा दिक्पतयः प्रयात परतः खं मुञ्चताम्भोमुचः
पाताळं व्रज मेदिनि प्रविशत क्षोणीतलं भूधराः।
ब्रह्मन्नुन्नय दूरमात्मभुवनं नाथस्य नो नॄत्यतः
शंभोः सङ्कटमेतदित्यवतु वः प्रोत्सारणा नन्दिनः।।
दोर्दण्डद्वयलीलयाऽचलगिरिभ्राम्यत्तदुच्चैरव-
ध्वानोद्भीतजगद्भ्रमत्पदभरालोलत्फणाग्र्योरगम।
भृङ्गापिङ्गजटाटवीपरिसरोद्गङ्गोर्मिमालाचल-
च्चन्द्रं चारु महेश्वरस्य भवतां निःश्रेयसे मङ्गळम।।
सन्ध्याताण्डवडम्बर व्यसनिनो भर्गस्य चण्डभ्रमि-
व्यानृत्यद्भुजदण्डमण्डल भुवो झंझानिलाः पान्तु वः।
येषामुच्छलतां जवेन झगिति व्यूहेषु भूमीभृता-
मुड्डीनेषु बिडौजसा पुनरसौ दम्भोलिरालोकितः।।
Read 5 tweets
27 Oct 20
नमः शिवाभ्यां नवयौवनाभ्यां
परस्पराश्लिष्ट वपुर्धराभ्याम ।
नगेन्द्रकन्यावृषकेतनाभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥

नमः शिवाभ्यां सरसोत्सवाभ्यां
नमस्कृताभीष्टवरप्रदाभ्याम ।
नारायणेनार्चितपादुकाभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्याम ॥
नमह शिवाभ्यां वृषवाहनाभ्यां
विरिञ्चिविष्ण्विन्द्रसुपूजिताभ्याम ।
विभूतिपाटिरविलेपनाभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥

नमः शिवाभ्यां जगदीश्वराभ्यां
जगत्पतिभ्यां जयविग्रहाभ्याम ।
जम्भारिमुख्यैरभिवन्दिताभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥
नमः शिवाभ्यां परमौषधाभ्याम
पञ्चाशरी पञ्जररञ्चिताभ्याम ।
प्रपञ्च सृष्टिस्थिति संहृताभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥

नमः शिवाभ्यामतिसुन्दराभ्याम
अत्यन्तमासक्तहृदम्बुजाभ्याम ।
अशेषलोकैकहितङ्कराभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥
Read 7 tweets
25 Oct 20
ॐ नमः शिवाय

नमः शिवाभ्यां नवयौवनाभ्यां
परस्पराश्लिष्ट वपुर्धराभ्याम ।
नगेन्द्रकन्यावृषकेतनाभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥

नमः शिवाभ्यां सरसोत्सवाभ्यां
नमस्कृताभीष्टवरप्रदाभ्याम ।
नारायणेनार्चितपादुकाभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्याम ॥ Image
नमह शिवाभ्यां वृषवाहनाभ्यां
विरिञ्चिविष्ण्विन्द्रसुपूजिताभ्याम ।
विभूतिपाटिरविलेपनाभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥

नमः शिवाभ्यां जगदीश्वराभ्यां
जगत्पतिभ्यां जयविग्रहाभ्याम ।
जम्भारिमुख्यैरभिवन्दिताभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥
नमः शिवाभ्यां परमौषधाभ्याम
पञ्चाशरी पञ्जररञ्चिताभ्याम ।
प्रपञ्च सृष्टिस्थिति संहृताभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥

नमः शिवाभ्यामतिसुन्दराभ्याम
अत्यन्तमासक्तहृदम्बुजाभ्याम ।
अशेषलोकैकहितङ्कराभ्यां
नमो नमः शङ्करपार्वतीभ्यां ॥
Read 7 tweets
24 Sep 20
पाकिस्तान के जाने माने इस्लामिक विद्वान Javed Ahmad Ghamidi से जब पूछा गया की इस्लामिक दहशतगर्दी/आतंकवाद की क्या वजह है और इससे कैसे निजात पाया जा सकता है?
जबाब में Javed Ahmad Ghamidi ने बताया की यह जो दहशतगर्दी/आतंकवाद इस वक्त मुसलमानों की तरफ से हो रही है, इसका सबब वो मजहबी फ़िक्र और Religious Thought है, जो मदरसों में पढाया जा रहा है, जो उन्हें मस्जिदों की सियासी तहरीकों में सिखाया जा रहा है।
याद रखिये --इसमें 4 चीजें (Doctrine) हैं जो हर मदरसा सिखाता है।
पहली --- दुनिया में अगर कहीं शिर्क (Polytheism) होगा या किसी जगह कुफ्र (Kufar) होगा या फिर किसी जगह इरत्ताद (Apostasy) होगा तो इसकी सजा मौत है और इस सजा को देने का हक़ हर मुसलमान को है।
Read 8 tweets
24 Sep 20
आप बॉलीवुड मूवीज देखो या IPL......
अंत मे कमाएगा तो इस्लामिक आतंकवादी दाऊद ही।
जरिया ड्रग्स तो है ही एक्सटॉरसन मानी व सट्टेबाजी भी दोनों में ही।
आपने देखा होगा IPL के दौरान पूरे डेढ़ माह तक कोई भी बड़ी फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज नही होती.
क्यों ?? सोचा है कभी ?? Image
IPL के दौरान बड़ी फिल्मों के सिनेमाघरों में रिलीज न करने पर बॉलीबुड अपनी सफाई में इसकी वजह IPL की लोकप्रियता बताता है। अर्थात बॉलीबुड के मुताबिक दर्शक IPL देखने में व्यस्त रहते हैं। अतः उनकी फिल्मों को कौन देखेगा? वे फ्लॉप हो जाएंगी?
किन्तु क्या ये सत्य है ??
ऐसा नही है कि IPL के दौरान कभी बड़ी फिल्मे रिलीज नही हुई अथवा वे फ्लॉप रही। हाउसफुल, हाउसफुल 2, तनु वेड्स मनु, तनु वेड्स मनु रिटर्न्स, विकी डोनर जैसी दर्जनों बड़ी फिल्मे है, जो IPL के दौरान रिलीज भी हुई और सुपरहिट भी साबित हुई।
अतः ये तर्क खारिज हो जाता है..
Read 10 tweets
23 Sep 20
अभी अभी एक खबर पढ़ रहा था कि मुम्बई हाईकोर्ट ने शिवसेना को भी @KanganaTeam के आफिस में तोड़फोड़ के लिए बीएमसी के साथ पार्टी बना दिया है।
जितना मेरा ध्यान इस खबर पर गया उससे ज्यादा गया उस बेंच के एक जज के नाम पर। नाम है रियाज इकबाल छागला।
कुछ ठनका दिमाग में???
