Discover and read the best of Twitter Threads about #औरंगजेब

Most recents (14)

1.
अथ श्री #ज्ञानवापी कथा...
कथा है ये विध्वंश की! #खूनी_संघर्ष की! #हिन्दुओ के #कत्लेआम की....
🏵️ ई० सन 1669..
#क्वार(अश्विन) का महीना,
तनिक आलस के साथ, धान की फूटती बालियों से उलझ रहा था, कि अचानक उसने देखा-
#गंगा का पानी लाल होने लगा था, वह चौंक उठा !
कुछ ही वर्ष...
Cont...2.
2.
पहले उसने #गंगा को तब लाल होते देखा था, जब #मुगल सैनिकों ने, #विंध्याचल के #विंध्यवासिनी_मंदिर को तोड़ कर वहां के हिन्दुओं का सामूहिक #नरसंहार किया था!
उसे फिर किसी अनहोनी की आशंका हुई,
वह कांपते हुए गंगा की उल्टी दिशा में दौड़ा।
🏵️ गंगा के पाट पर दौड़ता क्वार अभी...
Cont...3.
3.
#काशी से तीन कोस दूर था,
कि चीखों से उसके कान फटने लगे😢
उसके रोंगटे खड़े हो गए,
और मुँह से निकला- तो क्या #बाबा_विश्वनाथ भी😱
काँपता क्वार दूने वेग से दौड़ा!
काशी पहुँचते ही उसने देखा- विश्वनाथ #ज्योतिर्लिंग पर चढ़ाये जाने वाले जल को पुनः गंगा में मिलाने वाली....
Cont....4.
Read 16 tweets
भारतीय इतिहास का इकलौता युद्ध जो लड़ा है #नागा_साधुओं ने!🙏🚩
जब #अब्दाली #दिल्ली और #मथुरा में मारकाट करता गोकुल तक आ गया और लोगों को बर्बरतापूर्वक काटता जा रहा था। महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहे थे और बच्चे देश के बाहर बेचे जा रहे थे,
तब गोकुल में अहमदशाह अब्दाली का सामना #नागासाधुओं से हो गया।
कुछ 4 हजार चिमटाधारी साधु तत्काल सेना में तब्दील होकर लाखों की हबसी, जाहिल जेHदी सेना से भिड गए।
पहले तो अब्दाली साधुओं को मजाक में ले रहा था किन्तु
कुछ देर में ही अपने सैनिकों के चिथड़े उड़ते देख अब्दाली को एहसास हो गया कि ये साधू तो अपनी धरती की अस्मिता के लिए साक्षात महाकाल बन रण में उतर गए
तोप तलवारों के सम्मुख चिमटा त्रिशूल लेकर पहाड़ बनकर खड़े 2000 नागा साधू इस भीषण संग्राम में वीरगति को प्राप्त हो गए
Read 5 tweets
इस 👇 #tweet के सभी भाग को ध्यानपूर्वक #पढ़ें

#औरंगजेब ने हुक्म दिया कि किसी हिन्दू को राज्य के कार्य में किसी उच्च स्थान पर #नियुक्त न किया जाये तथा हिन्दुओं पर #जजिया कर लगा दिया जाये। उस समय अनेकों कर केवल हिन्दुओं पर #लगाये गये। इस भय से असंख्य हिन्दू मुसलमान #हो गये।

1/17 Image
हिन्दुओं के पूजा #आरती आदि सभी धार्मिक कार्य बंद होने #लगें। मंदिर गिराये गये, मस्जिदें बनवायी गयीं और अनेकों धर्मात्मा #व्यक्ति मरवा दिये गये।
उसी समय #की उक्ति👇 है –

“सवा मन यज्ञोपवीत रोजाना #उतरवा कर औरंगजेब रोटी खाता था।”

2/17 Image
#औरंगज़ेब ने कहा – “सबसे कह दो या तो #इस्लाम धर्म कबूल करें या मौत को #गले लगा लें।”

इस प्रकार की #ज़बर्दस्ती शुरू हो जाने से अन्य धर्म के लोगों #का जीवन कठिन हो गया। हिंदू और ₹सिखों को इस्लाम अपनाने के लिए सभी #उपायों, लोभ लालच, भय दंड से मजबूर #किया गया।

3/17 Image
Read 17 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है
मेरी बात हमेशा #बाबर😠#बहादुरशाह_जफर😠#औरंगजेब😠 जैसे #मुगलों😠😠😠 से लेकर #गाँधी_के_कुकर्म😠 और #नेहरू_के_कुकर्म😠 तक हमेशा #कैसे और #क्यों पहुँचती है???

