Dilip Mandal Profile picture
Founder, Center For Brahmin Studies। Editors Guild। EPW, ThePrint, BBC, Quint। Ex - Editor, India Today, STAR, MCNUJC- Adjunct, CNBC। Harvard India Conference
প্রদীপ্ত মৈত্র (Pradipto Moitra) Profile picture Peace Profile picture Tholkapiyan Profile picture Bahram Maravandi Profile picture Singh M.K. Profile picture 8 added to My Authors
Nov 26 31 tweets 7 min read
Thread. Indian democracy’s big contradiction – Dalits cherish Constitution, the privileged want a rethink. Why does the Dalit community celebrate the #ConstitutionDay the most, when it has received the least in terms of dignity, resources and development?🧵 👇 In 2015, the Narendra Modi government decided to celebrate this day as the ‘Constitution Day’ for the first time. But India’s Scheduled Caste and Scheduled Tribe communities have been celebrating the day every year much before the official announcement. Do you know why?
Nov 25 33 tweets 6 min read
Thread. Rich Indians turn secessionist, giving up citizenship. ‘Nationalism’ poor man’s burden. Robert B. Reich called this “Secession of the Successful.” Pl read entire thread. 🧵 👇 There are some obvious explanations for the rich and endowed Indians, who benefit the most from Indian democracy, leaving their own country. >>
Nov 23 29 tweets 7 min read
Thread. Why Bengal and North India failed to produce any Phule, Narayana Guru, Ambedkar, Periyar? Almost all prominent social reformers and anti-caste leaders emerged in two geographical and administrative locations—Bombay and Madras presidencies—during British rule. Why? ….C. Natesa Mudaliar, P. Teagaraya Chetty, T.M. Nair, Shahuji Maharaj of Kolhapur, Gadge Baba, Pandita Ramabai, Keshavrao Jedhe, Savitribai Phule, Krishnarao Bhalekar, Prabodhankar… long list of anti caste reformers. But no one from Bengal or north of river Narmada.
Nov 22 11 tweets 2 min read
Thread. सवर्ण EWS आरक्षण के बारे में 5 अश्लील चुटकुले। बताइए सबसे अश्लील कौन सा है। आप कमेंट में नए jokes लिख सकते हैं। Thread… 1. ‘अब तक ये झूठ कहा जाता था कि ‘आरक्षणवाले डाक्टर’ पेट में कैंची-तौलिया ही छोड़ते थे, अब EWS वाले ‘दीया, घंटा, धूपबत्ती, अगरबत्ती’ छोड़ेंगे.’
Nov 22 23 tweets 5 min read
Thread. @DalitChef writes: In “Tarak Mehta Ka Ulta Chashma,” Gukul Dham Society is a perfect reflection of Brahmin India.

-Gada
-Mehta
-Sodhi
-Bhide
-Hathi
-Pande
-Iyer

All are Savarna Characters. No SC, ST, OBC. Muslim lives outside. Read a thread on urban apartment ghettos… Image Indian urban localities are as segregated as our villages. About 80 per cent of Rajkot’s localities have no Dalit (Scheduled caste) inhabitants. Source- Study based on 2011 Census Data, by Naveen Bharathi, Deepak Malghan and Andaleeb Rahman. Image
Nov 17 38 tweets 19 min read
A Thread! Why are Indian villages so excessively romanticised and idealised in Hindu public imagination. What the reality is? Let’s learn from Dr BR Ambedkar. Read the entire thread… “The Hindu village is a working plant of the Hindu social order. One can see there the Hindu social order in operation in full swing. The average Hindu is always in ecstasy whenever he speaks of the Indian village…”
Nov 15 8 tweets 7 min read
Thread. इतिहास के सबसे भयानक तंदूर हत्याकांड में सुशील शर्मा को हाई कोर्ट ने फाँसी की सजा सुनाई। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उसे हत्या और लाश जलाने का अपराधी मानते हुए भी उम्र क़ैद की सजा सुनाई । इसके लिए सुप्रीम कोर्ट ने कई कारण बताए:

1. सुशील शर्मा लाश देखकर रोया था। वह दुखी था… ImageImageImageImage … सुप्रीम कोर्ट ने इस बात को काफ़ी महत्वपूर्ण माना कि जब नैना साहनी की अधजली लाश को पोस्टमार्टम के लिए लाया गया तो शर्मा रोया। कोर्ट ने माना कि उसे किए पर पछतावा हुआ होगा।

