Discover and read the best of Twitter Threads about #TrustNaMo

Most recents (7)

I saw few supposed RW handles saying that they felt ashamed that their support for @narendramodi is being wasted. Some of them even said that the man lacks guts and that @myogiadityanath should take over. Though I never misjudge their intentions, I have a few words for them. 1/7
First: your outrage is more chronic than anything. For every reason, every moment you subject PM Modi to your self styled appraisal. You might want to know that you will not last a day in office, while facing the ordeal that Modi faces. Modi is here as a leader of the nation. 2/7
And your expectation of what he will do comes from your wishful thinking: and not from the aftermath of any action that you expected him to take. For a few of you, your choice and hope on Modi comes from your hate for a section of people, and not from love of your own faith. 3/7
Read 9 tweets
निजीकरण | इंफ्रास्ट्रक्चर विकास परियोजनाओं में पीपीपी मॉडल के बारे में अक्सर निजीकरण विरोधी मोदी समर्थक पूछते है कि मोदी कांग्रेस की नीति को क्यों आगे बढ़ा रहे है ?

मोदी जी कुछ क्षेत्रों में कांग्रेस की पॉलिसी को ही सुधार करके साफ नियत से देशहित में लागू कर रहे है। जैसे:
(1/9) Image
आधार कार्ड: ये कांग्रेस की पॉलिसी थी लेकिन इसमें काफी सुधार करके साफ नियत से सभी सरकारी सब्सिडी योजनाओ में लागू किया, आधार बिल को मनी बिल बनाया। परिणाम बिचौलिया मुक्त, लाभ सीधा लाभार्थी को, ज़ीरो भ्रष्टाचार!

जीएसटी: ये भी कांग्रेस की पॉलिसी थी लेकिन मोदी जी ने इसे (2/9)
लागू करने से पहले इसके लिए कई इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किए, जीएसटी कानून में कई सुधार करके साफ नियत से लागू किया... परिणाम आज जीएसटी के रूप में सिर्फ एक टैक्स देना पड़ रहा है, तमाम ऐसे उत्पाद है जिसपर 0 टैक्स या पहले से कम टैक्स देना पड़ रहा है! जबकि पहले 30-35% (3/9)
Read 9 tweets
गंगा सफाई अभियान में बनने वाले एसटीपी व सीवेज नेटवर्क, ऑपरेशनल एयरपोर्ट्स और एयरस्ट्रिप की बढ़ती संख्या, एयरपोर्ट जैसे दिखने वाले सुंदर व वर्ल्ड क्लास सुविधाओं से सुसज्जित रेलवे स्टेशन आदि।
डिसइन्वेस्टमेंट: ये भी कांग्रेस के समय से चला आ रहा है। इसमें हर साल घाटे में चल रही, बंद पड़ी व अन्य कारणो से कुछ सरकारी कंपनियों में विनिवेश करके उसे निजी हाथो मे सौंप दिया जाता है। मोदी सरकार ने इस विनिवेश पॉलिसी में कई सारे सुधार किए इसमें भ्रष्टाचार की गुंजाइश न हो और
परिणाम के रूप में सरकार को विनिवेश से लाखो करोड़ों की आय प्राप्त हुई, बंद पड़ी सरकारी कंपनियों की संपत्ति के रख रखाव के खर्च से मुक्ति मिली, ये सरकारी कंपनियां पुनर्जीवित हो सकी और कुछ कंपनियां निजी हाथों में मुनाफा कमाने योग्य हुई।
Read 5 tweets
मुझे तो पहले से ही लग रहा था कि ये 5 साल संविदा पर भर्ती वाली न्यूज प्रोपोगंडा मात्र है। अब यूपी के डिप्टी सीएम का स्पष्ट बयान भी सामने आ गया है।

अर्थात विपक्ष सोशल मीडिया पर मनघडंत एवं भ्रामक प्रचार करता है, यह बात पुनः सिद्ध हो गई।

सरकारी नौकरियों में संविदा की बात (1/6)
काल्पनिक है। ये बात कोई और नहीं यूपी के डिप्टी सीएम बोल रहे है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि 50 साल रिटायरमेंट की सीमा वाली बात भी काल्पनिक है।

मुद्दा विहीन विपक्ष स्टूडेंट्स की भावनाओ से खिलवाड़ करके वोट बैंक के लिए उन्हें मोदी योगी सरकार के खिलाफ भड़का रहा है। ये बात (2/6)
तब और स्पष्ट हो जाती है जब प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर कांग्रेसियों और मोदी विरोधियों द्वारा मिडिल ईस्ट से बेरोजगारी पर ट्विटर ट्रेंड चलाया जाता है।