इसका #कारण अब मैं आप सभी को #बता देता हूँ
#क्योंकि अभी भी #गाँधी😠का भूत कुछ ज्यादा #सवार है
👇
हमारा #धिम्मीपन कैसे❓ #परवान चढ़ता है... और
#क्यों❓ हम एक बाद एक #देश का बड़ा #हिस्सा खो बैठते हैं???😠

#गाँधी😠 जो कि एक क्लासिक धिम्मी था,है और रहेगा😠😠😠
इसमें मुझे कोई #शंका नहीं है,मैं पूर्णतः वाकिफ़ हूँ...
अब जिसको भी अच्छा लगे तो लगता रहे😠रखो अपने लिए...
बार-बार उसका
#राग मत बजाओ हम उन सभी भाई-बहनों के #सामने
जो #गाँधी😠की #सच्चाई बहुत अ#च्छे से जानते हैं😠😠😠
तुम्हारे #गाँधी_के_कुकर्म😠 का #नतीजा इस #वक्त ये है कि #गाँधी😠 हिन्दुओं के "धिम्मिपने" को उन #ऊँचाईयों तक लेकर गया।😠😠😠
☝जितनी तो #मुस्लिमों को भी #अपेक्षा नहीं थी...
Read 23 tweets
#नेहरू_के_कुकर्म
#आर्यसमाज_पेज से लेख✍✍✍
#भारतीय_शिक्षा का विकृतीकरण #नेहरू😠 की ही एक मुख्य देन है।
नेहरु के शिक्षा मंत्री-
#11नवम्बर1888 को पैदा हुए मक्का में,वालिद का नाम था "#मोहम्मद_खैरुद्दीन"और अम्मी मदीना(#अरब) की थीं।नाना #शेख_मोहम्मद_ज़ैरवत्री, मदीना
पूरा पढ़िये👇👇👇
के विद्वान थे,#मौलाना_आज़ाद अफग़ान उलेमाओं के ख़ानदान से ताल्लुक रखता था।
जो #बाबर😠 के समय हेरात से भारत आए थे,ये जब दो साल के थे तो इनके वालिद #कलकत्ता आ गए।
सब कुछ घर में पढ़ा और कभी स्कूल कॉलेज नहीं गए,बहुत ज़हीन मुसलमान थे।
इतने ज़हीन कि इन्हे मृत्युपर्यन्त"भारत रत्न" से भी
नवाज़ा गया।😠
इतने #काबिल😠कि कभी स्कूल कॉलेज का मुंह नहीं देखा और बना दिए गए #भारत के पहले #केंद्रीय_शिक्षामंत्री😠इस शख्स का नाम था "#मौलाना_अबुलकलाम_आज़ाद"😠

इसने इस बात का ध्यान रखा कि #विद्यालय हो या #विश्वविद्यालय कहीं भी #इस्लामिक_अत्याचार😠 को ना पढ़ाया जाए।
इसने भारत के
Read 31 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है
जब हम सभी #सच्चा_इतिहास जानेंगे
तभी तो अपने आप को पहचानेंगें और ये अब वही #वक़्त है
जो हम सभी को #इतिहास से ही सीखना है।
इस बात में पूर्णतया #सत्यता है कि #इतिहास अपने आप को दोहराता है और उस #भूतकाल से हमें #वर्तमान इतिहास को पहचानना है।
पूरा पढ़िए👇👇👇
👆
अगर हम इतिहास से नहीं सीख सकते तो कोई फायदा नहीं
क्योंकि सब वर्तमान में ही ध्यान केंद्रित किये हुए हैं।😠😠
यहाँ ये हो गया!😠 वहां ये हो गया!😠

सभी अपने-अपने #JusticeForThis😠 #JusticeForThis😠के #Trend करेंगे
#DP बदलेंगे लेकिन क्या आज तक कुछ मुद्दों को छोड़कर न्याय मिला?
👇
अब शुरुआत #सिक्खों_के_बलिदान😢🙏 से करता हूँ।