2.सुशील शर्मा मां-बाप का अकेला बेटा है। बेचारे बीमार और बूढ़े हैं… ImageImageImageImage
Nov 15 4 tweets 1 min read
इतिहास के सबसे भयानक “तंदूर हत्याकांड” में सुशील शर्मा रंगे हाथों अपनी पत्नी की लाश के टुकड़ों को आग में भूनता पकड़ा गया था। फाँसी की सजा सुनाई गई। फिर सुप्रीम कोर्ट ने सजा को बदलकर उम्र क़ैद कर दिया। फिर 2018 में उसे रिहा भी कर दिया गया। जाने क्यों? theprint.in/opinion/off-co… पता नहीं कोर्ट को क्या समझ में आया। indiatoday.in/amp/india/stor…
Nov 6 21 tweets 4 min read
Thread: Earlier process of allotting Twitter #blueTick/verification was unequal, hierarchical, arbitrary & anti-democracy. This is not a private company’s affair alone. It affects our public discourse, opinion making process and the kind of governments we form. Read entire thread The blue tick verification is/was a badge of honour Twitter gives to only some of the accounts, out of its several million users. Those lucky few and honoured accounts are known as verified accounts. (Let’s hope that @elonmusk will purge it)
Nov 5 31 tweets 6 min read
Thread: भारतीय सॉफ़्टवेयर प्रोफेशनल ट्विटर क्यों नहीं बना सकते? गूगल, टिक टॉक, अमेजॉन, मेटा, विंडोज़, ऑपरा, बिटक्वाइन कुछ भी नहीं। निजी क्षेत्रों तो कोई आरक्षण भी नहीं है। यानी कोई बहाना भी नहीं चलेगा। अमेरिका जाकर भी वे आविष्कारक क्यों नहीं बन पाए? भारत को लोग आईटी सुपरपावर कहते हैं. इस नाते क्या हमें इस बात को लेकर चिंतित होना चाहिए कि भारत के सबसे ज्यादा डाउनलोड होने वाले 10 में से एक भी मोबाइल ऐप भारतीय नहीं है?
Nov 5 26 tweets 6 min read
Thread: Indians can’t make anything like @Twitter or for that matter @amazon @Google or @Meta . India and Indian companies have no presence in the top technology innovations of the world. Read this thread. That India is an IT superpower is a misnomer. India is ranked a lowly 46 among 64 countries in global IT business in terms of competitiveness. We are producing a large number of poorly paid IT professionals who are fluent in English, but this will not make India an IT powerhouse.
Nov 3 5 tweets 2 min read
सुब्रह्मण्यम स्वामी ने 83 साल उम्र में दिल्ली में सरकारी मकान के लिए जिस तरह प्रधानमंत्री व गृहमंत्री पर गंदे आरोप लगाए, मुक़दमेबाजी की, अपनी जान को खतरा बताया, उससे ये तो साबित हो गया कि ब्राह्मणों को पता है पुनर्जन्म या परलोक कुछ नहीं होता। सब सुख यहीं है। यहीं भोग करना है। पुजारी आपसे कहते हैं कि भगवान से माँगो लेकिन खुद आपसे माँगते हैं।