कुछ दिनों पहले हमारी शिक्षा नीति पर जब चर्चा हो रही थी तो एक बात सामने आई थी कि भारत के पहले पांच शिक्षा मंत्री मुसलमान थे। और इसमें 1963 से लेकर 1966 तक जो शिक्षा मंत्री थे उनका नाम था - - - - - - - -
मोहम्मद करीम छागला ।
ये मोहम्मद करीम छागला साहब 1947 से लेकर 1958 तक मुम्बई हाईकोर्ट के चीफ़ जस्टिस रहे। इनके बेटे इकबाल छागला मुम्बई हाईकोर्ट में सीनियर एडवोकेट हैं और इन्हीं इकबाल छागला के बेटे या मोहम्मद करीम छागला के पोते हैं - -
रियाज इकबाल छागला।
Read 4 tweets
22 Sep 20
बहुत पुरानी बात नहीं है और यह कोई किस्सा कहानी भी नहीं है। १९९६ में लोकसभा की वह बहस है, जिसके टीवी साक्ष्य यू ट्यूब पर आसानी से उपलब्ध हैं। Image
वाजपेयी जी की १३ दिन की सरकार के बाद कांग्रेस के बाहरी समर्थन से संयुक्त मोर्चा की सरकार बनती है और देवेगौड़ा उसके प्रधानमंत्री बना दिए जाते हैं।
संसद में यह सरकार विश्वासमत लेकर आती है, जिस पर बहस होती है।
सदन खचाखच भरा हुआ है, भाजपा उस दौर की राजनीति में नम्बर वन अछूत पार्टी थी, अछूत इसलिए कि वह हिंदुत्व, राष्ट्रवाद, राममंदिर की बात करती थी।
जो नेहरूवियन युग के साये में पली बढ़ी हमारी राजनीति में किसी पाप से कम नहीं था।
Read 22 tweets
22 Sep 20
मोदी कौन है
आयुर्वेद में शहद को अमृत के समान माना गया हैं और मेडिकल साइंस भी शहद को सर्वोत्तम पौष्टिक और एंटीबायोटिक भंडार मानती हैं लेकिन आश्चर्य इस बात का हैं कि शहद की एक बूंद भी अगर कुत्ता चाट ले तो वह मर जाता हैं यानी जो मनुष्यों के लिये अमृत हैं वह शहद कुत्ते के लिये जहर है Image
दूसरा देशीघी शुद्ध देशी गाय के घी को आयुर्वेद अमृत मानता हैं और मेडिकल साइंस भी इसे औषधीय गुणों का भंडार कहता हैं पर आश्चर्य ये हैं कि मक्खी घी नहीं खा सकती अगर गलती से देशी घी पर मक्खी बैठ भी जाये तो अगले पल वह मर जाती है। इस अमृत समान घी को चखना भी मक्खी के भाग्य में नहीं होता!
मिश्री, इसे भी अमृत के समान मीठा माना गया हैं आयुर्वेद में हाथ से बनी मिश्री को श्रेष्ठ मिष्ठान्न बताया गया हैं और मेडिकल साइंस हाथ से बनी मिश्री को सर्वोत्तम एंटबायोटिक मानता है
Read 11 tweets
19 Sep 20
*☝🏻🚩एक बड़ी भयंकर चिंता ।।
यही हाल वृन्दावन का भी है ।।*