#भाई_मतिदासजी से🙏🙏🙏
#औरंगजेब😠ने पूछाः“#मतिदास कौन है?”
तो #भाई_मतिदासजी ने आगे बढ़कर कहाः“मैं हूँ मतिदास। यदि #गुरुजी आज्ञा दें तो मैं यहाँ बैठे-बैठे दिल्ली और लाहौर का सभी हाल बता सकता हूँ।
तेरे किले की ईंट-से-ईंट बजा सकता हूँ।”
Read 25 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है
#भाई_मतिदासजी🙏 और #भाई_सतिदासजी🙏 तथा #भाई_दयालाजी🙏 ने धर्म के लिए प्राण दे दिए पर #धर्मपरिवर्तन😠 नहीं किया।🙏

#औरंगज़ेब😠 के शासनकाल में उस #अत्याचारी😠की इतनी हठधर्मिता थी कि उसे इस्लाम के अतिरिक्त #किसी_दूसरे_धर्म_की_प्रशंसा तक सहन नहीं थी।
👇👇👇 Image
मुग़ल आक्रांता #औरंगजेब😠 ने #मंदिरों,#गुरुद्वारों को तोड़ने😠 व #मूर्ति_पूजा बंद करवाने के फरमान जारी कर दिए थे।😠😠😠
उसके आदेश के अनुसार कितने ही #मंदिर और #गुरूद्वारे तोड़ दिए गए थे।😠😠

मंदिरों की मूर्तियों को तोड़ कर टुकड़े कर दिए गए😠और मंदिरों में गायें काटीं गयीं।😠😠😠
मुग़ल आक्रांता #औरंगजेब😠 ने #मंदिरों,#गुरुद्वारों को तोड़ने😠 व #मूर्ति_पूजा बंद करवाने के फरमान जारी कर दिए थे।😠😠😠
उसके आदेश के अनुसार कितने ही #मंदिर और #गुरूद्वारे तोड़ दिए गए थे।😠😠

मंदिरों की मूर्तियों को तोड़ कर टुकड़े कर दिए गए😠और मंदिरों में गायें काटीं गयीं।😠😠😠
Read 20 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है

#गुरु_गोबिंदसिंहजी🙏 जी मात्र #9वर्ष की की उम्र में अपने पिता #गुरू_तेगबहादुरजी🙏 का शीश पकड़े हुए।😢🙏🙏

जिन्होंने #कश्मीरी_ब्राह्मणों और हिन्दुओं की #धार्मिक_स्वतंत्रता_की_रक्षा के लिए अपना #जीवन_बलिदान कर दिया।😢🙏🙏🙏
#कोटि_कोटि_नमन 🙏🙏🙏
👇👇👇 Image
👆
#गुरुतेग_बहादुरजी🙏 और #गुरु_गोबिंदसिंहजी🙏 जैसे राजर्षियों एवं सभी #सिक्ख_वीर_योद्धाओं को🙏
#औरंगजेब😠 ने दिल्ली में उनका सिर कलम कर दिया था।😢
#गुरु_तेगबहादुरजी🙏 ”#हिन्द_की_चादर#बलिदान_दिवस (24 नवंबर)🙏
संसार को ऐसे #बलिदानियों से प्रेरणा मिलती है
जिन्होंने जान तो दे दी👇 Image
परंतु #सत्य_का_त्याग नहीं किया।🙏
नवम पातशाह #श्री_गुरु_तेगबहादुरजी भी ऐसे ही बलिदानी थे।
#गुरुजी ने स्वयं के लिए नहीं,बल्कि दूसरों के अधिकारों एवं विश्वासों की रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया। अपनी आस्था के लिए #बलिदान देने वालों के उदाहरणों से तो #इतिहास भरा हुआ है।
Read 14 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है

क्या आप जानते हैं! कि #NDA(#NationalDefenceAcademy)में #BestCadetMedal होता है,जो बेस्ट कैडेट होता है उसको एक #गोल्ड_मैडल दिया जाता है औऱ
उस #मैडल का नाम"#लचित_बोरफुकन"है।🙏
कौन थे ये"#लचित_बोरफुकन"?
पोस्ट को पूरा पढ़ने पर आपकों भी ज्ञात हो जाएगा
👇👇👇 ImageImage
कि क्यों???😠😠😠
#वामपंथी_विचारधारा_के_चाटुकार_इतिहासकारों 😠😠😠 ने और #मुगल_परस्त_इतिहासकारों😠😠😠
ने इन जैसे सभी #महान_शूरवीर_यौद्धाओं🙏 के नाम को हम तक पहुचने ही नहीं दिया।😠😠😠