वे जानते हैं कि भगवान वग़ैरह कुछ नहीं है। सब कुछ यहीं है।

उम्र के आख़िरी पड़ाव पर स्वामी के मकान बचाओ आंदोलन और उनके लालच ने हिंदू धर्म के पुनर्जन्मवाद को हमेशा के लिए झूठा साबित कर दिया। ~ आचार्य दिलीप मंडल
Nov 3 5 tweets 1 min read
“I am not your data, nor am I your vote bank,
I am not your project, or any exotic museum object,
I am not the soul waiting to be harvested,
Nor am I the lab where your theories are tested,” - Remembering late Abhay Xaxa, “I am not your cannon fodder, or the invisible worker,
or your entertainment at India habitat center,
I am not your field, your crowd, your history,
your help, your guilt, medallions of your victory,”
Oct 31 18 tweets 6 min read
A Thread: छठ पर्व पुत्र प्राप्ति और बेटे की लंबी उम्र के लिए किया जाता है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार यदि किसी के बेटा नहीं है तो उन्हें मोक्ष नहीं मिलेगा। वंश बेटे से ही चलता है और वारिस भी उसे ही माना जाता है। छठ व्रत करने से बेटा होता है और बेटे की उम्र लंबी होती है। शास्त्रों में लिखा है कि ब्रह्मा की पुत्री माता छठी ने राजा प्रियव्रत और रानी मालिनी को दर्शन दिए। माता ने कहा कि, मैं लोगों को पुत्र सुख प्रदान करती हूं। यदि राजन तुम मेरी विधि विधान से पूजा करोगे तो मैं तुम्हें पुत्र रत्न प्राप्ति का वरदान दूंगी। timesnowhindi.com/spirituality/c…
Oct 28 5 tweets 1 min read
हमारे घरों से गमछा, चावल और आलू ले जाने वाली दक्षिणाखोर जमात वाले भी अब ₹50 लाख इनाम देने की बात करने लगे! पुलिस को चाहिए कि इनको उल्टा लटकाकर पूछे कि इसके पास इतने रुपए आए कहाँ से। जान से मारने की धमकी का केस तो इस पर बनेगा ही। इनका एवरेज वजन, आम भारतीय मेहनतकश लोगों के एवरेज वजन से दोगुना क्यों है?
Sep 14 25 tweets 4 min read
A thread on Hindi imposition debate. #HindiDiwas At the time of India’s Independence, Hindi was still a language in the making. The geographical reach of Hindi was not bigger than that of Telugu or Bengali. Hindi was not the mother tongue of people in Awadh, Braj, Mithila, Magadh, Bundelkhand, Ahirwal, Nimad, Marwar or Mewar.
Sep 13 19 tweets 8 min read
Thread! The judges of the Supreme Court have some problems with the quotes of Periyar. I am starting a series on #PeriyarQuotes #PeriyarQuotes
Sep 1 4 tweets 1 min read
द्रविड़ आंदोलन के अग्रणी पेरियार की किताब सच्ची रामायण को पहली बार हिंदी में लाने का श्रेय ललई सिंह यादव को जाता है. 1968 में ही ललई सिंह ने ‘द रामायना: ए ट्रू रीडिंग’ का हिन्दी अनुवाद करा कर ‘सच्ची रामायण’ नाम से प्रकाशित कराया. आज उनकी जयंती है. hindi.theprint.in/opinion/why-di… ललई सिंह यादव ने 1967 में हिंदू धर्म का त्याग करके बौद्ध धर्म अपना लिया था. बौद्ध धर्म अपनाने के बाद उन्होंने अपने नाम से यादव शब्द हटा दिया. यादव शब्द हटाने के पीछे उनकी गहरी जाति विरोधी चेतना काम कर रही थी. वे जाति विहीन समाज के लिए संघर्ष कर रहे थे.
Aug 30 24 tweets 8 min read
1. The story of #NDTV ownership involves media mogul Rupert Murdoch, the infamous Indiabulls, fugitive liquor baron Vijay Mallya, Mukesh Ambani, and now Gautam Adani who bought it from him.  

 A thread. 2. NDTV’s ownership changed hands many times over the years but @ndtv has always sat pretty in corporate Godi (lap). The story goes like this:
Aug 29 22 tweets 7 min read
Thread

एनडीटीवी की बर्बादी और लोन में डूबने की कहानी मीडिया शहंशाह रुपर्ट मर्डोक, बदनाम इंडियाबुल्स और भगोड़े विजय माल्या से जुड़ी है। @ndtv हमेशा कॉरपोरेट गोदी में बैठता रहा। अब अंबानी की गोदी से उतारकर अडानी उसे ख़रीद रहे हैं। पूरी कहानी कुछ यूँ है: ये कहानी 1980 के दशक के अंत और 1990 में शुरू होती है, जब दूरदर्शन ने प्राइवेट कंपनियों से न्यूज़ शो बनवाने शुरू किए। इस पॉलिसी परिवर्तन के दौर में प्रणय रॉय और राधिका रॉय दूरदर्शन के लिए करेंट अफ़ेयर के प्रोग्राम बनाने लगे।
Aug 7 21 tweets 4 min read
A thread. Kalaignar #Karunanidhi succeeded where north Indian leaders of social justice failed. I looked at the different itineraries of the social justice movements and tried to investigate how the @RSSorg won the north but failed in Tamilnadu. #ForeverKalaignar … (continue) The movement led by the troika of Periyar-Annadurai-Karunanidhi in Tamil Nadu has emerged as the most successful model of social justice and economic transformation in India…