*वृन्दावन में 1965 तक कोई मुस्लिम नही था। आज मुसलमानो की संख्या तकरीबन 5 हजार से ज्यादा हो गई हैं।* ।।

*कभी एक भी मस्जिद नही हुआ करती थी वृन्दावन में, आज तीन तीन मस्जिदे रोज सुबह शाम कानो की नींद हराम कर रही हैं* ।।
*रिफ्यूजी जिहादियों ने ने पवित्र वृन्दावन को भी घेरा और ईद उल जुहा पर* ।।
*650 बकरे भैसे ऊँट गाय और अन्य जानवर काटकर वृन्दावन की नगरी को अपवित्र किया*।।
*याद रहे 2009 तक वृन्दावन मैं सिर्फ गिनती के 4-5 परिवार हुआ करते थे ।। और आज इनकी संख्या हजारों मैं पहुच गई हैं* ।।
*ये एक तरीके का रिफ्यूजी जिहाद होता हैं*।। *जहां इस्लाम नही होता*
*जिसके अंतर्गत जिस जगह इस्लाम नही होता ।। उस जगह पर इस्लाम बसाया जाता हैं ।।
Read 6 tweets
18 Sep 20
रोहिंग्या मुसलमान तब और अब !

बात अतीत से शुरू करते है, 11अगस्त 2012 की बात है, यही रोहिंग्या मुसलमान और हमारे देश के कुछ कट्टरपंथ मुस्लिम मुम्बई के आजाद मैदान मे बने अमर जवान ज्योति को लात मारकर तोड़ देते हैं ,,
उनका मकसद था कि अवैध रूप से भारत मे आये बांग्लादेशियों और म्यांमार के रोहिंग्या मुस्लिमों को भारत मे बसाया जाय!
पर खैर तब हमारे महान सेक्युलर राष्ट्र ने उस घटना को भी नजर अंदाज कर दिया!
2014 आते ही सत्ता बदली, सरकार बदली, देश की आर्थिक, राजनितिक, और सामाजिक नीतियाँ बदलने लगी,
उन्ही नीतियों मे से एक नीती थी की रोहिंग्या घुसपैठियों को वापस भेजना !
Read 17 tweets
16 Sep 20
ॐ नमः शिवाय
#श्री_कुंडेश्वरमहादेव मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले के निकट विराजे स्वयंभू महादेव। महादेव का प्रतिक यहाँ कब से विराजमान हैं, इसके बारे में किसी के पास कोई पुख्ता जानकारी नहीं। ImageImageImageImage
पहली बार कुंडेश्वरमहादेव ने संवत 1200 के आस पास यहाँ पहाड़ी पर स्थित ओखली में धान कूट रही एक माई को दर्शन दिए थे।

बताते हैं ओखली में धान कूटते समय अचानक ओखली में रक्त की धार फूट पड़ी और जब तत्कालीन राजा को इस विषय में जानकारी दी गई तो यहाँ एक दिव्य शिवलिंग निकलता दिखाई दिया।
इस दिव्य स्वयंभू शिवलिंग की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह हर वर्ष चावल के आकार में बड़ता है ...

शिवलिंग की गहराई का पता लगाने के लिए 1937 में यहाँ के राजा ने इस स्थान की खुदाई भी करवाई थी पर वह भी शिवलिंग की असल गहराई का पता नहीं लगा पाए।
Read 4 tweets
16 Sep 20
मोहतरमा जया बच्चन जी जब @ravikishann जी ने कहा कि बॉलिवुड में ड्रग्स का इस्तेमाल फ़ैशन बनता जा रहा है और इसकी जांच के साथ इसपे रोक लगनी चाहिये तो आपको बहुत मिर्ची लगी।

आजतक आप किसी ऐसे मुद्दे पर नहीं बोली जहां देशहित का मुद्दा हो लेकिन हर उल्टेसीधे मुद्दे पर आपको जरूर बोलना है। Image
पिछले साल भी दिसंबर 2019 में पॉर्नसाइट पर बैन की बात पर आपको ऐसे ही मिर्ची लगी थी, भला क्यों?
16 साल से सांसद हो आप लेकिन आज तक एक उपलब्धि आपकी सांसद के रूप में नहीं सुनाई दी?

क्या सामाजिक जिम्मेदारी आपने उठाई आजतक जबकि समाजवादी नाम रखने वाली पार्टी से जीतती आई हो? Image
तो किस बात की सेलेब्रिटी और सांसद हैं आप? घुइय्यां की?

माना कि सारे बॉलीवुड वाले ड्रग्स नहीं लेते लेकिन अधिकांश तो लेते हैं न?
अपने स्वयं के परिवार में ही देख लीजिए।
अगर इस सब जांच से 1 भी ज़िंदगी बच गई तो सही नहीं है क्या?
Read 7 tweets
13 Sep 20
जन सामान्य में हमारे प्राचीन ऋषियों-मुनियों के बारे में ऐसी धारणा जड़ जमाकर बैठी हुई है कि वे जंगलों में रहते थे, जटाजूटधारी थे, भगवा वस्त्र पहनते थे, झोपड़ियों में रहते हुए दिन-रात ब्रह्म-चिन्तन में निमग्न रहते थे, सांसारिकता से उन्हें कुछ भी लेना-देना नहीं रहता था।
इसी पंगु अवधारणा का एक बहुत बड़ा अनर्थकारी पहलू यह है कि हम अपने महान पूर्वजों के जीवन के उस पक्ष को एकदम भुला बैठे, जो उनके महान् वैज्ञानिक होने को न केवल उजागर करता है वरन् सप्रमाण पुष्ट भी करता है।
महर्षि भरद्वाज उन प्राचीन विज्ञानवेत्ताओं में से ही एक ऐसे महान वैज्ञानिक थे जिनका जीवन तो अति साधारण था लेकिन उनके पास लोकोपकारक विज्ञान की महान दृष्टि थी।