क्या आपने कभी सोचा है कि *पूरे #उत्तर_भारत पर #अत्याचार करने वाले #मुस्लिम_शासक और #मुग़ल कभी
#बंगाल के आगे #पूर्वोत्तर_भारत पर कब्ज़ा क्यों नहीं कर सके???
कारण यही था वो सभी #परमवीर_महान_पराक्रमी_सभी_हिन्दूयोद्धा🙏
जिन्हें #वामपंथी😠 और #मुग़ल_परस्त_इतिहासकारों😠 ने #इतिहास_के_पन्नो से गायब कर दिया।
उनमें से ही एक नाम है - #असम_के_परमवीर_योद्धा🙏 "#लचित_बोरफूकन।"🙏🙏🙏
Read 14 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है
#महान_वीरांगना_रानी_लक्ष्मीबाईजी
#19नवंबरसन1835- #17जून1858
रानी लक्ष्मीबाईजी को नहीं पकड़ पा रहे थे #अंग्रेज
साई के अब्बू #बहरुद्दीन_खान😠 ने की थी रानी से गद्दारी😠
किसी ने भी रानी की मृत्यु का कारण नहीं बताया☝
#साईं_का_इतिहास-* अवश्य पढ़ें
👇👇👇
#वीरगति😢 को प्राप्त हुई #रानी_लक्ष्मीबाई को मरवाने वाले गद्दारो के बारे मे इतिहास में लोगों की अब तक यही धारणा है कि #झाँसी_की_रानी_लक्ष्मीबाई🙏 #अंग्रेजों से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुई थी और यह बात सत्य भी है परंतु कितने लोगों को पता है क
इस वीरांगना को पकड़ना अंग्रेजों के
लिए दुष्कर ही नहीं बल्कि असंभव था।
सालों से अँग्रेज़ों के नाक में दम करने वाली रानी को पकड़ने के लिए जब अंग्रेजों को कुछ उपाय नहीं सुझा
तब उन्होंने पुराने तरीके आजमाए,यानी कि किसी गद्दार सैनिक की खोज जो रानी की सेना में हो और रानी के बारे में काफी कुछ जानता हो
गद्दारों का इतिहास
Read 44 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है

जब #औरंगजेब😠 ने #मथुरा_का_श्रीनाथ_मंदिर तोड़ा था😠
तो #मेवाड़ के #नरेश_राजसिंहजी🙏 ने #100मस्जिद😠 तुड़वा दिये थे।🙏🙏🙏
उन्होंने अपने पुत्र #भीमसिंह को भी गुजरात भेजा,कहा था कि "सब #मस्जिद😠 तोड़ दो तो भीमसिंह ने #300मस्जिद तोड़ दी थी"।🙏🙏🙏
👇👇👇 Image
#वीर_दुर्गादास_राठौड़जी🙏 ने #औरंगजेब😠 की नाक में दम कर दिया था🙏 और #महाराज_अजीतसिंहजी🙏 को राजा बनाकर ही दम लिया।🙏🙏🙏
कहा जाता है कि #दुर्गादास_राठौड़जी🙏 का भोजन,जल और शयन सब अश्व के पार्श्व पर ही होता था।
वहाँ के लोकगीतों में ये गाया जाता है कि यदि #दुर्गादासजी न होते तो
राजस्थान में सुन्नत हो जाती।
#वीर_दुर्गादास_राठौड़🙏 भी #वीर_छत्रपति_शिवाजी🙏 के जैसे ही #छापामार_युद्ध की कला में विशेषज्ञ थे।

मध्यकाल का दुर्भाग्य😢 बस इतना है कि #हिन्दू_संगठित होकर एक संघ के अंतर्गत नहीं लड़े,अपितु भिन्न-2 स्थानों पर स्थानीय रूप से प्रतिरोध करते रहे।
Read 18 tweets
#इतिहास_ही_हमारी_धरोहर_है
जितना हम इतिहास को जानेंगे तभी तो खुद को पहचानेंगे