अब बात करते है आलोचकों और विरोधियों की:

एक भी आलोचक ने आपको ये नहीं बताया होगा कि योगी सरकार ने 3½ साल में 3 लाख पदों पर (3/6)
Read 6 tweets
मुझे तो पहले से ही लग रहा था कि ये 5 साल संविदा पर भर्ती वाली न्यूज प्रोपोगंडा मात्र है। अब यूपी के डिप्टी सीएम का स्पष्ट बयान भी सामने आ गया है।

सरकारी नौकरियों में संविदा की बात काल्पनिक है। ये बात कोई और नहीं यूपी के डिप्टी सीएम बोल रहे है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा (1/6)
कि 50 साल रिटायरमेंट की सीमावाली बात भी काल्पनिक है।

मुद्दा विहीन विपक्ष स्टूडेंट्स की भावनाओ से खिलवाड़ करके वोट बैंक के लिए उन्हें मोदी योगी सरकार के खिलाफ भड़का रहा है।ये बात तब और स्पष्ट हो जाती है जब प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर कांग्रेसियों और मोदी विरोधियों द्वारा (2/6)
मिडिल ईस्ट से बेरोजगारी पर ट्विटर ट्रेंड चलाया जाता है।

अब बात करते है आलोचकों और विरोधियों की:

एक भी आलोचक ने आपको ये नहीं बताया होगा कि योगी सरकार ने 3½ साल में 3लाख पदों पर भर्ती की है!

एक भी आलोचक ने स्टूडेंट्स को ये नहीं बताया होगा कि रेलवे, एसएससी और बैंकिंग की (3/6)
Read 7 tweets
"देश में कृषि सुधार के लिए दो महत्वपूर्ण विधेयक- “कृषक उपज व्‍यापार और वाणिज्‍य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक, 2020’’ तथा कृषक (सशक्‍तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्‍वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020 लोक सभा से पारित" Image
इन विधेयकों के विषय में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि इनके माध्यम से अब किसानों को कानूनी बंधनों से आजादी मिलेगी,
वहीं उन्होंने पुनः स्पष्ट किया है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को बरकरार रखा जाएगा तथा राज्यों के अधिनियम के अंतर्गत संचालित मंडियां भी राज्य सरकारों के अनुसार चलती रहेगी।
Read 38 tweets
C/P
आज अभिमान वाटतोय.

राफेल पेक्षा महत्वाची बातमी काल आली आहे. ज्यासाठी मी नरेंद्र मोदी व भाजपला मतदान तसेच समर्थन करतो त्या गोष्टींच्या मधील एक मोठ्या गोष्टी बाबतीत बदल आज केंद्राने जाहीर केलाय, शिक्षण व्यवस्थेतील बदल !

आता शिक्षण घ्यायचे चार टप्पे असतील....(1) Image
आता शिक्षण घ्यायचे चार टप्पे असतील. पहिली ते पाचवी हा पहिला, पाचवी ते आठवी हा दुसरा टप्पा, आठवी ते अकरावी हा तिसरा टप्पा आणि बारावी ते पदवी शिक्षण हा चौथा टप्पा.
दहावी बारावी चे दडपण वगैरे आणणाऱ्या बोर्ड परीक्षा आता रद्द होतील. आधी फक्त पदवी शिक्षणाला सेमिस्टर पद्धत होती जी .(2)
आता शालेय शिक्षणाला ही लागू होईल. दहावी बारावी बोर्डासह अगदी एम फिल ची परीक्षा ही आता इतिहासजमा होईल.

अमेरिका, चीन, युरोप, जपान वगैरे देशांच्या प्रगतीचे सर्वात मोठे कारण त्यांची लष्करी शक्ती नाही, तर तिथली सर्व क्षेत्रात उपलब्ध असलेली दर्जेदार शिक्षणव्यवस्था हे आहे..(3)
Read 6 tweets

Related hashtags

Did Thread Reader help you today?

Support us! We are indie developers!


This site is made by just two indie developers on a laptop doing marketing, support and development! Read more about the story.

Become a Premium Member ($3.00/month or $30.00/year) and get exclusive features!

Become Premium

Too expensive? Make a small donation by buying us coffee ($5) or help with server cost ($10)

Donate via Paypal Become our Patreon

Thank you for your support!