महर्षि भारद्वाज और कोई नही बल्कि वही ऋषि है जिन्हें त्रेता युग में भगवान श्री राम से मिलने का सोभाग्य दो बार प्राप्त हुआ।
Read 26 tweets
13 Sep 20
जो ये खबर आ रही है कि, भारतीय सेना ने कैलाश पर्वत श्रृंखला के एक बड़े हिस्से पर अधिकार कर लिया है, ऐसा क्या बिना युद्धक मानसिकता और कारवाई के बिना संभव था ??
क्या ये घटना मेरी उस बात को पुष्ट नहीं कर रही है जो मैं कहता रहा हूं कि, भारतवर्ष युद्ध के माध्यम से अक्साई चिन, कैलाश मानसरोवर, शक्सगाम वैली ,तिब्बत जैसे क्षेत्र जीत सकता है , क्या इसी कारण से मैं हरदम चीन से युद्ध के पक्ष में नहीं रहा??
मुझे इसका पूर्वानुमान था तभी मैं सदैव युद्ध के पक्ष में रहता हूं। अभी तो युद्ध के माध्यम से ही चीन और पाकिस्तान का विभाजन तथा उनकी शक्ति का नाश होना भी शेष है और वो भी होकर रहेगा।
Read 4 tweets
13 Sep 20
@SudarshanNewsTV का जकात फाउंडेशन और UPSC जिहाद कार्यक्रम देखना प्रारम्भ किया है आँखे खुली रह गई कि हम हिन्दुओं को कौन और क्यों अँधेरे कृत्रिम संघर्ष व नशे मे रख रहा था। @narendramodi जी से मै भी बहुत सी अपेक्षाएं रखता हूं सोंचता हूँ वह इन समस्याओं पर काम क्यों नहीं करते हैं।
किंतु पुनः सोंचता हूँ निश्चित ही कोई ईश्वरीय शक्ति है जिसने हिन्दुओं को बचाने के लिए मोदीजी को 2014 मे देश की सत्ता सौंपी। जिहाद गजवा ए हिन्द का मकड़ जाल कहाँ तक फैल गया था।
मीडिया न्याय पालिका शिक्षा जगत राजनीति खेल हिन्दू धर्मालय अर्थ जगत कौन सा क्षेत्र ऐसा था जहाँ ये जिहादी अपनी पकड़ नहीं बना चुके थे। ह्रदय कांप उठता है। अब यह हम जाग्रत हिन्दुओं का दायित्व है कि सत्ता पर निरंतर दबाब बनाये रखें।
Read 4 tweets
10 Sep 20
शिकागो में स्वामी विवेकानंद जी के संबोधन की 128वीं वर्षगांठ की सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं।
मित्रों 11 सितम्बर 1893 के दिन शिकागो पार्लियामेंट में स्वामी विवेकानंद जी के भाषण के कुछ अंश आपके समक्ष रख रहा हूं। यदि कहीं कोई त्रुटि या गलती हो जाए तो अज्ञानी समझ क्षमा करना। Image
मित्रों आज ही के दिन 11सितम्बर 1893 में स्वामी विवेकानंद जी शिकागो पार्लियामेंट में सभी गणमान्य लोगों को सम्बोधित करतें हुए कहतें है:-

सभी बहनों और भाईयों आपके इस स्नेह्पूर्ण और जोरदार स्वागत से मेरा हृदय आपार हर्ष से भर गया है।
मैं आपको दुनिया के सबसे पौराणिक भिक्षुओं की तरफ से धन्यवाद् देता हूँ।
मैं आपको सभी धर्मों की जननी कि तरफ से धन्यवाद् देता हूँ, और मैं आपको सभी जाति-संप्रदाय के लाखों-करोड़ों हिन्दुओं की तरफ से धन्यवाद् देता हूँ।
Read 12 tweets