#18वी सदी के अंत तक #फ्रांस में #गृहयुद्ध का माहौल बन चुका था दो तरह के गुट #राजा के दरबार में थे।
एक गुट चाहता था कि #शासन_व्यवस्था में परिवर्तन हो और #फ्रांस_की_संस्कृति में बदलाव आए।
पूरा पढ़िये👇👇 Image
यह गुट राजा के बायीं ओर बैठता था इसलिए #वामपंथ (#Leftist) कहलाया
दूसरा गुट था जो चाहता था कि #फ्रांस की #मूल_संस्कृति तटस्थ रहे #कट्टरता रहे, यह गुट हमेशा दाई और बैठता था और #दक्षिणपंथी(#Rightist) कहा जाता था।

फ्रांस में स्थिति बिगड़ गयी #दक्षिणपंथी कमजोर पड़े राजा को बेरहमी से
मारकर #राजशाही खत्म कर दी गयी।
तब से आज तक वहाँ #वामपंथ और #दक्षिणपंथ में सत्ता को लेकर गहरी लड़ाई है।
भारत की स्थिति भी कुछ अलग नहीं थी लेकिन भारत में हमेशा #दक्षिणपंथ विजयी हुआ कारण की वो सदैव आक्रामक रहा।
मध्यकाल में #उत्तरी_भारत पर #इस्लामिक_आधिपत्य था जिसके चलते #मराठा,#जाट
Read 18 tweets
*#शाहजहां को उसके बेटे #औरंगजेब ने 7 वर्ष तक कारागार में रखा था। वह उसको पीने के लिए नपा-तुला पानी एक फूटी हुई मटकी में भेजता था तब शाहजहाँ ने अपने बेटे #औरंगजेब को पत्र लिखा जिसकी अंतिम पंक्तियां थी-*

#pitrupaksha
#पितृ_पक्ष
#पितृपक्ष
#SaturdayThoughts
"ऐ पिसर तू अजब मुसलमानी,
ब पिदरे जिंदा आब तरसानी,
आफरीन बाद हिंदवान सद बार,
मैं देहदं पिदरे मुर्दारावा दायम आब"
अर्थात्
हे पुत्र ! तू भी विचित्र मुसलमान है जो अपने जीवित पिता को पानी के लिए भी तरसा रहा है। शत शत बार प्रशंसनीय हैं वे 'हिन्दू' जो अपने मृत पूर्वजो को भी पानी देते
*#इस्लाम धर्म*
.
#अल्लाह एक,
#कुरान एक,
#नबी एक।
.
फिर भी शिया, सुन्नी, अहमदिया, सूफी, मुजाहिद्दीन जैसे 13 फिरके एक दुसरे के खून के प्यासे। सबकी अलग #मस्जिदें। साथ बैठकर #नमाज नहीं पढ़ सकते। धर्म के नाम पर एक-दूसरे का कत्ल करने को सदैव आमादा।
.
*हिन्दू धर्म*
.
1280 धर्म ग्रन्थ
Read 4 tweets
इस्लामी बर्बरता के पीछे #कपिल_मिश्रा का हाथ!

कपिल मिश्रा ने ही #मोहम्मद_बिन_क़ासिम को 711 ई. में #सिंध हमले के लिए उकसाया था,बाद में #गज़नी, #गौरी, #तैमूर, #औरंगजेब, #अब्दाली, #नादिर_शाह और #पाकिस्तान बनानेवाले जिन्ना को भी उसी ने भड़काया था।

थोड़ा ईमानदार शोध हो तो पता चलेगा. Image
..कि #नालंदा_विश्वविद्यालय को जलानेवाले #बख्तियार_खिलजी और यजीदी महिलाओं के बलात्कार और नरसंहार करनेवाले संत #अबू_अल_बगदादी को भी इस मिश्रा जी ने ही मजबूर किया था। #अलक़ायदा, #तालिबान, #बोकोहरम जैसी न जाने कितनी ही जिहादी तंज़ीमों के पीछे इस मनुवादी का हाथ है,कहना मुश्किल है
👇
देखो तो #मुल्ला_उमर, #ओसामा_बिन_लादेन, #मसू_अज़हर और #वारिस_पठान के चेहरों से कैसा नूर टपकता है लेकिन कपिल मिश्रा तो दूर से ही दैत्याकार भगवा आतंकवादी लगता है।

देर से ही सही,मुसलमानों को यह तो पता चल गया कि पिछले 1300 सालों की इस्लामी बर्बरता के पीछे किस काफिर का हाथ रहा है।
Read 4 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!